सोमवार, दिसम्बर 9, 2019

व्लादिमीर पुतिन, निकोलस मादुरो ने मोस्को में की द्विपक्षीय मुलाकात, यूएन महासभा में नहीं हुए शामिल

Must Read

झारखंड विधानसभा चुनाव 2019 : तीसरे चरण का मतदान तय करेगा आजसू का राजनीतिक भविष्य

झारखंड विधानसभा चुनाव के लिए दो चरण का मतदान संपन्न हो जाने के बाद सभी दल तीसरे चरण में...

उत्तर प्रदेश में दो और बलात्कार, औरेया में चलती कार में किया रेप, बिजनौर में नाबालिग के साथ दुष्कर्म

उत्तर प्रदेश में दुष्कर्म जैसे जघन्य अपराध को लेकर एक ओर जहां जनता में आक्रोश है, वहीं राज्य में...

रणजी ट्रॉफी : सांप के कारण विदर्भ और आंध्र प्रदेश के बीच मैच में हुई देरी

यहां विदर्भ और आंध्र प्रदेश के बीच खेला जा रहा रणजी ट्रॉफी के ग्रुप-ए का मैच सांप के कारण...
कविता
कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और उनके वेनेजुएला के समकक्षी निकोलस मादुरो ने बुधवार को मोस्को में द्विपक्षीय मुलाकात की थी। दोनों नेताओं ने संयुक्त राष्ट्र महासभा के 74 वे सत्र में शामिल नही होने का फैसला लिया था। समस्त विश्व के नेता यूएनजीए के सत्र में शरीक होने के लिए न्यूयोर्क की तरफ जा रहे हैं, वही वेनेजुएला और रूस के नेता ने मोस्को में द्विपक्षीय वार्ता का आयोजन किया था।

ट्वीट में मादुरो ने मंगलवार को कहा कि “सावधान वेनेजुएला! हम मोस्को में हैं। दोनों देशो की टीम एकजुट होकर व्लादिमीर पुतिन के साथ मुलाकात की जानकारी की तैयारियां कर रही है। हम अपनी बहन रशिया के साथ सहयोग में विस्तार करने के अपने इरादों को अमल में लेन में एक भी सेकंड नहीं गवाएंगे।”

सिलसिलेवार ट्वीट में मादुरो ने कहा कि “मोस्को की यात्रा गठबंधन और द्विपक्षीय सहयोग को गहन करेगा। यह यात्रा रूस और वेनेजुएला के लोगो के आंतरिक विकास में योगदान देगी।”

उन्होंने कहा कि “यह दोनों राष्ट्रों के ऐतिहासिक और सम्मान व नागरिको में परस्परता के सकारात्मक संबंधो को मज़बूत करेगा। सम्मान और दोस्ती के सम्बन्ध को हमने 20 वर्षों के लिए निर्मित किया है और यह एकीकरण का सस्बे बेहतरीन वक्त है। जुग जग जियो वेनेजुएला, जुग जग जियो रशिया।”

पुतिन ने मोस्को में मादुरो का स्वागत किया था ताकि दोनों राष्ट्रों के बीच संबंधो के विस्तार पर चर्चा की जा सके। साथ ही क्षेत्रीय व अंतरराष्ट्रीय मसलो पर वार्ता की जा सके।

क्रेमलिन के प्रवक्ता दमित्री पेस्कोव ने कहा कि “इस मुलाकात में किसी प्रमुख समझौते पर दस्तखत होने की सम्भावना नहीं है लेकिन संयुक्त परियोजनाओं को अमल में लाने के एजेंडा पर चर्चा की जाएगी।”

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

झारखंड विधानसभा चुनाव 2019 : तीसरे चरण का मतदान तय करेगा आजसू का राजनीतिक भविष्य

झारखंड विधानसभा चुनाव के लिए दो चरण का मतदान संपन्न हो जाने के बाद सभी दल तीसरे चरण में...

उत्तर प्रदेश में दो और बलात्कार, औरेया में चलती कार में किया रेप, बिजनौर में नाबालिग के साथ दुष्कर्म

उत्तर प्रदेश में दुष्कर्म जैसे जघन्य अपराध को लेकर एक ओर जहां जनता में आक्रोश है, वहीं राज्य में ऐसे मामलों को लेकर शिकायतों...

रणजी ट्रॉफी : सांप के कारण विदर्भ और आंध्र प्रदेश के बीच मैच में हुई देरी

यहां विदर्भ और आंध्र प्रदेश के बीच खेला जा रहा रणजी ट्रॉफी के ग्रुप-ए का मैच सांप के कारण देरी से शुरू हुआ। मैच...

पीएम मोदी व कांग्रेस नेताओं ने कांग्रेस अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को दीं जन्मदिन की शुभकामनाएं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को उनके 73वें जन्मदिन की शुभकामनाएं दी। मोदी ने ट्वीट किया, "श्रीमती सोनिया गांधी...

संसद शीतकालीन सत्र : राज्यसभा ने दिल्ली अग्निकांड पर शोक जताया

राज्यसभा ने सोमवार को दिल्ली के रानी झांसी मार्ग इलाके में भयानक आग की चपेट में आकर 43 मजदूरों के मारे जाने पर शोक...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -