Fri. May 24th, 2024
    केएल राहुल

    जब प्रतिभा की बात आती है, तो कई लोग यह सवाल नहीं कर सकते हैं कि भारत के बल्लेबाज केएल राहुल मेज पर क्या लेकर आते हैं। लेकिन इंडियन प्रीमियर लीग के इस संस्करण की शुरुआत में कुछ विफलताओं के कारण आलोचकों ने उनकी फॉर्म को लेकर सवाल उठाए, जैसी की उनके इस प्रदर्शन से वह आईसीसी विश्वकप के लिए उड़ान नबी भर पाएंगे। आखिरकार, इसके बाद भी किंग्स इलेवन पंजाब के बल्लेबाज विश्व की टीम में नंबर चार पर जगह बनाने की दौड़ में शामिल है।

    आलोचकों को उनके खेल के बारे में बताने की अनुमति नहीं है, राहुल ने शनिवार को मोहाली में मुंबई इंडियंस के खिलाफ मैच जीतने के साथ अपनी बल्लेबाजी से आलोचको को करार जबाव दिया। उनकी 71 रनों की नाबाद पारी ने न केवल किंग्स इलेवन पंजाब को जीत दिलाई, बल्कि एक बार फिर दिखाया कि यह युवा खिलाड़ी सिर्फ लंबे समय के लिए नही चूंक सकता।

    आईएएनएस से बात करते हुए, राहुल ने कहा आईपीएल जैसे एक लंबे टूर्नामेंट में एक दो मैच में अगर तुम विफल रहते हो तो कोई बड़ी बात नही है क्योकि आप आगे अपनी एक इनिंग से चीजे बदल सकते हो। इससे महत्वपूर्ण यह है कि, उन्होने कहा है वह विश्व के लिए नंबर चार के स्पॉट के बारे में नही सोच रहे है यह उनके खेल में बाधा डालेगा।

    केएल राहुल ने कहा, ” एक खिलाड़ी के रुप में हमारी लिए जो महत्वपूर्ण है वह यह है कि हमें अपनी आईपीएल फ्रेंचाईजी के लिए प्रदर्शन करना है। यह भी महत्वपूर्ण है कि हमें वर्तमान में जीना चाहिए। अगर आप अच्छा करते है तो आप खुद व खुद सेलेक्शन की रेस में शामिल हो जाओगे। अगर आप चयन के बारे में सोचते है तो आप अपने ऊपर ही दबाव डाल रहे है। मैं ऐसा नही हूं जो विश्वकप के स्थान के बारे में सोच रहा हूं। मैं बस किंग्स इलेवन पंजाब की टीम के लिए खेलने चाहता हूं और आईपीएल का आनंद लेना चाहता हूं। टी-20 क्रिकेट आनंद लेने के लिए ही बना है।”

    जब कुछ असफलताओं के बाद उम्मीद और आलोचना के दबाव की बात आती है, तो राहुल ने कहा कि वह ऐसा नहीं करने देते हैं जो लोग बाहर कह रहे हैं वह उनसे मिलते है और वह कड़ी मेहनत करने की कोशिश करते है।

    उन्होने कहा, ” मैं दबाव और चीजो के बारे में कुछ नही जानता। यहा अभी बस दो मैच हुए है तो मेरे लिए कही जाने वाली बातो पर मैं ध्यान नही देता। हां, यह हमेशा निराशाजनक होता है जब आप स्कोर नही कर पाते और टीम को अच्छी शुरुआत नही दे पाते। लेकिन अभी भी यह एक लंबा टूर्नामेंट बाकि है और यहा केवल कठिन परिश्रम की जरूरत है और एक अच्छी पारी आपको मजबूत बना देती है।”

    कुछ ऐसी भी बाते की गई थी की राहुल एक ही शॉर्ट को कई बार खेलकर आउट होते है और यही उनकी असफलताओ का कारण है। लेकिन ओपनर ने इस बात का जबाव दिया और कहा कि टी-20 क्रिकेट में आक्रमक क्रिकेट खेलना ज्यादा मायने रखता है।

    उन्होने कहा, ” यह टी-20 क्रिकेट है, यहां आप कुछ नए शार्ट खेलने का प्रयास कर सकते है। आपको यहा पहले 6 ओवरो में अटैक करना होता है और 6 ओवरो का सही से उपयोग करना होता है औऱ परिणामस्वरुप अगर कुछ शार्ट गलत निकल जाते है तो यह चीजे आगे भरी जा सकती है। आपको इन चीजो के बारे में चिंता करने की जरूरत नही होती है और आपको अपनी गलतियो से सीखने को मिलता है। आपको यहा पर टी-20 क्रिकेट में आक्रमक होकर खेलने की जरुरत होती है और आप किसी प्रकार से नही खेल सकते। आपको अपना सर ऊपर रखकर आगे बढ़ना चाहिए।”

    विकेटकीपर की भूमिका के लिए केएल राहुल ने कहा, ” ज्यादातर टीम रचना के लिए। यह एक टीम का मैच होता है ख़ास तौर पर जब आप गेंदबाजी नही कर सकते है तो विकेटकीपर की भूमिका में आप टीम के लिए मूल्य जोड़ सकते है। मैंने इससे पहले पिछले साल आरसीबी के लिए विकेटकीपिंग की है। यह कुछ ऐसा है जिसका आनंद में टी-20 क्रिकेट में लेता हूं।”

    By अंकुर पटवाल

    अंकुर पटवाल ने पत्राकारिता की पढ़ाई की है और मीडिया में डिग्री ली है। अंकुर इससे पहले इंडिया वॉइस के लिए लेखक के तौर पर काम करते थे, और अब इंडियन वॉयर के लिए खेल के संबंध में लिखते है

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *