Sat. Jul 13th, 2024
    "सांड की आंख" निर्माता का बड़ा खुलासा: 15 वरिष्ठ अभिनेत्रियों ने ठुकराया तापसी और भूमि द्वारा निभाया गया किरदार

    बॉलीवुड में आने वाली सभी बायोपिक में से एक है बायोपिक ऐसी है जो शुरुआत से ही सुर्खियां बना रही है। कभी वह बंद हो जाती है तो कभी उसमे मुख्य युवा अभिनेता एक उम्रदराज़ महिला का किरदार निभाने के लिए लाइमलाइट बटोर लेते और इस बायोपिक का नाम है “सांड की आंख” जो दो सबसे उम्रदराज़ महिला शार्पशूटर चंद्रो और प्रकाशी तोमर की बायोपिक है।

    इस महीने की शुरुआत में, फिल्म का पोस्टर लांच हुआ था जिसमे तापसी पन्नू और भूमि पेडनेकर उम्रदराज़ महिलाओं के अवतार में नज़र आ रही थी। पोस्टर देखकर कई लोगो ने सवाल उठाया कि जब इंडस्ट्री में इतनी उम्रदराज़ अभिनेत्रियाँ शामिल हैं तो इन दोनों जवान लड़कियों को कास्ट क्यों किया गया।

    saand ki aankh

    भूमि जो 29 वर्ष की हैं और तापसी जिनकी उम्र 31 है, वह इस फिल्म में चन्द्रो तोमर और प्रकाशी तोमर का किरदार निभा रही हैं। इन दोनों महिलाओं ने अपने 60 साल की उम्र में गोली चलाना शुरू किया था।

    हाल ही में, मिड-डे से बात करते हुए, फिल्म की सह-निर्माता निधि परमार ने खुलासा किया कि कोई भी वरिष्ठ अभिनेत्री ये किरदार नहीं निभाना चाहती थी क्योंकि उन्हें डी-ग्लैम अवतार में नज़र नहीं आना था। उनके मुताबिक-

    हमने 55-60 के बीच की उम्र की अभिनेत्रियों से संपर्क किया क्योंकि हमे लगा कि चित्रण तब ज्यादा ठोस होगा। हालांकि, ज्यादातर अभिनेत्रियों ने किरदार ठुकरा दिया क्योंकि वह अनग्लैमरस अवतार में नज़र नहीं आना चाहती थी, या उन्हें लगा कि वह फिल्म द्वारा मांग की गयी शारीरिक तैयारी के लिए तैयार नहीं हैं।

    निधि ने उन अभिनेत्रियों के नाम लेने से मना कर दिया। उन्होंने आगे कहा-“यहाँ तक कि जवान अभिनेत्रियों की भी यही चिंता थी। भूमि और तापसी ने अपनी उम्र से दोगुनी उम्र की महिलाओं का किरदार निभाने के लिए बहुत साहस दिखाया है।”

    saand ki ankh

    तापसी ने कथित तौर पर कहा कि बड़े परदे पर ऐसा किरदार निभाना भी एक पहल है, खासतौर पर तब जब फिल्म इंडस्ट्री जवान और खूबसूरत लड़कियों के विचार से ग्रस्त हो। उनके मुताबिक, “मैंने 30 की उम्र पार करके कॉलेज छात्रा का किरदार निभाया था और तब किसी ने मुझसे सवाल नहीं किया। मुद्दा बनाने के वजाय, लोगो को आश्चर्यचकित होना चाहिए कि हमने उन किरदारों को निभाया क्योंकि ऐसे बहुत कम अभिनेता हैं जो बड़े परदे पर उम्रदराज़ किरदार निभाने के जोखिम को अनपेक्षित रूप से लेते हैं।”

    taapsee

    भूमि ने कहा-“अतीत में, लोगो ने सफलतापूर्वक अपनी उम्र से ज्यादा के किरदार निभाए हैं। ‘सारांश’ में अनुपम खेर और ‘मदर इंडिया’ में नर्गिस जी अच्छे उदाहरण हैं। अगर हम अपनी उम्र से कम उम्र वाले किरदार निभा सकते हैं, तो हम ज्यादा उम्र वाले किरदार क्यों नहीं निभा सकते?”

    bhumi

    तुषार हीरानंदानी द्वारा निर्देशित फिल्म इस साल 25 अक्टूबर को रिलीज़ हो रही है। अनुराग कश्यप द्वारा निर्मित फिल्म में प्रकाश झा भी अहम किरदार में नज़र आयेंगे।

     

     

    By साक्षी बंसल

    पत्रकारिता की छात्रा जिसे ख़बरों की दुनिया में रूचि है।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *