सोमवार, अक्टूबर 14, 2019

श्रीलंका ने चार महीने के आपातकाल का किया अंत

Must Read

पाकिस्तान उच्चायोग हवाला से कश्मीर में आतंकवाद को कर रहा आर्थिक मदद : एनआईए (लीड-1)

नई दिल्ली, 14 अक्टूबर (आईएएनएस) राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने सोमवार को कहा कि जम्मू एवं कश्मीर में आतंकवाद...

बिहार, महाराष्ट्र, केरल, कर्नाटक में जेएमबी सक्रिय : एनआईए

नई दिल्ली, 14 अक्टूबर (आईएएनएस)। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने सोमवार को कहा कि जमात-उल-मुजाहिद्दीन बांग्लादेश (जेएमबी) भारत के...

एनएसए का पाकिस्तान को संदेश : युद्ध कभी फायदेमंद नहीं होता

नई दिल्ली, 14 अक्टूबर (आईएएनएस)। राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (एनएसए) ने पाकिस्तान को कड़ा संदेश देते हुए कहा कि कोई...
कविता
कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

श्रीलंका ने अधिकारिक तौर पर चार महीनो से लागू आपातकाल को खत्म कर दिया है। यह ईस्टर हमले के बाद लगाया गया था जिसमे 250 से अधिक लोगो ने अपनी जान गंवाई थी। राष्ट्रपति मैत्रिपाला सिरिसेना ने 22 अप्रैल को देश में आपातकाल को लागू करने का ऐलान किया था।

अप्रैल में देश में आठ विभिन्न स्थलों में आतंकी हमला किया गया था और इसमें तीन आलिशान होटल और तीन चर्च भी शामिल थे। श्रीलंका के राष्ट्रपति दफ्तर ने पुष्टि की कि राष्ट्रपति ने आपातकाल की समयसीमा में विस्तार नहीं किया है। साथ ही गुरूवार को आपातकाल को खत्म करने की अनुमति भी दे दी है।

वैश्विक आतंकी संगठन आईएसआईएस ने इन हमलों की जिम्मेदारी ली थी लेकिन सरकार ने स्थानीय इस्लामिक चरमपंथी संगठन नेशनल तौहीद जमात (एनटीजे) को जिम्मेदार ठहराया था।

अधिकारिक सरकार न्यूज़ पोर्टन ने शुक्रवार को ट्वीट कर कहा कि “22 अगस्त को देश से आपातकाल को खत्म किया जा रहा है। राष्ट्र्पर्ती ने इसमें विस्तार के लिए कोई सूचना जारी नहीं की है। रक्षा मंत्री देश में आपातकाल की अवधि में वृद्धि नहीं करेंगे।”

आपातकाल ने सुरक्षाबलों को इस हमले के बाद संदिग्ध लोगों को गिरफ्तार करने और हिरासत में लेने का अधिकार प्रदान किया। एनटीजे से संबंध को लेकर 1000 से अधिक लोग गिरफ्तार किये गये हैं जिनमें पांच ऐसे लोग हैं जिन्हें सऊदी अरब से प्रत्यर्पित कर लाया गया।

श्रीलंका में ईस्टर हमलों से पहले श्रीलंका को भारतीय खुफिया एजेंसियों की तरफ से हमले की सूचना दी गयी थी कि जिहादी श्रीलंका में ईसाई चर्चों और अन्य ठिकानों पर हमला करने वाले हैं। श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाल सिरिसेना पर इसको लेकर आरोप भी लगे थे कि उन्होंने खुफिया इनपुट के बावजूद कोई कार्रवाई करने के आदेश नहीं दिए थे।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

पाकिस्तान उच्चायोग हवाला से कश्मीर में आतंकवाद को कर रहा आर्थिक मदद : एनआईए (लीड-1)

नई दिल्ली, 14 अक्टूबर (आईएएनएस) राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने सोमवार को कहा कि जम्मू एवं कश्मीर में आतंकवाद...

बिहार, महाराष्ट्र, केरल, कर्नाटक में जेएमबी सक्रिय : एनआईए

नई दिल्ली, 14 अक्टूबर (आईएएनएस)। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने सोमवार को कहा कि जमात-उल-मुजाहिद्दीन बांग्लादेश (जेएमबी) भारत के विभिन्न राज्यों जैसे बिहार, महाराष्ट्र,...

एनएसए का पाकिस्तान को संदेश : युद्ध कभी फायदेमंद नहीं होता

नई दिल्ली, 14 अक्टूबर (आईएएनएस)। राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (एनएसए) ने पाकिस्तान को कड़ा संदेश देते हुए कहा कि कोई भी युद्ध की मार सहन...

जम्मू एवं कश्मीर में आतंक को पाकिस्तान से आर्थिक मदद : एनआईए

नई दिल्ली, 14 अक्टूबर (आईएएनएस)। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने सोमवार को कहा कि जम्मू एवं कश्मीर में आतंकवाद को पाकिस्तान द्वारा सीधे आर्थिक...

जम्मू एवं कश्मीर में आतंकवाद को पाकिस्तान कर रहा आर्थिक मदद : एनआईए (संशोधित)

नई दिल्ली, 14 अक्टूबर (आईएएनएस) राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने सोमवार को कहा कि जम्मू एवं कश्मीर में आतंकवाद को पाकिस्तान द्वारा सीधे आर्थिक...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -