कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला करते हुए आरोप लगाया कि वह कोविड-19 महामारी के दौरान टीके, ऑक्सीजन और दवाओं के साथ  खुद भी गायब हैं और जो सिर्फ बचा है वह है सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट और पीएम की तस्वीरें।

उन्होंने यह भी कहा कि भारत सरकार ने महामारी के दौरान नागरिकों के प्रति अपने कर्तव्य को “छोड़ दिया” है और लोगों को अपनी मदद खुद ही करनी पड़ रही है।

कांग्रेस के पूर्व प्रमुख कोरोना वायरस स्थिति से निपटने के लिए प्रधानमंत्री पर समय-समय पर हमला करते रहे हैं और दूसरी तरफ कोविड-19 की लहर के चलते मामलों की संख्या में वृद्धि के बीच देश में ऑक्सीजन, दवाओं और टीकों की कमी के लिए भी केंद्र की आलोचना की गई है।

“टीके, ऑक्सीजन और दवाओं के साथ-साथ प्रधानमंत्री भी गायब हैं। सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट, दवाओं पर जीएसटी (वस्तु एवं सेवा कर) और यहां-वहां प्रधानमंत्री की तस्वीरें ही सिर्फ बाकी हैं”- राहुल गांधी ने अपने हिंदी में किए गए ट्वीट में कहा

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी सहित 12 विपक्षी दलों के नेताओं ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर कोविड-19 के खिलाफ मुफ्त सामूहिक टीकाकरण अभियान चलाने के लिए और चल रहे सेंट्रल विस्टा परियोजना को स्थगित करने मांग की थी। 

राहुल गांधी ने एक अन्य ट्वीट में कहा की “जब कोई देश संकट का सामना करता है, तो सरकार को खुद से पूछना चाहिए कि क्या वह लोगों से ले रही है या उन्हें दे रही है। यह मददगार है या हानिकारक है। लेकिन भारत सरकार ने अपना कर्तव्य त्याग दिया है, इसलिए भारत की जनता ही जरूरतमंद लोगों के लिए एक साथ आ गई है।  इस महामारी में भारत एकजुट खड़ा है”।

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने भी गंगा में तैर रहे शवों को लेकर सरकार पर साधा निशाना

उत्तर प्रदेश में रेत में शवों के दबे होने की खबर का हवाला देते हुए उन्होंने हिंदी में एक ट्वीट में कहा  की “इस नए भारत में ऐसा समय आ गया है कि नदियों में तैरती लाशें भी सरकार को दिखाई नहीं  दे रही हैं। इस घटना पर शर्म आती है”।

3,62,727 कोरोना वायरस संक्रमण मामलों की एक दिन की वृद्धि के साथ, भारत का कोविड-19 टैली गुरुवार को 2,37,03,665 हो गया, जबकि इस महामारी के कारण मरने वालों की संख्या बढ़कर 2,58,317 हो गई है। 


गुरु गोविंद सिंह इंद्रप्रस्थ विश्वविद्यालय, दिल्ली से LLB छात्र

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *