Fri. Sep 30th, 2022
    विश्व, भारत को आर्थिक विकास के इंजन के रूप में देखता है: वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल

    वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल ने आज कहा कि दुनिया अब भारत को आर्थिक विकास के इंजन के रूप में देखती है। व्यापारी उद्यमी सम्मेलन में एक सभा को संबोधित करते हुए गोयल ने कहा, विकसित देश अब भारत के साथ व्यापार सौदों पर हस्ताक्षर करने के इच्छुक हैं।

    वाणिज्य मंत्री ने कहा, 2014 से पहले, भारतीय अर्थव्यवस्था को नाजुक माना जाता था और निवेशकों को भारत के साथ व्यापार करने के बारे में संदेह था।

    पारदर्शिता और व्यापार करने में आसानी की आवश्यकता पर जोर देते हुए, मंत्री ने व्यापारियों और उद्यमियों को आश्वासन दिया कि सरकार उन व्यापारियों का पूरा समर्थन करेगी जो किसी भी प्राधिकरण द्वारा उत्पीड़न के खिलाफ आवाज उठाते हैं।

    उन्होंने व्यापारियों से लोगों और व्यवसायों के अनुपालन बोझ को कम करने के लिए सरकार के साथ काम करने का आह्वान किया और कहा कि वे एथिकल ट्रेड प्रैक्टिस का सख्ती से पालन करें। 

    उन्होंने कहा कि कारोबार सुगमता में सुधार के लिए अनावश्यक, बोझिल और प्रतिकूल कानूनों और विनियमों को जड़ से खत्म किया जाना चाहिए।

    उन्होंने व्यापारियों से भारत की पेशकश की वस्तुओं और सेवाओं की गुणवत्ता को प्राथमिकता देने के लिए कहा। गोयल ने युवाओं को आगे आने और नए विचारों के साथ भारत की विकास गाथा को एक युवा ऊर्जा देने के लिए प्रोत्साहित करने की आवश्यकता को भी रेखांकित किया।

    उन्होंने कहा, प्रधानमंत्री मोदी द्वारा दिए गए ‘वोकल फॉर लोकल’ के आह्वान को देश के युवाओं को अवश्य ही लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि हमें अधिक से अधिक महिलाओं को व्यापारी और उद्यमी बनने के लिए प्रोत्साहित करना चाहिए।

    केंद्रीय मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी द्वारा किए गए ‘वोकल फॉर लोकल’ के आह्वान को देश के युवाओं को अवश्य आगे बढ़ाना चाहिए। उन्होंने कहा कि हमें अधिक से अधिक महिलाओं को व्यापारी और उद्यमी बनने के लिए भी प्रोत्साहित करना चाहिए।

    कल्याणकारी नीतियों की सराहना करते हुए गोयल ने कहा कि इन नीतियों से गरीबों को ग्राहकों के रूप में उभरने में सहायता मिल रही है और इससे भारत की जनसंख्या सफलतापूर्वक उसकी एक बड़ी ताकत के रूप में परिवर्तित हो गई है।

    उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के अथक परिश्रम से देश के हर घर में रसोई गैस, पेयजल, बिजली और शौचालय जैसी बुनियादी सुविधाओं तक पहुंच सुनिश्चित हुई है और हर गांव में इंटरनेट की पहुंच हो गई है।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published.