Sun. Jan 29th, 2023
    श्रीलंका के राष्ट्रपति

    कोलंबो, 6 मई (आईएएनएस)| श्रीलंकाई अधिकारियों ने सोमवार को तमाम सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर से अस्थायी प्रतिबंध को हटा दिया। नेगोम्बो में हिंसा के बाद यह प्रतिबंध लगाया गया था। ईस्टर सनडे के मौके पर श्रीलंका में जिन जगहों पर बम विस्फोट हुआ था, उनमें से एक नेगोम्बो भी है।

    रिपोर्ट के मुताबिक, नेगोम्बो में सिंहलियों और मुसलमानों के बीच संघर्ष के बाद इस प्रतिबंध को लगाया गया था।

    एक निजी विवाद को लेकर झड़प हुई थी और बाद में भीड़ ने मुसलमानों की दुकानों पर पत्थरबाजी की और वाहनों को तोड़ दिया।

    इन घटनाओं के चलते अधिकारियों ने कर्फ्यू लगा दिया था और नेगोम्बो घटना से जुड़ी हुई तस्वीरों और वीडियो के प्रसार को रोकने के लिए सोशल मीडिया पर भी प्रतिबंध लगा दिया था।

    द डेली मिरर की रिपोर्ट के मुताबिक, प्रतिबंध हटाए जाने की घोषणा सूचना विभाग ने की है।

    21 अप्रैल में हुए आतंकी हमले के बाद दूसरी दफा सोशल मीडिया पर प्रतिबंध लगाया गया था। इस हमले में 250 से ज्यादा लोग मारे गए और 100 से अधिक घायल हुए थे।

    इस दौरान, कड़ी सुरक्षा के बीच सोमवार को स्कूलों में कक्षाएं फिर से शुरु हुईं।

    By पंकज सिंह चौहान

    पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *