दा इंडियन वायर » भाषा » संख्यावाचक विशेषण : परिभाषा, भेद, उदाहरण
भाषा

संख्यावाचक विशेषण : परिभाषा, भेद, उदाहरण

संख्यावाचक विशेषण

संख्यावाचक विशेषण की परिभाषा

ऐसे विशेषण शब्द जो किसी संज्ञा या सर्वनाम की संक्या का बोध कराते हैं, वे संख्यावाचक विशेषण कहलाते हैं।

जैसे: दुनिया में सात अजूबे हैं।

इस वाक्य में विश्व में कितने अजूबे हैं हैं ये हमें सात शब्द से पता चल रहा है। सात शब्द हमें अजूबों की संख्या की विशेषता बता रहा है। अतः यह संख्यावाचक विशेषण कहलायेगा।

संख्यावाचक विशेषण के उदाहरण

  • मैं रोज़ चार केले खाता हूँ।

ऊपर दिए गए उदाहरण में आप देख सकते हैं चार शब्द का प्रयोग किया जा रहा है।

यह शब्द एक संख्यावाची विशेषण है क्योंकि इस शब्द से हमें पता अचल रहा है कि हम कितनी संख्या में या कितने केले खायेंगे। यह संख्या वाली विशेषता बता रहा है। अतः यह उदाहरण संख्यावाचक विशेषण के अंतर्गत आएगा।

  • हमारे परिवार में पांच सदस्य हैं।

जैसा कि आपने ऊपर दिए गए उदाहरण में देखा परिवार के सदस्यों की संख्या के बारे में बताया जा रहा है। पांच शब्द से हमें पता चल रहा है कि परिवार में कितने सदस्य हैं। अतः यह उदाहरण संख्यावाचक विशेषण के अंतर्गत आएगा।

  • जयपुर नगर में चार हज़ार बस हैं।

ऊपर दिए गए उदाहरण में चार हज़ार शब्द से हमें पता चल रहा है कि जयपुर नगर में कितनी बसें हैं।

अगर यह शब्द यहाँ पर प्रयोग नहीं होता तो हमें बसों कि संख्या के बारे में पता ही नहीं चल पाता। अतः यह शब्द संख्यावाचक विशेषण शब्द कहलायेगा।

  • मेरे पास चार गाड़ियां हैं।

जैसा कि आपने ऊपर दिए गए उदाहरण में देखा चार शब्द का प्रयोग करके हमें बताया जा रहा है कि व्यक्ति के पास कितनी गाड़ियां हैं।

अगर यह शब्द यहाँ इस्तेमाल नहीं होता तो हमें गाड़ियों की संख्या के बारे में पता ही नहीं चल पाता। अतः यह एक संख्यावाचक विशेषण शब्द कहलायेगा।

  • मीना ने मुझे कुछ फल खाने को दिए।

ऊपर दिए गए उदाहरण से जैसा की आप समझ सकते हैं यहाँ कुछ शब्द का इस्तेमाल फलों की मात्र का बोध कराने में इस्तेमाल हो रहा है।

ऐसे शब्द जोकि हमें संज्ञा की मात्र का बोध कराते हैं , वे संख्यावाचक विशेषण कहलाते हैं।

  • हमारे गाँव में बस एक ही बस आती है।

जैसा की अपने देखा ऊपर लिखे गए वाक्य में एक शब्द का प्रयोग किया गया है। इससे बसों की संख्या बताने का कार्य किया जा रहा है।

हम यह भी जानते हैं की जो शब्द हमें संज्ञा की मात्रा जैसी विशेषता बताने का कार्य करता हैं ऐसे शब्द संख्यावाचक विशेषण कहलाते हैं।

संख्यावाचक विशेषण के कुछ अन्य उदाहरण :

  • अमित के पास तीन पेन हैं।
  • मुझे कुछ लोग आते हुए दिखाई दे रहे हैं।

संख्यावाचक विशेषण के भेद प्रकार

संख्यावाचक विशेषण दो प्रकार के होते हैं :

  1. निश्चित संख्यावाचक विशेषण
  2. अनिश्चित संख्यावाचक विशेषण

1. निश्चित संख्यावाचक विशेषण :

ऐसे विशेषण जो हमें किसी भी वस्तु, व्यक्ति (संज्ञा) एं सर्वनाम का निश्चित बोध कराएं, वे निश्चित संख्यावाचक विशेषण कहलाते हैं।

जैसे: चार वृक्ष, तीन कलम, एक, दो, तीन, आठ गाय, एक दर्जन पेंसिल, पाँच बालक, दस आम आदि।

उदाहरण :

  • मेरी कक्षा में चार लड़के हैं।
  • विकास के घर में दो कमरे हैं।
  • राजीव कोलोनी में बीस घर हैं।
  • मेरे पास तीन फुटबॉल हैं।
  • उस पार्क में बारह पेड़ हैं।

निश्चित संख्यावाचक विशेषण के भेद

  1. पूर्णसंख्याबोधक निश्चित संख्यावाचक विशेषण : यह विशेषण शब्द हमें किसी पूर्ण संख्या का बोध कराते हैं। जैसे: एक, दस, बीस, एक किलो, सौ ग्राम आदि।
  2. अपूर्णसंख्याबोधक निश्चित संख्यावाचक विशेषण : यह विशेषण हमें पूर्ण संख्या का बोध नहीं कराते। जैसे: आधा, ढाई, सवा, पौने, डेढ़ आदि।
  3. क्रमवाचक निश्चित संख्यावाचक विशेषण : यह विशेषण हमें संख्या के क्रम का बोध कराता है। जैसे: पहला, दूसरा, तीसरा, सातवाँ, आठवाँ, चतुर्थ, ग्यारहवाँ, पचासवाँ आदि।
  4. आव्रितिवाचक निश्चित संख्यावाचक विशेषण : यह विशेषण हमें संख्याओं की आवृति का बोध कराते हैं। जैसे: दुगुना, तिगुना, दसगुना, चौगुना आदि।
  5. समूहवाचक निश्चित संख्यावाचक विशेषण : यह विशेषण हमें समूह या समुदाय का बोध कराता है। जैसे: तीनों, पाँचों, आठों आदि।
  6. प्रत्येकबोधक निश्चित संख्यावाचक विशेषण : यह विशेषण हमें हर एक संख्या का बोध कराता है। जैसे: हर, प्रत्येक, हर एक, एक-एक, दो-दो, सवा-सवा आदि।

2. अनिश्चित संख्यावाचक विशेषण :

ऐसे विशेषण जो हमें किसी संज्ञा या सर्वनाम का निश्चित बोध नहीं करा पाते एवं उनमें अनिश्चितता बनी रहती है, ऐसे विशेषण शब्द अनिश्चित संख्यावाचक विशेषण कहलाते हैं।

जैसे: कुछ, अनेक, बहुत, सारे, सब, कुछ, कई, थोडा, सैंकड़ों , अनेक, चंद, अनगिनत, हजारों आदि।

उदाहरण:

  • यहाँ तक आने में मुझे अनेक मुश्किलों का सामना करना पड़ा।

जैसा कि आप ऊपर दिए गए उदाहरण में देख सकते हैं अनेक शब्द का पयोग किया गया है। इस शब्द से हमें पता चल रहा है कि राह में बहुत मुश्किलें आई।

लेकिन हमें यह नहीं पता चल पा रहा है कि असल में वो मुश्किलें थी कितनी। यह शब्द हमें निश्चित संख्या का बोध नहीं करा पा रहा है। अतः यह अनिश्चित संख्यावाचक विशेषण के अंतर्गत आएगा।

  • कुम्भ के मेले में असंख्य लोगों की भीड़ जमा होती है।

ऊपर दिए गए वाक्य में असंख्य शब्द का प्रयोग किया गया है। यह बताता है कि मेले में बहुत लीग आते हैं लेकिन हमें यह पता नहीं चल पाटा कि असल में लोग हैं कितने। यह शब्द हमें निश्चित संख्या नहीं बता पा रहा है। अतः यह शब्द अनिश्चित संख्यावाचक विशेषण के अंतर्गत आएगा।

अनिश्चित संख्यावाचक विशेषण के कुछ अन्य उदाहरण

  • मुझे कुछ फल चाहिए।
  • रमेश ने मुझे थोड़ा सा खाना दिया था।
  • मैंने कई चीज़ें खरीदी।

इस लेख के बारे में यदि आपका कोई भी सवाल या सुझाव है, तो आप उसे नीचे कमेंट में लिख सकते हैं।

About the author

विकास सिंह

विकास नें वाणिज्य में स्नातक किया है और उन्हें भाषा और खेल-कूद में काफी शौक है. दा इंडियन वायर के लिए विकास हिंदी व्याकरण एवं अन्य भाषाओं के बारे में लिख रहे हैं.

2 Comments

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!

Want to work with us? Looking to share some feedback or suggestion? Have a business opportunity to discuss?

You can reach out to us at [email protected]