Mon. Feb 26th, 2024
    हौथी विद्रोही

    यमन के ईरान समर्थित हौथी समूह ने सऊदी अरब के जीजान एअरपोर्ट पर ड्रोन हमले की जिम्मेदारी ली है। रायटर्स के मुताबिक, विद्रोही समूह ने बुधवार को जीजान हवाई अड्डे पर ड्रोन से हमला करने की जिम्मेदारी ली थी। यह चार वर्षों के  सीमा पार संघर्ष का भाग है।

    हौथी विद्रोहयों का हमला

    सऊदी नेतृत्व गठबंधन ने यमन में हौथी विद्रोहियों के साथ संघर्ष कर रहा है। सऊदी अधिकारी ने कहा कि “उन्होंने हौथी के ड्रोन को पहचान लिया था औत उसे मार गिराया था। जीजान में हौथी ड्रोन ने नागरिको को निशाना बनाया था। हौथी सैन्य प्रवक्ता याह्या सरिया ने कहा कि “इस हमले ने एअरपोर्ट पर संचालन को प्रभावित किया था।”

    राजधानी सना पर नियंत्रण रखने वाले हौथियो ने बीते कुछ महीनो में सऊदी अरब ने हमले को काफी बढ़ा दिया था। इसके प्रतिकार में गठबंधन ने समूहों से सम्बंधित सैन्य ठिकानो पर हमला किया था। मंगलवार को सऊदी नेतृत्व गठबंधन ने कहा कि “सऊदी शहरो जीजान और आभा की तरफ तीन हौथी द्रोहियों को पहचान लिया था और मार गिराया था।

    सरिया ने कहा कि “मंगलवार को ड्रोन हमले ने किंग खालिद एयर बेस को निशाना बनाया था, यह दक्षिणी पश्चिमी सऊदी शहर खामिस मुशैत के नजदीक हमला किया था।” हिंसक तनाव के बढ़ने से यूएन प्रायोजक होदेइदाह शहर के तटीय शहर पर संघर्षविराम और सैनिको की वापसी की संधि खतरे में हैं।

    सोमवार को संयुक्त राष्ट्र ने कहा कि “सम्बंधित पक्ष संघर्षविराम को लागू करने की नई कार्रवाई पर सहमत हुए थे और होदेइदाह से सैनिको की वापसी की सुविधा है।” पश्चिम समर्थित सुन्नी मुस्लिम गठबंधन सऊदी अरब और यूसी ने यमन में साल 2015 में दखल दिया था।, ताकि अंतरराष्ट्रीय मान्यता प्राप्त यमन की सरकार को वापस सत्ता पर बैठाया जा सके। जिन्हें साल 2014 के अंत में सना से हौथियो ने सत्ता से हटा दिया था।

    इस जंग में हजारो नागरिकों की हत्या हो गयी थी और लाखो लोग भुखमरी के कारण छोड़ गए थे।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *