शिक्षा

कैबिनेट ने मार्च 2026 तक के लिए समग्र शिक्षा योजना 2.0 को मंजूरी दी

केंद्र ने बुधवार को कैबिनेट द्वारा अनुमोदित अपनी प्रमुख स्कूली शिक्षा योजना के सुधार और विस्तार के रूप में छात्रों को उनके शिक्षा के अधिकार (आरटीई) की पात्रता को नकद हस्तांतरण के रूप में भुगतान करने की योजना बनाई है। समग्र शिक्षा योजना को मार्च 2026 तक बढ़ा दिया गया है जिसमे प्रारंभिक शिक्षा, मूलभूत साक्षरता, संख्यात्मकता और भाषा पर कई नई पहल शामिल हैं। इस का वित्तीय परिव्यय ₹2.94 लाख करोड़ होगा, जिसमें ₹1.85 लाख करोड़ का केंद्रीय हिस्सा है।

समग्र शिक्षा 11.6 लाख सरकारी और सहायता प्राप्त स्कूलों के लिए 15 करोड़ से अधिक छात्रों और 57 लाख शिक्षकों के साथ एक एकीकृत योजना है। इसमें केंद्र और अधिकांश राज्यों के बीच वित्त पोषण में 60:40 का विभाजन शामिल है। केंद्र का हिस्सा अब लगभग ₹37,080 करोड़ प्रति वर्ष हो गया है जो पिछले तीन वर्षों में आवंटित राशि से अधिक है।

कैबिनेट बैठक के बाद जारी किये गए एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि, “योजना की सीधी पहुंच बढ़ाने के लिए सभी बाल-केंद्रित हस्तक्षेप सीधे छात्रों को डीबीटी [या प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण] मोड के माध्यम से आईटी-आधारित प्लेटफॉर्म पर प्रदान किए जाएंगे।”

इस डीबीटी में पाठ्यपुस्तक, स्कूल की यूनिफार्म और परिवहन भत्ता जैसे आरटीई अधिकार शामिल होंगे, शिक्षा मंत्रालय के अधिकारियों ने कहा कि, हालांकि यह स्पष्ट नहीं है कि निजी स्कूलों में आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के छात्रों के लिए ट्यूशन फीस का भुगतान भी सीधे छात्रों को एक नकद हस्तांतरण द्वारा किया जाएगा या नहीं। लेकिन अधिकारियों ने कहा कि विशेष जरूरत वाले बच्चों के लिए वजीफा का भुगतान इस तरीके से किया जाएगा।

केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने घोषणा करते हुए कहा कि यह योजना एक समान और समावेशी कक्षा के माहौल के साथ गुणवत्तापूर्ण शिक्षा तक पहुंच प्रदान करेगी। समग्र शिक्षा स्कूल शिक्षा क्षेत्र के लिए प्री-स्कूल से कक्षा 12 तक का एक व्यापक कार्यक्रम है। इसे स्कूली शिक्षा और सीखने के परिणामों के समान अवसरों के संदर्भ में मापा गया है और साथ ही स्कूल प्रभावशीलता में सुधार के व्यापक लक्ष्य के साथ तैयार किया गया है। यह सर्व शिक्षा अभियान, राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान और शिक्षक शिक्षा की तीन योजनाओं को समाहित करता है।

आदित्य सिंह

दिल्ली विश्वविद्यालय से इतिहास का छात्र। खासतौर पर इतिहास, साहित्य और राजनीति में रुचि।

Share
लेखक
आदित्य सिंह

Recent Posts

अमेरिकी वैज्ञानिक डेविड जूलियस और अर्देम पटापाउटिन ने नोबेल मेडिसिन पुरस्कार 2021 जीता

अमेरिकी वैज्ञानिकों डेविड जूलियस और अर्डेम पटापाउटिन ने सोमवार को तापमान और स्पर्श के रिसेप्टर्स…

October 5, 2021

किसान संगठन को कृषि कानूनों पर रोक के बाद भी आंदोलन जारी रखने के लिए सुप्रीम कोर्ट ने लगायी फटकार

सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को केंद्र के नए कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन जारी…

October 5, 2021

केंद्र सरकार ने वन संरक्षण अधिनियम में कई संशोधन किये प्रस्तावित

केंद्र सरकार ने मौजूदा वन संरक्षण अधिनियम (एफसीए) में संशोधन के तहत राष्ट्रीय सुरक्षा परियोजनाओं…

October 5, 2021

रूस और जर्मनी के बीच नॉर्ड स्ट्रीम 2 पाइपलाइन का निर्माण पूरा: यूरोपीय राजनीति में होंगे इसके कई बड़े परिणाम

जबकि ईरान-पाकिस्तान-भारत गैस पाइपलाइन, ईरान-भारत अंडरसी पाइपलाइन, और तुर्कमेनिस्तान-अफगानिस्तान-पाकिस्तान-भारत पाइपलाइन पाइप अभी भी सपने बने…

October 4, 2021

पैंडोरा पेपर्स का सचिन तेंदुलकर सहित कई वैश्विक हस्तियों के वित्तीय राज़ उजागर करने का दावा

रविवार को दुनिया भर में पत्रकारीय साझेदारी से लीक पेंडोरा पेपर्स नाम के लाखों दस्तावेज़ों…

October 4, 2021

बढे बजट के साथ आज पीएम मोदी करेंगे एसबीएम-यू 2.0 और अमृत ​​2.0 का शुभारंभ

वित्त पोषण, आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय के शीर्ष अधिकारियों ने गुरुवार को कहा…

October 1, 2021