संविधान बचाओ या कांग्रेस बचाओ?

2019 के आम चुनाव के लिए कांग्रेस ने कमर कस ली है और कांग्रेस सुप्रीमो राहुल गांधी अपने नेतृत्व में कांग्रेस को सफलता दिलाना चाह रहे हैं। राहुल गांधी ने बीजेपी के खिलाफ संविधान बचाओ मुहिम निकालते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आड़े हाथों लिया।

राहुल गाँधी ने तालकटोरा स्टेडियम में सभा को सम्भोधित करते हुए कहा कि मैं प्रधानमंत्री को मात्र 15 मिनट के लिए संसद में मुझसे वाद-विवाद के लिए चुनौती देता हूँ और मैं वादा करता हूँ कि प्रधानमंत्री मेरे सवालों का जवाब नही दे पाएंगे और सरकार उनके हाथ से चली जायेगी।

राहुल गाँधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज कसते हुए कहा कि वो सिर्फ मोदी पर ही मेहरबान हैं उन्हें दलितों और महिलाओं के सम्मान से कोई मतलब नही है।

राहुल ने कहा पीएम मोदी का अभियान बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ आज के समय मे पूरी तरीके से विफल है। देश भर में महिलाओं और मासूम बच्चियों के साथ निर्ममता के साथ बलात्कार किया जा रहा और पीएम चुप्पी साध कर बैठे हैं।

राहुल गांधी ने अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष के अध्यक्ष के बयान का हवाला देते हुए कहा की अध्यक्ष ने कहा है की पीएम मोदी महिलाओं के सम्मान के लिए कुछ नही कर रहे।

“बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, लेकिन किससे? भारतीय जनता पार्टी से या भारतीय जनता पार्टी के विधायक और सांसदों से।”

राहुल नें आगे कहा कि आज जब भी एक दलित बीजेपी या नरेंद्र मोदी की तरफ देखती है तो उन्हें सिर्फ निराशा मात्र मिलती है।

दलितों के खिलाफ नृशंसता देश मे बढ़ रही है और इसका एक मात्र कारण है प्रधानमंत्री की चुप्पी।

बीजेपी का पलटवार

संबित पात्रा बीजेपी
संबित पात्रा

भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने राहुल गाँधी के बयानों के जवाब में बोला कि ये संविधान को बचाने के लिए नही राहुल गाँधी की डूबती राजनीतिक जीवन को बचाने का एक असफल प्रयास है।

राहुल गाँधी पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि जो व्यक्ति 15 वर्षों से संसद का सदस्य है जिसने आज तक किसी भी वाद विवाद के लिए 15 लाइन का भी प्रश्न नही तैयार किया वो 15 मिनट क्या बात करेगा। संबित पात्रा ने कहा कि कांग्रेस को लगता है कि सिर्फ उन्होंने ही देश के लिए कुछ किया है।

राहुल गाँधी के इन बयानों के बाद शीघ्र ही बीजेपी अध्यक्ष का बयान आया कि ये संविधान बचाओ मुहिम ना होकर काँग्रेस बचाओ मुहिम है।

काँग्रेस किस प्रकार लोकतंत्र को बचाने की बात कर रही है। उन्हें लोकतंत्र के किसी भी संगठन पर भरोसा नही है, कांग्रेस को ना ही न्यायपालिका पर भरोसा है, ना ही भारतीय आर्मी पर भरोसा है, ना ही चुनाव आयोग पर भरोसा है, ना ही रिजर्व बैंक पर भरोसा है और काँग्रेस लोकतंत्र बचाने की बात कर रही है।

अमित शाह ने अपने बयान में कहा कि कांग्रेस ने हमेशा से कहा है कि संविधान कांग्रेस ने बनाया है और ये कह कर वो बार बार बाबा साहेब का तिरस्कार कर रहे। राहुल गाँधी बाबा साहेब का तिरस्कार करके अपने वंश की परंपरा आगे बढ़ा रहे। नेहरू-गांधी परिवार ने हमेशा से बाबा साहेब का तिरस्कार किया है और राहुल गाँधी भी यही कर रहे है।

Watch related video on: Power Sportz

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here