Sun. May 19th, 2024
    Sabarimala-temple

    रविवार को सबरीमाला पहाड़ी मंदिर के पम्बा बेस स्टेशन में उस वक़्त अफरा तफरी मच गई जब चेन्नई स्थित महिलाओं के संगठन मनिथि ’से जुड़ी 11 महिलाओं को मदिर में प्रवेश करने से रोका गया।

    11 सदस्यीय समूह चेन्नई से सड़क के माध्यम से सुबह-सुबह पंबा पहुंचा जहाँ भक्तों और संगठनों के विरोध के कारण वो आगे नहीं जा सकती और वापस लौटने पर मजबूर हो गईं।

    आंदोलनकारी भक्तों ने महिलाओं को रोक दिया और कई घंटों तक अयप्पा कीर्तनम का जाप किया। पंबा में निषेधाज्ञा का हवाला देते हुए, पुलिस ने प्रदर्शनकारी भक्तों को हटाने में कामयाबी हासिल की और महिलाओं को मंदिर जाने से रोकने की कोशिश की। हालांकि, महिलाएं मंदिर में जाने के लिए दृढ़ थीं। छह घंटे के गतिरोध के बाद, महिला श्रद्धालु पारंपरिक वन पथ से होते हुए सबरीमाला मंदिर तक जाती हैं। हालांकि वे 100 मीटर भी रास्ते में नहीं जा सकीं क्योंकि सैकड़ों श्रद्धालुओं ने पास के इलाकों से वन ट्रैक की ओर कूच किया और उनका रास्ता रोक दिया।

    पुलिसकर्मी महिलाओं को एस्कॉर्ट कर रहे थे जिस कारण भक्त पुलिस पर भड़क गए और विरोध करने लगे। महिला श्रधुलुओं ने पहले कसम खाई की वो बिना दर्शन वाप स्नाही लौटेंगी लेकिन भक्तों के बढ़ते विरोध ने महिलाओं को वापस लौटने पर मजबूर कर दिया। प्रदर्शनकारियों के हिंसक होने के बाद, महिलाएं पंबा में एक पुलिस गार्ड के कमरे में छुप गईं।

    महिलाओं के साथ चर्चा करने के बाद, एसपी कार्तिकेयन गोकुलचंद्रन ने मीडिया को बताया कि 11 सदस्यीय समूह अपनी मर्जी से वापस जा रहा है।

    हालांकि, मनिथि नेता सेल्वी ने कहा कि वे वापस लौट रही हैं पुलिस ने उन्हें मंदिर जाने से मना कर दिया। उन्होंने कहा “हम फिर से आएंगे… अधिक महिलाएं तैयार हैं… हम कार्यकर्ता नहीं बल्कि भक्त हैं। हालांकि, पुलिस ने अब हमें मंदिर जाने से मना कर दिया है।”

    ये भी पढ़ें: पुलिस की मदद के बिना की दो महिलाओ ने “सबरीमाला मंदिर” में घुसने की कोशिश, विरोध के कारण मिली निराशा

    By आदर्श कुमार

    आदर्श कुमार ने इंजीनियरिंग की पढाई की है। राजनीति में रूचि होने के कारण उन्होंने इंजीनियरिंग की नौकरी छोड़ कर पत्रकारिता के क्षेत्र में कदम रखने का फैसला किया। उन्होंने कई वेबसाइट पर स्वतंत्र लेखक के रूप में काम किया है। द इन्डियन वायर पर वो राजनीति से जुड़े मुद्दों पर लिखते हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *