Sat. Mar 2nd, 2024
    पैराग्वे पंहुचे वैंकेया नायडू

    भारत के उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने बुधवार को पैराग्वे पंहुचे गए हैं। पैराग्वे में उनका इस्तकबाल विदेश मामलों के उप मंत्री हूगो सेग्यूर केबेलरो ने किया है। मंगलवार को उप राष्ट्रपति दो राष्ट्रों पैराग्वे और कोस्टा रिका के दौरे पर गए थे। उन्होने दोनो लैटिन अमेरिकी देशों के साथ द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने के लिए बातचीत की है।

    पैराग्वे की यात्रा करने वाले इतिहास में भारत के पहले उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू हैं। इस यात्रा के दौरान नायडू दोनो देशों को यूएन में भारत की स्थायी सदस्यता का समर्थन करने के बाबत रजामंद करेंगे। इसका अलावा भारत के उप राष्ट्रपति दोनो देशों के साथ कारोबार, संस्कृति और विज्ञान व तकनीक विभिन्न जैसे क्षेत्रों में संबंधों को मजबूत करेंगे।

    दो लैटिन अमेरिकी देशो की आठ दिनों की यात्रा पर भारत के उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू के साथ संस्कृति और पर्यटन राज्य मंत्री अल्फोंस जोन्स, संसद के सदस्य राम कुमार कश्यप और अन्य वरिष्ठ सरकारी अधिकारी भी गए हैं। उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू पैराग्वे की यात्रा के दौरान नेशनल पन्थीओन ऑफ़ हीरोज और सैनिकों को श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे।

    इसके बाद उपराष्ट्रपति पैराग्वे के राष्ट्रपति मारिओ एब्डो से मुलाकात करेंगे। इसके अलावा वह वैकैया नायडू अपने समकक्षी के साथ भी बातचीत करेंगे और उच्च स्तरीय प्रतिनिधि वार्ता में शरीक होंगे, साथ ही उनके सम्मान ने आयोजित दोपहर के भोज में भी शामिल होंगे।

    इसके बाद उपराष्ट्रपति राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष सिल्वो ओवेलेर से भी मुलाकात करेंगे और पैराग्वे में भारतीय समुदाय द्वारा आयोजित रिसेप्शन में भी शामिल होंगे। वेंकैया नायडू कारोबारी समुदाय से भी बातचीत करेंगे और पैराग्वे में कारोबार और निवेश के अवसरों पर बनी प्रेजेंटेशन भी देखेंगे।

    सेन जोस पहुंचने के बाद उपराष्ट्रपति को डॉक्टर ऑफ़ फिलोसॉफी की डिग्री से नवाज़ा जायेगा। यह नियम कानून, लोकतंत्र और शान्ति व विकास के कार्यों के लिए दी जाएगी। 9 मार्च को कोस्टा रिका के कांग्रेस के अध्यक्ष कैरोलिना हिडैल्गो हर्रेरा नायडू से मुलाकात करेंगे। उपराष्ट्रपति कोस्टा रिका के पहले उपराष्ट्रपति एपसी कैम्पबेल बर्र द्वारा आयोजित भोज में शामिल होंगे।

    इस बाद उपराष्ट्रपति भारतीय समुदाय द्वारा आयोजित रिसेप्शन में शरीक होंगे और 11 मार्च को भारत वापस आ जायेंगे।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *