दा इंडियन वायर » खेल » सरफराज अहमद: पाकिस्तान के लोग क्रिकेट से प्यार करते है, वह भारतीय फैंस की तरह खिलाड़ियो को परेशान नही करेंगे
खेल

सरफराज अहमद: पाकिस्तान के लोग क्रिकेट से प्यार करते है, वह भारतीय फैंस की तरह खिलाड़ियो को परेशान नही करेंगे

सऱफराज अहमद

पाकिस्तान की टीम के कप्तान सरफराज अहमद का मानना है कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ी स्टीव स्मिथ को पाकिस्तान के प्रशंसको से हूटिंग सुनने को नही मिलेगी जब दोनो टीमें बुधवार को टॉन्टन में मैच खेलने के लिए आमने-सामने होगी।

स्मिथ को भारतीय क्रिकेट टीम के प्रंशसको से 9 जून को ओवल में चीटर, चीटर के नारे सुनने को मिले थे जहां उनकी टीम को 36 रन से हार का सामना भी करना पड़ा था।

स्मिथ, जो बॉल टेम्परिंग विवाद के समय टीम के कप्तान थे, उन्हें ओवल में भारत के खिलाफ मैच खेलते समय थर्ड मैन पर फील्डिंग करते हुए चीटर, चीटर के नारे सुनने को मिले। जब आलराउंडर हार्दिक पांड्या आउट हुए तो प्रशंसक स्मिथ की नारे लगाते हुए बुराई कर रहे थे।

भारत के कप्तान विराट कोहली, उस समय बल्लेबाजी कर रहे थे, उन्हें दर्शको की यह प्रतिक्रियां बिलकुल पसंंद नही आई और उन्होने स्टेडियम से स्टैंड की तरफ इशारा करते हुए उन्हे चुप करवाया। उन्होने यह इशारा भी किया कि स्टीव स्मिथ के लिए तालियां बजाई जाएं। भारत के कप्तान विराट कोहली ने फिर स्टीव स्मिथ से हाथं भी मिलाया जब उनके सामने से गुजर रहे थे।

टॉन्टन में पाकिस्तान के बहुत प्रशंसक होने वाले है, और ऐसा हो सकता है पाकिस्तान के प्रशंसक भी स्मिथ और डेविड वार्नर के लिए मैदान पर नारे लगाते हुए बुरा समय बना सकते है।

सरफराज ने मंगलवार को एक मीडिया क्वेरी के जवाब में कहा कि क्या वह कोहली के नक्शेकदम पर चलेंगे अगर टॉन्टन में भी इसी तरह की स्थिति पैदा होती है, “मुझे नहीं लगता कि पाकिस्तानी लोग ऐसा करेंगे। पाकिस्तानी लोग क्रिकेट से प्यार करते हैं, वे समर्थन करना पसंद करते हैं और वे खिलाड़ियों से प्यार करते हैं।”

कोहली के इस शानदार इशारे से उन्होने लाखो लोगो का दिल जीता है क्योंकि उनके पिछले कुछ सालो में ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियो के साथ अच्छा रिश्ता नही रहा और उन्होने यह फिर भी उनके खिलाड़ियो के लिए स्टैंड लिया।

यहां तक कि ग्लेन मैक्सवेल ने भी कोहली के हावभाव पर खुशी जताई और इस बात पर जोर दिया कि वह इससे हैरान नहीं हैं। उन्होने कहा,  “यह सुनकर अच्छा लगा और मुझे इससे कोई आश्चर्य नहीं हुआ, क्योंकि हम एक व्यक्ति के रूप में उनके साथ हैं, जो वास्तव में मैदान से दूर है। मैदान पर क्या होता है, इसके बारे में अन्य सभी को लिखना है।”

About the author

अंकुर पटवाल

अंकुर पटवाल ने पत्राकारिता की पढ़ाई की है और मीडिया में डिग्री ली है। अंकुर इससे पहले इंडिया वॉइस के लिए लेखक के तौर पर काम करते थे, और अब इंडियन वॉयर के लिए खेल के संबंध में लिखते है

Add Comment

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!