Thu. Feb 9th, 2023
    शशि थरूर

    नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री बने साढ़े 4 साल हो चुके हैं लेकिन लगता है कि विपक्षी पार्टी के नेता अब तक इस सच को स्वीकार नहीं कर पाए हैं। अकसर कोई ना कोई विपक्षी नेता प्रधानमंत्री के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करता रहता है।

    कल बेंगलुरु में एक इवेंट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर लिखी अपनी नयी किताब The Paradoxical Prime Minister पर बात करते हुए कांग्रेस नेता शशि थरूर ने एक अज्ञात आरएसएस नेता का सन्दर्भ देते हुए कहा कि ‘एक RSS नेता ने एक जर्नलिस्ट को कहा था कि नरेंद्र मोदी शिवलिंग पर बैठे बिच्छू की तरह हैं जिसे चप्पल मार कर नहीं हटा सकते। चप्पल मार कर हटाने से आस्था आहत होगी और अगर हाथ से हटाएंगे तो बिच्छू काट लेगा।’

    हालांकि थरूर ने ना तो उस आरएसएस नेता का नाम बताया और ना ही उस जर्नलिस्ट का जिससे ये बातें कही गई थी।

    ये पहला मौका नहीं है जब किसी विपक्षी नेता ने नरेंद्र मोदी के खिलाफ आपत्तिजनक सम्बोधन का इस्तमाल किया है। इससे पहले भी कांग्रेस की पूर्व अध्यक्षा सोनिया गाँधी, मोदी के लिए ‘मौत का सौदागर’ शब्द का उपयोग कर चुकीं हैं।

    गुजरात चुनावों के वक़्त मणिशंकर अय्यर ने मोदी के लिए ‘नीच’ शब्द का इस्तमाल कर दिया था, जिसे भाजपा ने खूब भुनाया और कांग्रेस को बैकफुट पर ला दिया था। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने मोदी को सनकी और पागल कह कर तूफान मचा दिया था।

    शशि थरूर के इस बयान पर बवाल मच गया। कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने इसे हिन्दू धर्म की आस्था पर चोट बताया। रविशंकर प्रसाद ने शशि थरूर पर हमला बोलते हुए कहा ‘शशि थरूर जो एक मर्डर केस के आरोपी है, ने हिन्दू धर्म और भगवान् शिव का अपमान किया है।’

    रविशंकर प्रसाद ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर भी सवाल उठाते हुए कहा कि ‘खुद को शिव भक्त कहने वाले राहुल गांधी हिन्दुओं के आराध्य के इस अपमान पर चुप क्यों है? उन्हें अपने नेता के इस बयान के लिए हिन्दुओं से माफ़ी मांगनी चाहिए।’

    खुद को मर्डर केस का आरोपी बताये जाने पर शशि थरूर बिफर गए। ट्विटर पर उन्होंने रविशंकर प्रसाद से सवाल किया कि वो किस मर्डर केस की बात कर रहे हैं? क्या वो किसी केस में थरूर को फंसाना चाहते हैं?

    मर्डर केस का जिक्र कर रविशंकर प्रसाद ने शशि थरूर की पत्नी सुनंदा पुष्कर के आत्महत्या मामले के लिए शशि थरूर को जिम्मेदार ठहराने की कोशिश की।

    जब जब विपक्षी नेताओं ने मोदी के लिए आपत्तिजनक शब्दों का इस्तमाल किया है मोदी उसका चुनावी फायदा उठा ले गए हैं। आने वाले महीने में मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में चुनाव हैं। ऐसे वक़्त में थरूर का ये बयान कांग्रेस के लिए मुश्किलें पैदा कर सकता है।

    By आदर्श कुमार

    आदर्श कुमार ने इंजीनियरिंग की पढाई की है। राजनीति में रूचि होने के कारण उन्होंने इंजीनियरिंग की नौकरी छोड़ कर पत्रकारिता के क्षेत्र में कदम रखने का फैसला किया। उन्होंने कई वेबसाइट पर स्वतंत्र लेखक के रूप में काम किया है। द इन्डियन वायर पर वो राजनीति से जुड़े मुद्दों पर लिखते हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *