Sat. Mar 2nd, 2024
    वेनेजुएला

    वेनेजुएला के राष्ट्रपति निकोलस मादुरो और विपक्ष के नेता जुआन गुइडो के बीच बारबाडोस में वार्ता जारी है। नॉर्वे का विदेश मंत्रालय वेनेजुएला में राजनीतिक सुलह तक पंहुचने में मध्यस्थता से मदद कर रहा है। रायटर्स के मुताबिक, नॉर्वे ने वार्ता की प्रगति के बाबत यह दुर्लभ बयान दिया है।

    वेनेजुएला में राजनीतिक संकट का हल

    अधिकारिक बयान में नॉर्वे के विदेश मंत्रालय ने कहा कि “वेनेजुएला में केन्द्रीय राजनीतिक कर्ताओं के प्रतिनिधियों के बीच ओस्लो में पहल  के बाद से वार्ता जारी है इसका इरादा निरंतर कार्य करने और कुशलता से करने का है।” बीते महीने मादुरो ने कहा रहा कि “दुसरे चरण की वार्ता विपक्षियों के साथ नॉर्वे की राजधानी ओस्लो में आयोजित है। कई महीनो से दोनों पक्षों के बीच गोपनीय बातचीत जारी है।”

    मादुरो और गुइडो ने मई में ओस्लो में अपने प्रतिनिधियों को भेजा था, जिसके लिए नॉर्वे की सरकार ने प्रोत्साहित किया था। हालाँकि वह किसी समझौते पर पंहुचने में असफल रहे थे। मादुरो के हवाले से प्रेस सर्विस ने कहा कि “29 मई, विपक्षियों के साथ वार्ता के दूसरा दिन नॉर्वे में खत्म हो गया था। मंत्री जोर्जे रोद्रिगुएज़, विदेश मंत्री जोर्ज अर्रेअज़ा और गवर्नर हेक्टर रोद्रिगुएज़ भी इस वार्ता में शामिल थे।”

    नॉर्वे की सरकार ने बताया कि सभी पक्ष वेनेजुएला के लिए संवैधानिक समाधान और आम सहमती का हल निकालने के लिए इच्छुक है। वेनेजुएला आर्थिक और राजनीतिक संकट से जूझ रहा है। दक्षिणी अमेरिकी राष्ट्र आर्थिक और राजनीतिक संकट से जूझ रहा है। देश में राजनीतिक संकट इस वर्ष के शुरू में आया था जबकि आर्थिक संकट एक दशक पुराना है।

    वेनेजुएला में मादुरो को सत्ता से हटाने के लिए विपक्ष ने एक अभियान की शुरुआत की थी। संसद में विपक्ष के नेता ने खुद को देश का अंतरिम राष्ट्रपति घोषित कर दिया था और सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया था। अमेरिका ने तत्काल गुइडो को समर्थन दिया था।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *