Mon. May 27th, 2024
    अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प

    डोनाल्ड ट्रम्प ने बुधवार को मांग की कि “वेनेजुएला से रूस अपने सैनिकों को हटा ले और निकोलस मादुरो को हटाने के लिए सैन्य कार्रवाई से इंकार नहीं कर रहे हैं।” रूस ने वेनेजुएला में सैन्य उपकरण और सैनिकों की तैनाती की है और डोनाल्ड ट्रम्प मौजूदा शासन के विरोध में हैं।

    न्यूयॉर्क टाइम्स के मुताबिक व्हाइट हाउस में वेनेजुएला के विपक्षी नेता जुआन गुइदो की पत्नी के साथ बातचीत में डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा कि “रूस को बाहर जाना ही होगा।” जुआन गुइदो को अमेरिका सहित 50 देशों ने वेनेजुएला का अंतरिम राष्ट्रपति के रूप में मान्यता दे रखी है।

    रूस के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता मारिया ज़खारोवा ने डोनाल्ड ट्रम्प की मांग को खारिज कर दिया है। उन्होंने पूछा कि क्यों अमेरिकी सैनिक अभी तक सीरिया के कई भागों में मौजूद है, जहां राष्ट्रपति असद के शासन को रूस का समर्थन प्राप्त है।

    उन्होंने कहा कि “अमेरिका को सीरिया से एक माह पहले सैनिकों की वापसी कर लेनी चाहिए थी। किसी देश की तक़दीर का निर्णय करने से पूर्व, मेरा सुझाव है कि आप अंतर्राष्ट्रीय समुदाय से किये अपने वादों को पूरा करे।” रूस ने शनिवार को वेनेजुएला में 100 सैनिको और सैन्य उपकरण से लदे दो विमान भेजे थे।

    russia troops venezuela
    रूस नें अपनी सेना को वेनेजुएला में तैनात कर दिया है

    जुआन गुइदो की पत्नी गुरूवार को अमेरिका की प्रथम महिला मेलानिया ट्रम्प से मुलाकात करेंगी। पत्रकारों द्वारा वेनेजुएला पर प्रतिबंधों के ट्रम्प ने कहा कि “उन पर अभी काफी दबाव है। उनके पास पैसा नहीं है न ही तेल है। उनके पास कुछ भी है। वह अभी दबाव में डूब चुके हैं, उनके पास बिजली भी नहीं है। सभी विकल्प खुले हुए हैं।”

    व्हाइट हाउस में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन ने कहा कि “उन्होंने सब स्पष्ट कर दिया है कि सभी विकल्प खुले हुए हैं। वेनुजुएला की समस्या के समाधान के लिए जल्द से जल्द किसी निर्णय पर पंहुचना बेहद महत्वपूर्ण है।”

    माइक पोम्पिओ ने कहा कि “मादुरो के साथ बातचीत की अमेरिका कोई योजना नहीं बना रहा है। मैं कहना चाहता हूँ कि इस वक्त मादुरो से बातचीत करने का कोई तुक नहीं बनता है। यह समय मादुरो को सत्ता छोड़ने का है।”

    प्रतिनिधि अलबीओ सीरेस ने पूछा कि “इस संकट से उभारने के लिए मदद की पेशकश करने वाले मेक्सिको और नॉर्वे ने मजदूरों को वेनुजुएला से निकालने की सोची है।” इस पर माइक पोम्पिओ ने कहा कि “हाँ, मैंने निजी तौर पर दोनों सरकारों से बातचीत की है। रूस के सैन्य विमानों का वेनुजुएला में आगमन को अमेरिका बिन बुलाये उकसावे के तौर पर देखता है। हम रूस से मादुरो सरकार का समर्थन बंद करने की मांग करते हैं।”

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *