Thu. Jun 20th, 2024
    shivraj singh chauhan

    भोपाल, 9 मई (आईएएनएस)| मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने एक बार फिर किसान कर्ज माफी पर सवाल उठाते हुए कहा कि उनके भाई रोहित सिंह ने कर्ज माफी का आवेदन ही नहीं किया था, फिर भी कर्ज माफ कर दिया गया, यह साजिश है। मुख्यमत्री कमलनाथ बताएं कि, उनके (चौहान) परिवार पर इतनी मेहरबानी क्यों।

    कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को ग्वालियर की सभा में शिवराज सिंह चौहान के भाई रोहित सिंह और रिश्तेदार का कर्ज माफ किए जाने की बात कही थी। इसका जवाब देते हुए चौहान ने गुरुवार को कांग्रेस व मुख्यमंत्री कमलनाथ से सवाल करते हुए कहा, “मेरे परिवार पर इतनी मेहरबानी क्यों हो रही। मेरे भाई रोहित सिंह चौहान ने कर्जमाफी का आवेदन ही नहीं किया। इसके साथ ही वे आयकर दाता हैं, फिर भी कर्ज माफी का दावा किया जा रहा है। यह साजिश का हिस्सा है।”

    ज्ञात हो कि, शिवराज सिंह चौहान द्वारा किसानों की कर्जमाफी पर कई दिनों से सवाल उठाए जा रहे हैं। इसका जवाब देते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को ग्वालियर की सभा में कहा था, “मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बताया है कि राज्य में जिन किसानों का कर्ज माफ हुआ है उनमें शिवराज चौहान के भाई रोहित सिंह और चाचा के लड़के भी शामिल हैं।”

    शिवराज ने अपने गांव जैत के किसानों की सूची के आधार पर बताया कि, “पंचायत की सूची में इस बात का साफ उल्लेख है कि रोहित सिंह चौहान ने कर्ज माफी के लिए आवेदन ही नहीं किया, साथ ही वे आयकरदाता हैं। सरकार की नीति के अनुसार, आयकरदाता किसान का कर्ज माफ ही नहीं किया जा सकता।”

    राहुल गांधी की बात का चौहान ने गुरुवार को जवाब दिया।

    चौहान ने कांग्रेस पर आरोप लगाया कि, “वचन पत्र में किसानों का दो लाख रुपये तक का कर्ज माफ किए जाने की बात कही थी अब कांग्रेस अपने वादे से मुकर गई है और सिर्फ फसल कर्ज माफी की बात करने लगी है।”

    मालूम हो कि, राज्य सरकार ने किसान कर्जमाफी के लिए तीन रंग के अलग-अलग आवेदन किसानों से मांगे थे। किसानों ने पंचायतों में अपने आवेदन जमा किए थे।

    उसी के आधार पर सरकार ने दावा किया था कि राज्य में 55 लाख किसानों पर कर्ज है। इनमें से 21 लाख किसानों का दो लाख रुपये तक का कर्ज माफ किया जा चुका हैं। लोकसभा चुनाव की आदर्श आचार संहिता लागू होने के कारण कर्ज माफी की प्रक्रिया रुकी है। चुनाव होते ही शेष किसानों का कर्ज माफ किया जाएगा।

    By पंकज सिंह चौहान

    पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *