Sun. Jan 29th, 2023
    whatsapp

    व्हाट्सएप, फेसबुक एवं दुसरे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर गलत जानकारी या फेक न्यूज़ का फैलना एक मुद्दा बन गया है। पिछले कुछ समय से फेसबुक एवं व्हाट्सएप दोनों ही फेक न्यूज़ को फैलने से रोकने के लिए विभिन्न प्रयास कर रहे हैं। यह पहल तब शुरू की जब फेक न्यूज़ के कारण सामुदायिक झग़डों की ख़बरें सामने आयी। इसी के चलते व्हाट्सएप नया उपाय अंतर्गत उपभोक्ता ज़्यादा लोगों को कोई सन्देश फॉरवर्ड नहीं कर पाएंगे।

    नए फीचर के बारे में जानकारी :

    हाल ही में जारी किये गए व्हाट्सएप के इस फीचर के अंतर्गत कोई भी यूजर किसी भी सन्देश को पांच से ज़्यादा लोगों को एक बार में फॉरवर्ड नहीं कर पायेगा। इससे लोग ज़्यादा लोगों तक कोई भी अफवाह या फेक न्यूज़ फैलाने से कुछ हद तक रोके जा सकेंगे।

    व्हाट्सएप का बयान:

    व्हाट्सएप का इस बारे में कहना है की उसके द्वारा यह निर्णय वैश्विक स्तर पर यूजर की प्रतिक्रियाओं का विश्लेषण करने के बाद लिया गया है। यह कदम उठाने के बाद फेक न्यूज़ फैलना एक बड़ी हद तक काम हो गई। अब वर्तमान में यह फीचर हर प्लेटफार्म पर उपलब्ध है चाहे वह एंड्राइड है या आईओएस है।

    ऐसे कदम उठाकर व्हाट्सएप अपनी छवि को एक कुख्यात फर्जी न्यूज़ फ़ैलाने वाली एप से हटाकर एक निजी मैसेजिंग एप में बनाकर रखना चाहता है। अतः अबसे हर प्लेटफार्म पर व्हाट्सएप के यूज़र केवल पांच लोगों को ही एक बार में कोई मैसेज फॉरवर्ड कर पाएंगे।

    इससे पहले विज्ञापनों के जरिये की थी कोशिश:

    ऐसा ठोस कदम उठाने से पहले फेसबुक एवं व्हाट्सएप ने विभिन्न विज्ञापनों के जरिये फेक न्यूज़ का फैलाना रोकने की कोशिश की थी। ये विज्ञापनों को फेक न्यूज़ से होने वाले नुक्सान के बारे में बता रहे थी। लेकिन इनका कोई ज़्यादा फायदा नहीं हो पाया था एवं इसके चलते व्हाट्सएप ने ऐसा ठोस कदम उठाने का निर्णय किया।

    इसके अलावा व्हाट्सएप में पिछले साल यूजर के लिए सस्पीशियस लिंक इंडिकेटर की सुविधा भी जारी की थी जोकि यूजर को कोई भी गलत लिंक खोलने से सावधान करती थी।

     व्हाट्सएप की लेटेस्ट अपडेट में होगा ये फीचर:

    यूज़र जब व्हाट्सएप के लेटेस्ट फीचर में अपडेट करेंगे तो यह फीचर आएगा जोकि फॉरवर्ड लिमिट को पांच कर देगा। व्हाट्सएप इस कदम को उठाने से फेक न्यूज़ के फैलने पर रोक लगेगी एवं व्हाट्सएप की छवि में सुधार होगा।

    By विकास सिंह

    विकास नें वाणिज्य में स्नातक किया है और उन्हें भाषा और खेल-कूद में काफी शौक है. दा इंडियन वायर के लिए विकास हिंदी व्याकरण एवं अन्य भाषाओं के बारे में लिख रहे हैं.

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *