Fri. Jun 14th, 2024
    जसप्रीत बुमराह

    नई दिल्ली, 16 मई (आईएएनएस)| वनडे क्रिकेट में दो नई गेंदों के आने से मुकाबला ज्यादातर बल्लेबाजों के पक्ष में चला गया है। तेज गेंदबाज अब रिवर्स स्विंग से ज्यादा विकेट नहीं ले पा रहे हैं, जैसा कि 90 और 2000 की शुरुआत में होता था। इस कारण से पिछले कुछ वर्षो से 300 या उससे ज्यादा का स्कोर बनने लगा है।

    इंग्लैंड में होने वाले आगामी विश्व कप में वहां की सूखी पिचें और गर्म मौसम, तेज गेंदबाजों के लिए और ज्यादा चुनौतीपूर्ण साबित होने वाला है।

    लेकिन कुछ ऐसे भी तेज गेंदबाज हैं, जो आगामी विश्व कप में बल्लेबाजों को मुसीबत में डाल सकते हैं।

    जसप्रीत बुमराह (भारत) : मौजूदा समय में कई लोगों की नजर में दुनिया के सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज बुमराह तीसरी बार भारत को विश्व कप जीताने में मुख्य भूमिका निभा सकते हैं।

    वनडे रैंकिंग में दुनिया के नंबर एक गेंदबाज बुमराह को डेथ ओवरों का विशेषज्ञ माना जाता है। उनका अनऑर्थोडोक्स एक्शन और गति तथा उछाल, बल्लेबाजों को दबाव में ला सकता है।

    बुमराह हाल में आईपीएल में शानदार फॉर्म में थे, जहां उन्होंने 16 मैचों में 19 विकेट चटकाए थे।

    कगिसो रबाडा (दक्षिण अफ्रीका) : नवंबर 2015 में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण करने के बाद से रबाडा ने अपनी गति, उछाल और स्विंग से टीम को कई मौकों पर विकेट निकाल के दिए हैं।

    उन्होंने आईपीएल के इस सीजन में दिल्ली कैपिटल्स के लिए 12 मैचो में 25 विकेट चटकाए थे। रबाडा अभी चोट से वापसी कर रहे हैं। दक्षिण अफ्रीका को अगर अपने ऊपर लगे चोकर के धब्बे को हटाना है तो रबाडा के साथ-साथ डेल स्टेन और क्रिस मोरिस की भी महत्वपूर्ण भूमिका होगी।

    मिशेल स्टार्क (आस्ट्रेलिया) : बांए हाथ के तेज गेंदबाज स्टार्क आस्ट्रेलिया को खिताब बचाने में अहम भूमिका निभा सकते हैं। वह पिछले विश्व कप में 22 विकेटों के साथ प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट रहे थे।

    हालांकि विश्व कप के बाद से वह अपने प्रदर्शन को दोहराने में विफल रहे हैं। पिछले चार साल के दौरान वह कई बार चोटिल हुए हैं।

    ट्रेंट बाउल्ट (न्यूजीलैंड) : कीवी टीम के प्रमुख तेज गेंदबाज बाउल्ट ने पिछले विश्व कप में भी शानदार प्रदर्शन किया था और वह स्टॉर्क के साथ सर्वाधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज थे।

    बाउल्ट, दुनिया के किसी भी पिच पर अपनी गेंदों को दोनों ओर घुमाने की क्षमता रखते हैं। हालांकि हाल के समय में उनके फॉर्म में गिरावट देखने को मिली है।

    हसन अली (पाकिस्तान) : 2017 के आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी में 13 विकेट लेकर पाकिस्तान को चैंपियन बनाने वाले अली किसी भी समय कप्तान सरफराज अहमद को विकेट दिला सकते हैं।

    उन्होंने 44 मैचों में अबतक 77 विकेट हासिल किए हैं और कोच मिकी आर्थर तथा सरफराज को उम्मीद है कि अली चैंपियंस ट्रॉफी के प्रदर्शन को विश्व कप में भी दोहराने में कामयाब हो पाएंगे।

    By पंकज सिंह चौहान

    पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *