सोमवार, अप्रैल 6, 2020

सीबीआई निर्देशक आलोक वर्मा को नहीं मिली राहत, आगे की जांच की संभावना मौजूद

Must Read

दिल्ली में 68 वर्षीय महिला की कोरोनोवायरस से मृत्यु, भारत में अबतक दूसरी मृत्यु

देश में वैश्विक महामारी से जुड़ी दूसरी मौत में शुक्रवार को दिल्ली में 68 वर्षीय एक महिला की मौत...

‘बागी 3’ बॉक्स ऑफिस कलेक्शन: टाइगर श्रॉफ, श्रद्धा कपूर नें होली पर जमकर की कमाई

टाइगर श्रॉफ की बागी 3 (Baaghi 3) ने अपने शुरुआती सप्ताहांत में बॉक्स ऑफिस पर 53.83 करोड़ रुपये कमाए।...
आदर्श कुमार
आदर्श कुमार ने इंजीनियरिंग की पढाई की है। राजनीति में रूचि होने के कारण उन्होंने इंजीनियरिंग की नौकरी छोड़ कर पत्रकारिता के क्षेत्र में कदम रखने का फैसला किया। उन्होंने कई वेबसाइट पर स्वतंत्र लेखक के रूप में काम किया है। द इन्डियन वायर पर वो राजनीति से जुड़े मुद्दों पर लिखते हैं।

शुक्रवार को मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता में सुप्रीम कोर्ट की पीठ ने सीबीआई निर्देशक आलोक वर्मा की याचिका पर सुनवाई करते हुए आदेश दिया कि सीवीसी की जांच रिपोर्ट को आलोक वर्मा को सौंपा जाये। सुप्रीम कोर्ट ने मामले की सुनवाई मंगलवार तक टालते हुए आलोक वर्मा को सोमवार तक जवाब तैयार करने को कहा है।

कोर्ट ने सरकारी वकीलों को भी सीवीसी की जांच रिपोर्ट कॉपी देने का आदेश दिया है लेकिन कोर्ट ने राकेश अस्थाना को सीवीसी की रिपोर्ट देने से मना कर दिया।

कोर्ट ने कहा कि कोई भी फैसला सुनाने से पहले हम याचिकाकर्ता का जवाब जानना चाहेंगे। अपने जवाब दाखिल करने के लिए याचिकाकर्ता आलोक वर्मा को सीवीसी रिपोर्ट दी जानी चाहिए। 8 पन्नो के अपने नोट मे सीवीसी ने कहा कि दो आरोप सीरियस हैं और इन पर जांच की आवश्यकता है। वे दो आरोप हैं –

1) सतीश बाबू द्वारा मोईन कुरैशी की जांच बंद करने के लिए सीबीआई निदेशक को 2 करोड़ का रिश्वत देना और
2) आईआरसीटीसी मामले से मुख्य संदिग्ध राकेश सक्सेना को बाहर करने के लिए सीबीआई निदेशक के अपर्याप्त हस्तक्षेप और प्रयास। यह भी आरोप लगाया गया है कि सीबीआई निदेशक ने संयुक्त निदेशक विनीत विनायक को लालू पासद यादव के घर में तलाशी नहीं करने के निर्देश दिए थे।

गौरतलब है कि सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा ने सीबीआई के स्पेशल निदेशक राकेश अस्थाना पर 2 करोड़ रूपये रिश्वत लेने का आरोप लगाया था जिसके बाद अस्थाना ने भी वर्मा पर पलटवार ने रिश्वत लेने का आरोप लगा दिया।

आपसी झगडे में देश की प्रतिष्ठित जांच एजेंसी की किरकिरी होते देख केंद्र सरकार को हस्तक्षेप करना पड़ा था और सरकार ने दोनों को छुट्टी पर भेज दिया। छूती पर भेजने के खिलाफ आलोक वर्मा सुप्रीम कोर्ट पहुँच गए जिसपर कोर्ट ने सीवीसी को जाँच कर दो हफ्ते में रिपोर्ट सौंपने का निर्देश दिया था।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

दिल्ली में 68 वर्षीय महिला की कोरोनोवायरस से मृत्यु, भारत में अबतक दूसरी मृत्यु

देश में वैश्विक महामारी से जुड़ी दूसरी मौत में शुक्रवार को दिल्ली में 68 वर्षीय एक महिला की मौत...

एक विलेन 2: दिशा पटानी के बाद, तारा सुतारिया फिल्म से जुड़ी, जॉन अब्राहम और आदित्य रॉय कपूर भी होंगे फिल्म का हिस्सा

यह पहले बताया गया था कि जॉन अब्राहम 2014 की फिल्म, एक विलेन की अगली कड़ी बनाने के लिए बातचीत कर रहे थे। जनवरी...

‘बागी 3’ बॉक्स ऑफिस कलेक्शन: टाइगर श्रॉफ, श्रद्धा कपूर नें होली पर जमकर की कमाई

टाइगर श्रॉफ की बागी 3 (Baaghi 3) ने अपने शुरुआती सप्ताहांत में बॉक्स ऑफिस पर 53.83 करोड़ रुपये कमाए। 2 दिन में 16.03 करोड़...

महाराष्ट्र सरकार को कोई खतरा नहीं – कांग्रेस

एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने बुधवार शाम को अपने सभी विधायकों की बैठक बुलाई है। राकांपा नेताओं ने कहा कि 26 मार्च को होने...

पीएम मोदी, राहुल गांधी ने पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह को उनके जन्मदिन पर शुभकामनाएं दीं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह को उनके 78 वें जन्मदिन पर शुभकामनाएं दीं। पीएम मोदी ने ट्विटर पर लिखा,...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -