दा इंडियन वायर » भाषा » व्यक्तिवाचक विशेषण : परिभाषा एवं उदाहरण
भाषा

व्यक्तिवाचक विशेषण : परिभाषा एवं उदाहरण

व्यक्तिवाचक विशेषण

व्यक्तिवाचक विशेषण की परिभाषा

ऐसे शब्द जो असल में संज्ञा के भेद व्यक्तिवाचक संज्ञा से बने होते हैं एवं विशेषण शब्दों की रचना करते हैं, वे व्यक्तिवाचक विशेषण कहलाते हैं। जैसे: 

  • इलाहबाद से इलाहाबादी,
  • जयपुर से जयपुरी,
  • बनारस से बनारसी,
  • लखनऊ से लखनवी आदि।

व्यक्तिवाचक विशेषण के उदाहरण

  • मुझे भारतीय खाना बहुत पसंद है।

ऊपर दिए गए उदाहरण में आप देख सकते हैं भारतीय शब्द असल में तो व्यक्तिवाचक संज्ञा से बना भारत शब्द लेकिन अब भारतीय शब्द विशेषण की रचना कर रहा है। इस वाक्य में यह शब्द खाने कि विशेषता बता रहा है। अतः यह उदाहरण व्यक्तिवाचक विशेषण के अंतर्गत आयेंगे।

  • सभी साड़ियों में से मुझे बनारसी साडी सबसे ज्यादा पसंद है।

जैसा कि आप ऊपर दिए गए उदाहरण में देख सकते हैं कि बनारसी शब्द का प्रयोग किया गया है। यह शब्द बनारस शब्द से बना है जो एक व्यक्तिवाचक संज्ञा है लेकिन अब यह बनारसी बनने के बाद यह विशेषण कि तरह प्रयोग हो रहा है। अतः यह उदाहरण व्यक्तिवाचक विशेषण के अंतर्गत आएगा।

  • हमारी दूकान पर जयपुरी मिठाइयां मिलती हैं।

ऊपर दिए गए उदाहरणों में जैसा कि आप देख सकते हैं जयपुरी शब्द का इस्तेमाल किया गया है। यह शब्द जयपुर शब्द से बना है जो कि एक व्यक्तिवाचक संज्ञा है।

यह शब्द जयपुरी बनने के बाद विशेषण बन जाता हैं एवं अब इस वाक्य में मिठाइयों कि विशेषता बता रहा है। अतः यह उदाहरण व्यक्तिवाचक विशेषण के अंतर्गत आएगा।

  • ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर विश्व के सबसे बेहतरीन खिलाडियों में शामिल हैं।

जैसा की आपन ने ऊपर उदाहरण में पढ़ा, यहाँ ऑस्ट्रेलियाई शब्द का प्रयोग किया गया है। यह शब्द ऑस्ट्रेलिया शब्द से बना है जोकि खुद एक संज्ञा है।

ऑस्ट्रेलिया शब्द ऑस्ट्रलियाई बन्ने के बाद विशेषण बन जाता है एवं यह हमें खिलाडियों की विशेषता बताता है। अतः यह उदाहरण व्यक्तिवाचक विशेषण के अंतर्गत आएगा।

इस लेख के बारे में यदि आपका कोई भी सवाल या सुझाव है, तो उसे आप नीचे कमेंट में लिख सकते हैं।

About the author

विकास सिंह

विकास नें वाणिज्य में स्नातक किया है और उन्हें भाषा और खेल-कूद में काफी शौक है. दा इंडियन वायर के लिए विकास हिंदी व्याकरण एवं अन्य भाषाओं के बारे में लिख रहे हैं.

1 Comment

Click here to post a comment

  • Dakshini log ( south Indian) log budhimaan hote he.
    Dakhshini me konsa visheshan h?
    Vayaktiwaachak
    Or
    Gunvaachak

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!

Want to work with us? Looking to share some feedback or suggestion? Have a business opportunity to discuss?

You can reach out to us at [email protected]