Thu. Jun 13th, 2024
    वोडाफोन प्लान

    हाल ही में वोडाफोन अपने 50 रूपए, 100 रूपए और 500 रूपए को फिर से बाज़ार में ले आया है जोकि पहले बंद कर दिए गए थे। इसके साथ ही कुछ दिन पहले वोडाफोन ने अपने वार्षिक प्लान के मूल्य को 1499 रूपए से 1699 रूपए कर दिया है।

    ₹50, ₹100 और ₹500 प्लानों के बारे में :

    वोडाफोन द्वारा ये तीनों प्लान हाल ही में दुबारा लांच किये गए हैं और इसे एयरटेल द्वारा लांच किये गए 100 रूपए और 500 रूपए के प्लान की प्रतिक्रिह्या माना जा रहा है। एयरटेल ने भी कुछ समय पहले 100 रूपए और 500 रूपए के प्लानों को बाज़ार से हटा लिया था लेकिन अब बाज़ार में इन्हें फिर से ज़ारी कर दिया गया है।

    वोडाफोन द्वारा लांच किये गए 50 रूपए के प्लान में 39.37 रूपए का टॉकटाइम मिलता है और अन्य दो प्लानों में वोडाफोन द्वारा फुल टॉकटाइम की सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है। वोडाफोन वेबसाइट पर यह विवरण दिया गया है की 50 रूपए के प्लान से 28 दिन की वैद्यता के साथ 39.37 रूपए का टॉकटाइम मिल्यता है। इसमें 3 रूपए की एक्सेस फीस लगती है और 7.63 रुँप्य जीएसटी के रूप में काटे जाते हैं।

    इसके बाद वोडाफोन के 100 रूपए के रिचार्ज प्लान की बात करें तो यह फुल टॉकटाइम 28 दिन की वैद्यता के साथ प्रदान करता है। इसके बाद 500 रूपए का प्लान भी फुल टॉकटाइम देता है लेकिन इसकी वैद्यता 84 दिन की है।

    वोडाफोन के 1699 रूपए के वार्षिक प्लान की जानकारी :

    यह प्लान पिछले ₹1499 के वार्षिक प्लान की जगह पर लांच किया गया है। रु1,499 रिचार्ज विकल्प की तरह ही रु1,699 वोडाफोन रिचार्ज भी अनलिमिटेड वॉयस कॉलिंग के साथ-साथ प्रतिदिन 1GB 4G/3G डेटा जैसे कि 365 दिनों के लिए लाभ मिलता है। ₹1699 रिचार्ज में जियो टीवी, फिल्में और अन्य ऑनलाइन सामग्री देखने के लिए वोडाफोन प्ले ऐप का उपयोग भी किया जा सकता है।

    वोडाफोन वेबसाइट पर दी गयी जानकारी के अनुसार हाल ही में जारी किये गए ₹1699 के प्रीपेड वार्षिक प्लान के अंतर्गत ग्राहकों को असीमित लोकल, एसटीडी और रोमिंग कॉल के साथ साथ 365 दिन की वैद्यता के लिए रोज़ 1 GB इन्टरनेट डाटा भी मिलेगा। प्रीपेड वोडाफोन ग्राहकों के लिए नए रिचार्ज विकल्प में प्रति दिन 100 एसएमएस संदेश और साथ ही वोडाफोन प्ले ऐप का उपयोग शामिल है।

    By विकास सिंह

    विकास नें वाणिज्य में स्नातक किया है और उन्हें भाषा और खेल-कूद में काफी शौक है. दा इंडियन वायर के लिए विकास हिंदी व्याकरण एवं अन्य भाषाओं के बारे में लिख रहे हैं.

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *