Tue. Apr 16th, 2024
    शेयर बाजार

    अपडेट – 16:10

    बाज़ार में कारोबार के आखिरी घंटों में भी सेंसेक्स में कोई खास सुधार देखने को नहीं मिल रहा है। सेंसेक्स आखिरी घंटे तक 550.51 अंक गिरा है, जिससे सेंसेक्स 35,975 अंकों पर आकर बंद हुआ है।

    इसी के साथ निफ्टी भी 150.05 अंकों की गिरावट के साथ 10,858.25 अंकों पर आकार बंद हुआ है। इनके साथ ही रुपये में अभी तक कोई सुधार देखने को नहीं मिला है। लगातार गिरता रुपया अब 73.32 रुपये प्रति डॉलर पर पहुँच गया है।

    इसी के साथ सेंसेक्स बाज़ार में टीसीएस को 100 अंक, रिलायंस इंडस्ट्रीज़ को 85.32 अंक, आईसीआईसीआई बैंक को 68.11 अंक, इंफ़ोसिस को 63.49 अंक व एक्सिस बैंक को 41.40 अंकों का नुकसान हुआ है।

    सुबह बाज़ार खुलने पर सेंसेक्स के प्रदर्शन को देख कर लगा था कि आज बाज़ार पूरी तरह से फायदे में रहेगा। लेकिन शाम को बाज़ार बंद होते होते सेंसेक्स 550 अंकों की डुबकी लगा गया है।

    वहीं निफ्टी भी लाख कोशिशों के बाद भी 11,000 का आंकड़ा नहीं छू पाया और इसी के साथ उसे बाज़ार बंद होने पर 150 अंकों का नुकसान उठाते हुए 10,858 अंकों पर रहना पड़ा है।

    रुपया भी कल के मुक़ाबले और कमजोर हुआ है। कल 72.93 रुपये प्रति डॉलर पर रहने वाला रुपया आज 73.34 रुपये प्रति डॉलर पर आकर बंद हुआ है।


    एक ओर जहाँ रुपये ने अपने कमजोर होने के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिये हैं और इसी के साथ वो 73 रुपये प्रति डॉलर के अपने निम्नतम स्तर पर आ पहुँचा है। इसी वजह से बाज़ार को भी आज नुकसान उठाना पड़ा है।

    बाज़ार खुलते ही बॉम्बे स्टॉक एक्स्चेंज के सेंसेक्स में 0.5 प्रतिशत की गिरावट दर्ज़ की गयी। इसी के साथ वो 198 अंक टूट कर 36,628 अंकों पर आ पहुँचा है।

    वहीं दूसरी ओर नेशनल स्टॉक एक्स्चेंज के निफ्टी को भी 0.6% की चोट लगी है, जिसकी वजह से निफ्टी 71 अंकों का गोता लगाकर 10,937 अंक पर आ पहुँचा है।

    इस समय बाज़ार काफी उथल पुथल से गुज़र रहा है है, जिसके बाद कहा ये जा रहा है कि यदि रुपये की कीमत में जल्द ही सुधार न हुआ तो बाज़ार भी अपने आपको ज्यादा दिनों तक सुरक्षित नहीं रख पाएगा।

    इसी के साथ बाज़ार की अनिश्चितता को देखते हुए आरबीआई ने भी बाज़ार में बड़ी रकम निवेश करने का फैसला लिया है, ये रकम 35,000 करोड़ रुपए से भी अधिक है।

    रुपये की लगातार गिरती कीमत के साथ रुपया अब 73 रुपये प्रति डॉलर के आने निम्नतम स्टार को छू गया है और इसी के साथ अंतर्राष्ट्रीय बाज़ार में लगातार बढ़ते तेल के दामों से देश की अर्थव्यवस्था को दोहरी मार झेलनी पड़ रही है।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *