Thu. Dec 1st, 2022
    वोडाफोन आईडिया

    वोडाफोन-आईडिया ने हाल ही में अपने रेडियो नेटवर्क की हरियाणा सर्किल में मजबूत होने की घोषणा की। ख़ास बात यह है की पूरे हरियाणा में अपने नेटवर्क को बेहतर बनाने का यह काम वोडाफोन ने केवल 2 महीनो के अन्दर ख़त्म कर दिया।

    वोडाफोन-आईडिया का बयान :

    हरियाणा में नेटवर्क के सदृढ़ होने के काम के पूरे होने पर वोडाफोन-आईडिया ने बयान दिया की वर्तमान में विश्व भर में केवल 8 सर्किलों में में ही नेटवर्क को सदृढ़ करने का काम पूरा हुआ है। इन आठ सर्किलों में से हरियाणा भी एक है यह एक हर्ष का विषय है। इसके साथ ही वोडाफोन ने बयान दिया की देश के दुसरे सर्किलों में भी नेटवर्क को मजबूत करने का काम जोरों पर  है और जल्द ही दुसरे राज्यों में भी यह पूरा हो जाएगा।

    वोडाफोन आईडिया ने बताया की हरियाणा के अलावा हर सर्किल में क्लस्टर दर क्लस्टर नेटवर्क को सदृढ़ करने का काम किया जा रहा है। इससे वोडाफोन अपन ग्राहकों को कालिंग और इन्टरनेट के लिए एक बेहतर कनेक्टिविटी प्रदान करने का प्रयास कर रहा है।

    इस पर वोडाफोन के बिज़नस हेड ने बयान दिया की नेटवर्क की सदृढ़ता से करीब 1 करोड़ से ज्यादा ग्राहकों को बेहतर सुविधाएं मिलेंगी और वो एकीकृत नेटवर्क का लाभ उठा पाएंगे। हम बहुत तेजी से नए जमाने की तकनीकों का विकास कर रहे हैं और हरियाणा में हम भविष्य के लिए तैयार नेटवर्क का निर्माण कर रहे हैं।

    मजबूत नेटवर्क के साथ वोडाफोन कर रहा तेज वृद्धि :

    यह उल्लेखनीय है की वोडाफोन इंडिया और आइडिया सेल्युलर का प्रस्तावित विलय 31 अगस्त, 2018 को किया गया था और तभी से ही संयुक्त इकाई ने नेटवर्क का भी विलय करना शुरू कर दिया था। देश के कई हिस्सों में, वोडाफोन के ग्राहक अपने नेटवर्क को आइडिया सेल्युलर के नेटवर्क पर देख रहे हैं और कई ग्राहक अपने वोडाफोन नेटवर्क पर आईडिया सेलुलर देख रहे हैं।

    बतादें की नेटवर्क मजबूती के नाम पर वोडाफोन अपने स्वयं के और आईडिया सेलुलर के टावर को मिलाकर एक कर रहा है जिससे टावर की संख्या बढे और वोडाफोन के नेटवर्क की पहुँच भी। अतः यह काम अभी तक हरियाणा में पूरा हो चूका है।

    हरियाणा सर्कल में वोडाफोन आइडिया के नेटवर्क कवरेज की बात करें तो यह 145 शहरों और 6520 गांवों में उपलब्ध है, जिसमें 99.5% जनसँख्या आती हैं। वोडाफोन आइडिया की क्षेत्र की 76.08% आबादी में 4 जी कवरेज है। केवल दो महीनों के समय में वोडाफोन ने हरियाणा के 22 जिलों और 137 शहरों में अपने नेटवर्क की पहुँच बनाई है।

    वोडाफोन के बड़ी संख्या में कम हो रहे ग्राहक :

    बतादें की जिओ के आने से टेलिकॉम सेक्टर में बड़ी हलचल हुई थी और उसी के चलते वोडाफोन और आईडिया ने एक दुसरे के साथ विलय करने का फैसला लिया था। विलय करते ही सबसे पहले उन्होंने मिनिमम रिचार्ज प्लान की योजना शूरू की थी लेकिन ग्राहकों ने इसे पसंद नहीं किया।

    इसके परिणामस्वरूप करोड़ों की संख्या में ग्राहक वोडाफोन को छोड़कर जिओ के परवान चढ़ गए। इसके बाद से ही वोडाफोन सकते में आ गया है लेकिन अभी भी इसके ग्राहक कम होते जा रहे हैं। इसलिए अब यह टैरिफ रेट में जिओ से प्रतिस्पर्धा ना करके दुसरे पहलुओ पर ध्यान दे रहा है।

    इन्ही सुधारात्मक उपायों के अंतर्गत यह अपनी नेटवर्क मजबूत कर रहा है और पानी 4G कनेक्टिविटी में भी सुधार कर रहा है। इसके साथ ही वोडाफोन के कन्धों पर पिछले वर्ष का लगभग बड़ा कर्ज भी है जिसे ख़त्म करने के लिए यह अपनी परिसंपत्तियां बेचने पर विचार कर रहा है।

    By विकास सिंह

    विकास नें वाणिज्य में स्नातक किया है और उन्हें भाषा और खेल-कूद में काफी शौक है. दा इंडियन वायर के लिए विकास हिंदी व्याकरण एवं अन्य भाषाओं के बारे में लिख रहे हैं.

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *