Thu. Jul 25th, 2024
    श्रेनु पारिख ने मुंबई एयरपोर्ट पर सात घंटे इंतज़ार करने के बाद रद्द की फ्लाइट

    अभिनेत्री श्रेनु पारिख, जो वर्तमान में शो ‘एक भ्रम सर्वगुण संपन्न‘ में मुख्य भूमिका निभा रही हैं, को मंगलवार को वडोदरा जाने की अपनी योजना को रद्द करना पड़ा। दोपहर की फ्लाइट से जाने वाली अभिनेत्री ने शाम तक एयरपोर्ट पर इंतजार किया, यह तय करने से पहले कि आगे इंतजार करने का कोई मतलब नहीं है।

    मुंबई में मूसलाधार बारिश के चलते, कई फ्लाइट में देरी हो गयी हैं या ये रद्द हो गयी हैं। श्रेनु एयरपोर्ट पर जल्दी पहुँच गयी थी इस उम्मीद से कि फ्लाइट आखिरकार टेक-ऑफ कर लेगी। इसके बारे में बात करते हुए, उन्होंने टाइम्स ऑफ़ इंडिया को बताया-“मेरे किसी करीबी रिश्तेदार की कुछ दिन पहले मौत हो गयी थी और मुझे मंगलवार को वडोदरा में उनकी तेरहवीं में उपस्थित होना था।

    इसलिए मैंने दो हफ्ते पहले ही आधे दिन की छुट्टी के लिए अप्लाई किया था और शो के निर्माताओं ने भी छुट्टी दे दी। मैं सुबह फिल्म सिटी में शूट कर रही थी और परिस्थिति को देखते हुए, मैं लगातार वेबसाइट पर अपनी फ्लाइट का स्टेटस देख रही थी।”

    https://www.instagram.com/p/BxHnjekHnCC/?utm_source=ig_web_copy_link

    “चूँकि उसमे दिखा रहा था कि फ्लाइट समय पर है, मैं एयरपोर्ट के लिए जल्दी निकल गयी और 12 बजे पहुँच गयी। हालांकि, एयरपोर्ट के अन्दर बहुत शोर था और मैं किसी को बोर्डिंग गेट के पास देख नहीं पाई। सभी स्टाफ के कर्मचारी यहाँ-वहां भाग रहे थे, यात्रियों के सवालो को संबोधित कर रहे थे। मैंने देखा कि कुछ फ्लाइट्स उड़ रही हैं लेकिन तुरंत ही मुझे अहसास हुआ कि ये सभी फ्लाइट्स सोमवार शाम की थी।”

    “ज्यादातर फ्लाइट्स कई घंटो से देरी से उड़ रही थी। 7 बजे तक इंतज़ार करने के बाद, मैंने अपनी माँ को फ़ोन मिलाया और बताया कि अब वडोदरा आने का कोई मतलब नहीं है। मैंने बुधवार की सुबह के लिए वडोदरा से मुंबई आने की फ्लाइट बुक की थी और मंगलवार की देर रात को पहुँचने का कोई फायदा नहीं होता। परिस्थिति के सामान्य होने के बाद, मैं एक बारे जाने की कोशिश करुँगी।”

    https://www.instagram.com/p/BxhltIpHEuf/?utm_source=ig_web_copy_link

    उन्होंने अंत में कहा-“मेरे मामले में, मैंने रिफंड के लिए अप्लाई किया है और जल्द ही मिल जाना चाहिए। एयरपोर्ट पर बहुत शोर था क्योंकि घंटो तक इंतज़ार करने के बाद, यात्रियों ने अपना धैर्य खो दिया था। बहुत गरमा-गरम बहस हो रही थी और कई मामलो में, फंसे हुए यात्री बड़ी मुश्किल में पड़ गए थे क्योंकि कुछ एयरलाइन्स ने रिफंड करने से मना कर दिया था और कहा कि अगली सुबह उनके लिए फ्लाइट बुक कर देंगे। मैं मुंबई में रात के करीब 8.30 बजे अपने घर पहुंची और वो बहुत बड़ा दिन था।”

    By साक्षी बंसल

    पत्रकारिता की छात्रा जिसे ख़बरों की दुनिया में रूचि है।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *