Thu. Jun 20th, 2024
    शोएब अख्तर

    कराची, 9 मई (आईएएनएस)| अपनी आत्मकथा में हैरान करने वाले खुलासे करने वाले पाकिस्तान के पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी के समर्थन में पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर उतर आए हैं।

    अफरीदी ने अपनी आत्मकथा ‘गेम चेंजर’ में लिखा है कि टीम के कई सीनियर खिलाड़ियों ने उनके साथ अच्छा व्यवहार नहीं किया। अपनी बात का उदाहरण देते हुए अफरीदी ने कहा कि पाकिस्तान के पूर्व कोच जावेद मियांदाद ने उन्हें 1999 में भारत के खिलाफ चेन्नई में खेले गए मैच से पहले अभ्यास सत्र में हिस्सा नहीं लेने दिया था।

    अफरीदी के इस खुलासे में अख्तर ने उनका समर्थन किया है और कहा है कि उन्हें भी अपने समय में सीनियर खिलाड़ियों से बुरा व्यवहार मिला।

    एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने अख्तर के हवाले से लिखा है, “मुझे लगता है कि अफरीदी ने अपनी किताब में खराब व्यवहार के बारे में कम लिखा है। मैंने इस तरह की हरकतें अपनी आंखों से देखी हैं और मैं उनसे पूरी तरह से सहमत हूं।”

    अफरीदी ने साथ ही लिखा है कि मियांदाद ने मैच के बाद होने वाले पुरस्कार वितरण समारोह में अपनी तारीफ करने को कहा था जिसके बाद अफरीदी के दिल में मियांदाद को लेकर इज्जत खत्म हो गई थी।

    अख्तर ने कहा कि बाद में उन 10 खिलाड़ियों ने इन दोनों से माफी मांगी थी।

    अख्तर के मुताबिक, “बाद में कुछ वर्षो बाद, उमराह जाने से पहले उन 10 खिलाड़ियों ने हम दोनों से माफी मांगी।”

    अपने अतीत के अनुभव को बयां करते हुए अख्तर ने कहा कि चार खिलाड़ी एक बार उन्हें मारने तक आ गए थे।

    उन्होंने कहा, “एक बार आस्ट्रेलिया दौरे के समय, चार खिलाड़ियों ने मुझे बल्ले से मारने का प्रयास किया।”

    इससे पहले, इमरान फरहत ने अफरीदी पर अपना गुस्सा जाहिर करते हुए कहा था कि वह एक मतलबी खिलाड़ी थे।

    By पंकज सिंह चौहान

    पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *