Thu. Jun 13th, 2024
    सदियों से बिहार, इस देश का नेतृत्व करता रहा है, आगे बढ़ाता रहा है: केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल

    केंद्रीय वाणिज्य, उद्योग एवं कपड़ा मंत्री पीयूष गोयल ने मंगलवार को आइएनए के दिल्ली हाट में बिहार सरकार के उद्योग विभाग की ओर से आयोजित ‘बिहार उत्सव-2022’ का दीप प्रज्वलित कर उद्घाटन किया। इस दौरान पीयूष गोयल ने कहा सदियों से बिहार, इस देश का नेतृत्व करता रहा है, आगे बढ़ाता रहा है। इस उत्सव में मुख्य अतिथि केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय, केंद्रीय खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण राज्यमंत्री अश्विनी कुमार चौबे, केंद्रीय उर्जा मंत्री आरके सिंह, केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण मंत्री पशुपति कुमार पारस, केंद्रीय इस्पात मंत्री आरसीपी सिंह, केंद्रीय पंचायती राज एवं ग्रामीण विकास मंत्री गिरिराज सिंह, केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्री भूपेंद्र यादव, सांसद मनोज तिवारी समेत बिहार के झंझारपुर से सांसद रामप्रीत मंडल व अन्य अधिकारी मौजूद रहे। बिहार के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज ने इस उत्सव की अध्यक्षता हुसैन ने की।

    श्री पीयूष गोयल ने कहा बिहार अब प्रचुर क्षमताओं वाला राज्य है। बिहार की क्षमता को देश और दुनिया ने अच्छे से पहचाना नहीं है। लेकिन अब परिस्थितियां बदल रही है, आज यहां की लीची, आम की किस्म पूरी दुनिया में पहुँच रही है। मौर्यन या गुप्त शासन हो, इन सबने जो विस्तार देखा था, इनका प्रभाव दूर-दूर तक फैला था। पूरे देश को जिस प्रकार से समेटा और एक सूत्र में बाँधा था। उस समय के मौर्य और गुप्त शासन ने, आज भारत के विशाल रूप की नींव रखी थी। बिहार की दी हुई विरासत, इस देश को सदियों तक आगे और इस देश के प्रभाव को विश्वभर में पहुंचाने में विशेष भूमिका निभा रही है। बिहार में बहुत सारी संभावनाएं हैं। पिछले दिनों आपके प्रवीण चौहान नाम के एक उद्यमी ने बोधगया मंदिर के फूलों से नेचुरल डाई बनाने का काम किया।

    आज फैशन टेक्सटाइल्स में प्रवीण चौहान की बनाई हुई डाई, जापान तक में इस्तेमाल होती है। उन्होंने कहा हमें अभी सरकारी नौकरी के मानसिक दबाव से निकलने की आवश्यकता है। बिहार के एक-एक व्यक्ति में इतनी क्षमता है कि वो विश्व-प्रसिद्ध काम कर सकते हैं।  जिस प्रकार से भागलपुरी जर्दालु आम पूरे विश्व में जा रहे हैं। जिस प्रकार से आपने हर जिले में निर्यात के प्रोडक्ट्स को ढूंढ निकाला है, चाहे वो भागलपुर का सिल्क, सिवान की दवाइयां, समस्तीपुर की बम्बू से बनी वस्तु, मुजफ्फरपुर की शाही लीची और लहाती पूरे विश्व में मशहूर है। उन्होंने जोड़ा कि मेरा विश्वास है कि बिहार के युवाओं का जो परिश्रम और पराक्रम है, वो राज्य को फिर एक बार नई बुलंदियों तक पहुंचाने में सफल होगा।  

    केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि बिहार को अब देश का टेक्सटाइल हब बनाना है। 

    केंद्रीय इस्पात मंत्री आरसीपी सिंह ने कहा कि दुनिया का इतिहास बिहार का इतिहास है। पहले गणतंत्र वैशाली में आया। बिहार का इतिहास बहुत समृद्ध है। मगध का जमाना देखिए। इतिहास में बिहार सत्ता व ज्ञान का केंद्र रहा है। बिहार की जमीन की कोई तुलना नहीं है। हमें फिर से बिहार को बिहार बनाना है।

    केंद्रीय खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण राज्यमंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने कहा कि बिहार सबसे निराला है और आने वाले दिनों में बिहार सभी से आगे निकलेगा।

    बिहार के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने कहा कि अमृतसर-कोलकाता कारिडोर में स्थित चंपारण में मेगा टेक्सटाइल मैत्री पार्क के लिए 1719 एकड़ की जमीन का अलाटमेंट हो चुका है। आठ मेगा औद्योगिक पार्क के निर्माण से बिहार अब विकास की राह पर नया कीर्तिमान स्थापित करते हुए पूर्वांचल भारत के औद्योगिक हब के रूप में अपनी पहचान बनाने की ओर आगे बढ़ रहा है। श्री हुसैन ने कहा बिहार का विकास हम सबों की जिम्मेदारी और हम सबों का प्रण है। बिहार को हर क्षेत्र में अग्रणी पंक्ति में लाकर रहेंगे।

    इस वर्ष बिहार दिवस का विषय जल जीवन हरियाली पर आधारित है। वहीं, गायक व सांसद मनोज तिवारी और गायिका विजया भारती ने अपनी प्रस्तुति से लोगों का उत्साहवर्धन किया। यह उत्सव 16 मार्च को आरम्भ हुआ है और 31 मार्च तक चलेगा।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *