Sun. Apr 21st, 2024
    वोडाफोन आईडिया

    हाल ही की रिपोर्ट्स के अनुसार भारत के शीर्ष प्रदाताओं में से एक वोडाफोन को अपने बिज़नस में अप्रैल तक 25000 करोड़ अतिरिके पूँजी के निवेश की आशा है। इतनी पूँजी यह विभिन्न कंपनियों में से अपनी हिस्सेदारी बेचकर जुटाएगा।

    ये लोग करेंगे वोडाफोन की मदद :

    इकनोमिक टाइम्स के मुताबिक वोडाफोन को 25,000 करोड़ रूपए जुटाने में आदित्य बिरला एवं वोडाफोन ग्रुप पीएलसी करेंगे। जहां वोडाफोन ग्रुप पूरी राशी में से 11,000 का योगदान देगा वहीं आदित्य बिरला कुल 7,250 करोड़ रूपए चुकायेंगे। इससे वोडाफोन अपनी सेवाओं को कम दामों में देकर जिओ को टक्कर दे पायेगा एवं ग्राहकों के लिए नयी एवम आकर्षक योजनाएं लांच कर पायेगा।

    अपनी इंडस टावर्स की हिस्सेदारी भी बेचेगा वोडाफोन :

    वोडाफोन अतिरिक्त राशि जुटाने के लिए इंडस टावर्स में अपनी 11.5 प्रतिशत हिस्सेदारी का भी दांव लागायेगा। बता दे की इंडस टावर्स की हिस्सेदारी भारती इन्फ्राटेल और आदित्य बिरला के पास भी है। ऐसा करके भारतीय टेलिकॉम बाज़ार के दुसरे प्रदाता जैसे एयरटेल और जिओ से प्रतिस्पर्धा में बड़ा दांव चलना चाहता है। इसके साथ ही यह बाज़ार में एकाधिकार प्राप्त कर रही जिओ को भी ऐसा करने से रोकना चाहता है।

    अगली पांच तिमाही की ये है योजना :

    अपनी अप्रैल तक जुताई जाने वाली पूँजी के द्वारा वोडाफोन अगली पांच तिमाहियों मिएँ कुल 20000 करोड़ व्यय करने की योजना बना रहा है। वोडाफोन आइडिया को उम्मीद है कि अगली दो तिमाहियों में भी इसके न ग्राहकों की संख्या कम होने के पूरे आसार हैं क्योंकि इसने न्यूनतम रिचार्ज योजना जारी की है।

    लेकिन अगली तिमाहियों में वोडाफोन विभिन्न योजनाओं में जमकर खर्च करने वाला है। इसको आशा है की इससे जिओ को टक्कर मिलेगी और उसका एकाधिकार सफल नहीं होगा।

    वोडाफोन का आखिरी तिमाही का प्रदर्शन नहीं रहा ख़ास :

    वोडाफोन ने हाल ही मिएँ अपने तीसरी तिमाही के परिणाम घोषित किये जिसके विश्लेषण से पता चला की यह भी जिओ से बहुत प्रभावित हुआ है। दुसरे सभी प्रदाताओं के मुकाबले इसकी आय प्रति ग्राहक सबसे कम रही है जोकि केवल 89 रूपए है।

    3.5 करोड़ ग्राहक खोये :

    बुधवार को पेश की गयी रिपोर्ट्स के अनुसार वोडाफोन आईडिया ने दिसम्बर तिमाही में कुल 3.5 करोड़ ग्राहक खो दिए। हालांकि यह वोडाफोन के लिए निराश होने वाली बात नहीं है क्योंकि इतने ग्राहक खोने के साथ साथ वोडाफोन ने 95 लाख नए 4G ग्राहक जुड़ गए और इसके साथ साथ वोडाफोन की बिहार और झारखण्ड सर्किल में कनेक्टिविटी मरीं भी सुधार हुआ है। इससे वोडाफोन के 4G ग्राहकों के तेजी से बढ़ने का अनुमान है।

    5004 करोड़ का हुआ घाटा :

    बुधवार को वोडाफोन आईडिया ने अपनी तीसरी तिमाही में कुल 5,004.6 करोड़ रुपये के घाटा दर्ज करने की रिपोर्ट दी। हालांकि इस प्रदाता को इतना बड़ा घाटा हुआ है लेकिन भारत में दुसरे प्रदाताओं की तुलना में इसका राजस्व सबसे ज्यादा रहा है। जहां एयरटेल का तीसरी तिमाही 10,053 करोड़ का राजस्व था और जिओ का 10,383 करोड़ का राजव था वहीँ वोडाफोन आईडिया ने इसे पछाड़ते हुए तीसरी तिमाही में कुल 11,760 करोड़ रूपए का राजस्व दर्ज किया।

    By विकास सिंह

    विकास नें वाणिज्य में स्नातक किया है और उन्हें भाषा और खेल-कूद में काफी शौक है. दा इंडियन वायर के लिए विकास हिंदी व्याकरण एवं अन्य भाषाओं के बारे में लिख रहे हैं.

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *