बुधवार, अक्टूबर 23, 2019

सऊदी अरब में महिलाओं को 15 मिनट में मिलेगा पासपोर्ट

Must Read

पूर्वी उप्र में बूंदाबांदी के आसार, पश्चिमी हिस्से में मौसम रहेगा शुष्क

लखनऊ, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश की राजधानी के आस-पास के इलाकों में सुबह से बादल की आवाजाही बनी...

दिल्ली : कनाट प्लेस में मुठभेड़, केंद्रीय मंत्री के रिश्तेदार को लूटने वाले बदमाश गोली मारकर दबोचे

नई दिल्ली, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। दिल्ली का दिल कहे जाने वाले नई दिल्ली जिले में स्थित कनाट प्लेस में...

झारखंड चुनाव में कसौटी पर होगी जद (यू)-भाजपा दोस्ती!

रांची, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। जनता दल (युनाइटेड) बिहार में भले ही भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की मदद से सरकार...
विकास सिंह
विकास नें वाणिज्य में स्नातक किया है और उन्हें भाषा और खेल-कूद में काफी शौक है. दा इंडियन वायर के लिए विकास हिंदी व्याकरण एवं अन्य भाषाओं के बारे में लिख रहे हैं.

रियाद, 26 अगस्त (आईएएनएस)| सऊदी अरब में महिलाओं को पासपोर्ट मिलना आसान हो गया है। पासपोर्ट के लिए आवेदन करने पर सभी संबंधित औपचारिकताएं सिर्फ 15 मिनट में पूरी हो जाएंगी। महिलाओं को खुश करने वाली यह खबर एक मीडिया रिपोर्ट ने दी है। मक्का क्षेत्र में पासपोर्ट्स के निदेशक अबेद अल-हार्दी ने सऊदी गजट से कहा कि सऊदी अरब में पासपोर्ट के आवदेन करने वालों की संख्या प्रतिदिन बढ़ रही है, और महिलाएं भी बढ़-चढ़ कर आवेदन कर रही हैं।

उन्होंने कहा, “सभी पासपोर्ट केंद्र 21 वर्ष से ऊपर के सभी लोगों का पासपोर्ट बिना किसी रोक के जारी करने के आदेश दे रही है।”

उन्होंने कहा कि पहले सिस्टम अलग था, जब 21 वर्ष से ऊपर के सिर्फ पुरुषों को बिना परमिट के यात्रा करने की अनुमति थी, लेकिन महिलाओं को संरक्षक (पति, पिता या भाई) को साथ ले जाना पड़ता था।

अब महिलाओं को 21 वर्ष की आयुसीमा के अतिरिक्त और कोई अनिवार्यता नहीं है।

एक महिला आवेदक ने सऊदी गजट को बताया, “प्रक्रिया सरल थी और मुझे मेरा पासपोर्ट लगभग 15 मिनट में ही मिल गया।”

एक अन्य महिला ने कहा, “नियम संशोधित होने के बाद अब मैं अपना पासपोर्ट खुद रीन्यू करा सकती हूं।”

इसी बीच पासपोर्ट्स के महानिदेशक ने घोषणा की है कि 21 वर्ष से ऊपर की महिला की यात्रा करने पर विभाग परिवार के मुखिया को कोई टैक्स्ट मैसेज नहीं भेजता है।

सऊदी अरब ने इसी महीने महिलाओं पर लगे यात्रा संबंधी प्रतिबंध हटाए हैं। महिलाओं को पहले यात्रा करने या पासपोर्ट बनवाने के लिए अपने पुरुष संरक्षक की अनुमति लेनी पड़ती थी।

इससे पहले बिना पासपोर्ट की महिलाओं को यात्रा करने के लिए उनके पुरुष संरक्षकों के पासपोर्ट पर एक पेज दे दिया जाता था, जिससे उनके लिए उनके संरक्षकों के बिना यात्रा करना असंभव था।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

पूर्वी उप्र में बूंदाबांदी के आसार, पश्चिमी हिस्से में मौसम रहेगा शुष्क

लखनऊ, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश की राजधानी के आस-पास के इलाकों में सुबह से बादल की आवाजाही बनी...

दिल्ली : कनाट प्लेस में मुठभेड़, केंद्रीय मंत्री के रिश्तेदार को लूटने वाले बदमाश गोली मारकर दबोचे

नई दिल्ली, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। दिल्ली का दिल कहे जाने वाले नई दिल्ली जिले में स्थित कनाट प्लेस में बुधवार तड़के पुलिस और बदमाशों...

झारखंड चुनाव में कसौटी पर होगी जद (यू)-भाजपा दोस्ती!

रांची, 23 अक्टूबर (आईएएनएस)। जनता दल (युनाइटेड) बिहार में भले ही भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की मदद से सरकार चला रहा हो, मगर दोनों...

भाजपा ने हरियाणा, महाराष्ट्र चुनावों की समीक्षा की

नई दिल्ली, 22 अक्टूबर,(आईएएनएस)। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने यहां पार्टी मुख्यालय में मंगलवार शाम राष्ट्रीय महासचिवों की बैठक में हरियाणा और महाराष्ट्र के...

बेंगलुरू में प्रताड़ित छात्र ने कॉलेज इमारत से छलांग लगाई, मौत

बेंगलुरू, 22 अक्टूबर (आईएएनएस)। शहर के दक्षिणी उपनगर में स्थित अमृता स्कूल ऑफ इंजीनियरिंग की एक इमारत की सातवीं मंजिल से एक विद्यार्थी ने...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -