शनिवार, अक्टूबर 19, 2019

शिंजो आबे की भारत यात्रा से पूर्व, जापान 2+2 वार्ता का करेगा आयोजन

Must Read

कमलेश तिवारी हत्याकांड में किसी को बख्शा नहीं जाएगा : योगी

लखनऊ,19 अक्टूबर (आईएएनएस)। हिंदू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी की हत्या मामले पर शनिवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ...

हरियाणा चुनाव के मद्देनजर दिल्ली में सुरक्षा चुस्त

नई दिल्ली, 19 अक्टूबर 2019 (आईएएनएस)। हरियाणा विधानसभा चुनाव के मद्देनजर दिल्ली पुलिस ने राज्य से लगी सीमाओं पर...

उप्र : बांदा के एसपी ने चौपाल लगा सुनी समस्याएं

बांदा, 19 अक्टूबर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश में बांदा जिले के पुलिस कप्तान ने शनिवार को चिल्ला थाने के मुस्लिम...
कविता
कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

भारत और जापान ने इस वर्ष के अंत में प्रधानमंत्री शिंजो आबे की यात्रा से पूर्व विदेश मंत्रियों और रक्षा मंत्रियों की गुरूवार को 2+2 वार्ता पर सहमति जताई है। आला स्तर की वार्ता में नीति और सुरक्षा से सम्बंधित मामलो पर चर्चा की थी और इसका निर्णय जी-20 सम्मेलन में आयोजित मुलाकात में लिया गया था।

विदेश मंत्री विजय गोखले ने मोदी और आबे के बीच बैठक के बाद मीडिया ब्रीफिंग में कहा कि “इस वर्ष के अंत में आबे की यात्रा से पूर्व महत्वपूर्ण मुलाकाते होगी और 2+2 मंत्रीय स्तरीय बेहद महत्वपूर्ण मुलाकात होगी। दोनों देशों के विदेश मंत्री और रक्षा मंत्री मुलाकात और नीति व सुरक्षा से सम्बंधित मामलो पर भी चर्चा करेंगे।

बहरहाल, मुलाकात की तारीख का ऐलान नहीं किया है। गोखले ने कहा कि “मुलाकात की तारीख पर चर्चा की जाएगी लेकिन यह आबे की यात्रा से पूर्व इसका आयोजन किया जायेगा। इस दिन की शुरुआत में आबे ने ऐलान किया कि वह मोदी के साथ वार्षिक बैठक के लिए भारत आएंगे।

गोखले ने कहा कि “दोनों देशों के बीच बैठक गर्मजोशी से हुई थी। मोदी और आबे पुराने दोस्त है  और उनकी द्विपक्षीय संबंधों पर बेहद रचनात्मक और गहराई से चर्चा हुई थी।” नरेंद्र मोदी ने भारत के उत्तर पूर्वी भागो में ढांचागत परियोजनाओं में जापानी पीएम की भूमिका की सराहना की है।

पीएम ने विशेषकर उत्तर पूर्वी राज्यों में जापान के कार्यों की सराहना की है। बीते माह हुई बैठक में “एक्ट ईस्ट फोरम” का गठन हुआ था और तीन बैठकों का आयोजन हुआ था और कई परियोजनाओं, पुलों, फारेस्ट प्रोजेक्ट, सड़क निर्माण के परियोजनों की पहल हुई थी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर पूर्व में ढांचागत परियोजाओं में पीएम आबे के योगदान की सराहना की है। मुंबई-अहमदाबाद हाई स्पीड रेलवे कॉरिडोर और वाराणसी में कन्वेंशन सेंटर के निर्माण पर संक्षेप में चर्चा की थी। दोनों नेताओं ने इस प्रगति से सम्बंधित समीक्षा की थी।

मोदी और आबे ने भगोड़ा आर्थिक आपराधिक विधेयक पर अपने विचारो को साझा किया था और जलवायु परिवर्तन पर भी चर्चा की थी। गोखले ने कहा कि “पीएम मोदी ने पीएम आबे को आपदा रहित ढांचों के लिए वैश्विक गठबंधन पर नयी पहले के बाबत बताया था और सुझाव दिया कि जापान को समर्थन करना चाहिए और इसका कारण आपदा से निपटने का जापान का अनुभव है।”

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

कमलेश तिवारी हत्याकांड में किसी को बख्शा नहीं जाएगा : योगी

लखनऊ,19 अक्टूबर (आईएएनएस)। हिंदू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी की हत्या मामले पर शनिवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ...

हरियाणा चुनाव के मद्देनजर दिल्ली में सुरक्षा चुस्त

नई दिल्ली, 19 अक्टूबर 2019 (आईएएनएस)। हरियाणा विधानसभा चुनाव के मद्देनजर दिल्ली पुलिस ने राज्य से लगी सीमाओं पर चौकसी बढ़ा दी है, ताकि...

उप्र : बांदा के एसपी ने चौपाल लगा सुनी समस्याएं

बांदा, 19 अक्टूबर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश में बांदा जिले के पुलिस कप्तान ने शनिवार को चिल्ला थाने के मुस्लिम बहुल गांव सादीमदनपुर में चौपाल...

आईएसएल-6 : आगाज की तैयारियां पूरी, जबरदस्त प्रतिस्पर्धा के पूरे आसार (टूर्नामेंट प्रीव्यू)

कोच्चि, 19 अक्टूबर (आईएएनएस)। हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) का छठा सीजन रविवार से शुरू हो रहा है। इसकी तैयारियां पूरी हो चुकी हैं।...

टेनिस : दो साल बाद किसी टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में पहुंचे मरे

एंटवर्प (बेल्जियम), 19 अक्टूबर (आईएएनएस)। ब्रिटेन के पूर्व नंबर-1 खिलाड़ी एंडी मरे ने शानदार प्रदर्शन करते हुए यहां जारी यूरोपीयन ओपन के सेमीफाइनल में...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -