Mon. Jun 17th, 2024
    निकोलस मादुरो और व्लादिमीर पुतिन

    रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और उनके वेनेजुएला के समकक्षी निकोलस मादुरो ने बुधवार को मोस्को में द्विपक्षीय मुलाकात की थी। दोनों नेताओं ने संयुक्त राष्ट्र महासभा के 74 वे सत्र में शामिल नही होने का फैसला लिया था। समस्त विश्व के नेता यूएनजीए के सत्र में शरीक होने के लिए न्यूयोर्क की तरफ जा रहे हैं, वही वेनेजुएला और रूस के नेता ने मोस्को में द्विपक्षीय वार्ता का आयोजन किया था।

    ट्वीट में मादुरो ने मंगलवार को कहा कि “सावधान वेनेजुएला! हम मोस्को में हैं। दोनों देशो की टीम एकजुट होकर व्लादिमीर पुतिन के साथ मुलाकात की जानकारी की तैयारियां कर रही है। हम अपनी बहन रशिया के साथ सहयोग में विस्तार करने के अपने इरादों को अमल में लेन में एक भी सेकंड नहीं गवाएंगे।”

    सिलसिलेवार ट्वीट में मादुरो ने कहा कि “मोस्को की यात्रा गठबंधन और द्विपक्षीय सहयोग को गहन करेगा। यह यात्रा रूस और वेनेजुएला के लोगो के आंतरिक विकास में योगदान देगी।”

    उन्होंने कहा कि “यह दोनों राष्ट्रों के ऐतिहासिक और सम्मान व नागरिको में परस्परता के सकारात्मक संबंधो को मज़बूत करेगा। सम्मान और दोस्ती के सम्बन्ध को हमने 20 वर्षों के लिए निर्मित किया है और यह एकीकरण का सस्बे बेहतरीन वक्त है। जुग जग जियो वेनेजुएला, जुग जग जियो रशिया।”

    पुतिन ने मोस्को में मादुरो का स्वागत किया था ताकि दोनों राष्ट्रों के बीच संबंधो के विस्तार पर चर्चा की जा सके। साथ ही क्षेत्रीय व अंतरराष्ट्रीय मसलो पर वार्ता की जा सके।

    क्रेमलिन के प्रवक्ता दमित्री पेस्कोव ने कहा कि “इस मुलाकात में किसी प्रमुख समझौते पर दस्तखत होने की सम्भावना नहीं है लेकिन संयुक्त परियोजनाओं को अमल में लाने के एजेंडा पर चर्चा की जाएगी।”

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *