Tue. May 28th, 2024
    चीन और अमेरिका के बीच छिड़ा व्यापार युद्ध

    अमेरिका और चीन के मध्य व्यापार जंग छिड़ी हुई है। चीन वाणिज्यिक मंत्री वांग शौवेन ने कहा कि चीन और अमेरिका के बीच व्यापार वार्ता बराबरी और साझा हितों से जुड़ी हुई होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि उम्मीद हैं कि दोनों देश अपने बीच जमी बर्फ को पिघालने के लिए बातचीत का रास्ता अपनाएं।

    चीन के राष्ट्रपति शी जिंगपिंग और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प अगले सप्ताह आयोजित जी -20 के सम्मेलन में मुलाकात कर सकते हैं। व्यापार समझौते पर दुनिया की दो ताकतवर अर्थव्यवस्थाएं टकराती रही है। मंत्री वांग ने कहा कि दोनों राष्ट्र एक ही दिशा की और अग्रसर है और जल्द ही इन दिक्कतों के समाधान खोज लेंगे। उन्होंने कहा कि दोनों राष्ट्रों के नेताओं के दिशा निर्देशों के मुताबिक अधिकारी संपर्क में हैं।

    वांशिगटन चाहता है कि अमेरिका अपने बाज़ार के द्वार खोले और उद्योगिक सब्सिडी घटाकर, 375 बिलियन डॉलर के व्यापार अंतर को भरे। डोनाल्ड ट्रम्प ने चीनी उत्पादों के निर्यात पर 250 बिलियन डॉलर का अतिरिक्त शुल्क लगाया था। सूत्रों के मुताबिक 200 बिलियन डॉलर के चीनी उत्पादों पर जनवरी से 10 से 25 फीसदी तक बढेगा। डोनाल्ड ट्रम्प ने धमकी दी है यदि चीन अमेरिका  की मांगों को पूरा करने में असमर्थ रहता है तो 267 बिलियन डॉलर का अतिरिक्त शुल्क लगाया जायेगा।

    डोनाल्ड ट्रम्प ने गुरूवार को कहा था कि चीनी राष्ट्रपति से मुलाकात के बाद शायद कोई समझौता प्रस्तावित हो जाए। ट्रम्प ने कहा था कि अतिरिक्त शुल्क के भार के कारण चीन जल्द ही एक व्यापार समझौता चाहता है। अमेरिका ने चीन पर आरोप लगाया था कि वह गैर निष्पक्ष चाल से व्यापार युद्ध के विवाद को हवा दे रहा है। चीन ने अमेरिका के आरोपों को खारिज किया और आग्रह किया कि अमेरिका को अब भड़काना बंद कर देना चाहिए।

    अमेरिका ने चीन को निशाना बनाने के लिए सोमवार को 14 उच्च तकनीक के निर्यात पर कड़ी जांच करने का ऐलान किया था। अमेरिका का आरोप है कि तकनीक की चोरी करता है और फिर उसे सस्ते दामों में उपलब्ध करता है।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *