दा इंडियन वायर » समाचार » सिविल सर्विस परीक्षा के परिणाम घोषित: हैदराबाद के अनुदीप दुरीशेट्टी ने प्राप्त किया पहला स्थान
समाचार

सिविल सर्विस परीक्षा के परिणाम घोषित: हैदराबाद के अनुदीप दुरीशेट्टी ने प्राप्त किया पहला स्थान

सिविल सर्विस परीक्षा परिणाम

संघ लोकसेवा आयोग ने शुक्रवार को सिविल सर्विस परीक्षा के परिणामों को घोषित किया। आयोग द्वारा ली गयी परीक्षा में हैदराबाद के अनुदीप दुरीशेट्टी प्रथम स्थान हासिल करने में यशस्वी हुए हैं। परिणामों में अनु कुमारी ने दूसरा और सचिन गुप्ता ने तीसरा स्थान हासिल किया हैं।

अनुदीप 2013 बैच के भारतीय राजस्व सेवा(आई.आर.एस) अधिकारी हैं। उन्हें प्रशिक्षण के दौरान  ‘बेस्ट ऑफिसर ट्रेनी’ पुरस्कार से नवाज़ा जा चूका हैं। लड़कियों में शीर्ष स्थान हासिल करने वाली अनु कुमारी दिल्ली विश्वविद्यालय से बी एस्सी और नागपुर से एम.बी.ए कर चुकी हैं।

इस वर्ष के उत्तीर्ण छात्रों में से कई आयआयटी, एनआयटी जैसे प्रमुख शिक्षा संस्थानों से पढ़ चुके हैं। इस वर्ष के पहले 25 उत्तीर्ण उम्मीदवारों में से 17 पुरुष और 8 महिलाये हैं। इस साल आयोग द्वारा जारी परिणामों में 29 दिव्यांग परीक्षार्थी भी हैं। इन विद्यार्थीयों में 9 शारीरिक रूप दिव्यांग, 8 दृष्टिहीन, 12 सुननेमें परेशानी से त्रस्त परीक्षार्थी भी हैं।

सिविल सर्विस परीक्षा

  • सिविल सर्विस परीक्षा, संघ लोकसेवा आयोग द्वारा करायी जानी वाली परीक्षा हैं। इस परीक्षा के तीन चरण होते हैं- प्रेलिम्स, मैन्स और पर्सनालिटी टेस्ट।
  • प्रेलिम्स और मैन्स लिखित रूप में होते हैं वही पर्सनालिटी टेस्ट परीक्षार्थियों की व्यक्तिगत योग्यता की परीक्षा होती हैं।
  • हर साल लाखों लोग इस परीक्षा के लिए आवेदन करते हैं, लेकिन सिर्फ करीब 900 इस परीक्षा में उत्तीर्ण होते हैं।
  • सिविल सर्विसेज परीक्षा में स्वीकार्यता दर एक प्रतीशद से भी कम हैं, इसकी वजह से यह परीक्षा विश्व की कठिन परीक्षाओं में से एक मानी जाती हैं।
  • परीक्षा उत्तीर्ण होने के बाद सभी छात्रों को प्राथमिक प्रशिक्षण के लिए मसूरी में स्थित लाल बहादुर शास्त्री नेशनल अकैडमी ऑफ एडमिनिस्ट्रेशन में भेजा जाता हैं।
  • उसके बाद उन्हें आबंटित सेवाओं के अनुसार देश के विभिन्न हिस्सों में स्थित संस्थाओं में भेजा जाता हैं।

संघ लोकसेवा आयोग द्वारा भारतीय प्रशासनिक सेवा, भारतीय विदेश सेवा, भारतीय पुलिस सेवा जैसे क्लास-ऐ और क्लास-बी सेवाओं लिए कराये गयी परीक्षा में हिस्सा लेने हेतु 9,57,590 लोगों आवेदन किए थे। और आवेदन करने वालों में से 4,56,625 परीक्षार्थीयों में परीक्षा के पहले चरण में हिस्सा लिया।

अक्टूबर में करायी गयी, परीक्षा के दुसरे चरण(मैन्स) के लिए 13,366 परीक्षार्थियों को बुलाया गया। इन छात्रों में से 2568 परीक्षार्थियों को परीक्षा के अंतिम चरण व्यक्तिगत मुलाकात(पर्सनालिटी टेस्ट) के लिए आमंत्रित किया गया था।

आयोग द्वारा करायी लिखित परीक्षा(प्रेलिम्स और मैन्स) एवं व्यक्तिगत मुलाकात(पर्सनालिटी टेस्ट) के आधार पर, आयोग ने 990 परीक्षार्थियों को भारतीय प्रशासनिक सेवा, भारतीय विदेश सेवा, भारतीय पुलिस सेवा जैसी क्लास-ऐ और क्लास-बी सेवाओं में नियुक्त करने योग्य बताया।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ट्वीट के जरिये सभी सफल परीक्षार्थियों को बधाई दी। प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्य मंत्री जीतेन्द्र सिंह ने पहले 20 स्थान प्राप्त करने वाले परीक्षार्थियों को प्रधानमंत्री मोदी द्वारा सन्मानित किये जाने का आमंत्रण दिया हैं।

About the author

प्रशांत पंद्री

प्रशांत, पुणे विश्वविद्यालय में बीबीए(कंप्यूटर एप्लीकेशन्स) के तृतीय वर्ष के छात्र हैं। वे अन्तर्राष्ट्रीय राजनीती, रक्षा और प्रोग्रामिंग लैंग्वेजेज में रूचि रखते हैं।

Add Comment

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!

Want to work with us? Looking to share some feedback or suggestion? Have a business opportunity to discuss?

You can reach out to us at [email protected]