दा इंडियन वायर » खेल » विराट कोहली ने टेस्ट टीम की कप्तानी छोड़ी, दक्षिण अफ्रीका से सीरीज हारने के बाद लिया फ़ैसला
खेल

विराट कोहली ने टेस्ट टीम की कप्तानी छोड़ी, दक्षिण अफ्रीका से सीरीज हारने के बाद लिया फ़ैसला

विराट कोहली (Virat Kohli) ने शनिवार शाम को भारतीय टेस्ट टीम की कप्तानी छोड़ने की घोषणा की। इसके लिए उन्होंने सोशल मीडिया ट्विटर पर अपना वक्तव्य जारी किया। अप्रत्याशित रूप से आये इस फैसले से खेल जगत हलचल में है।

बता दें, पिछले दिनों विराट ने T20 टीम की कप्तानी ICC T20 वर्ल्ड कप के पहले छोड़ने का फैसला किया था। उसके बाद भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने उनसे एकदिवसीय टीम की भी कप्तानी ले लिया था और इस दोनों फॉर्मेट के लिए रोहित शर्मा (Rohit Sharma) को नया कप्तान बना दिया गया था।

क्या लिखा कोहली ने ट्विटर पर…

विराट ने एक नपा-तुला, परंतु भावुक, संदेश लिखते हुए अपने इस फैसले से सबको अवगत करवाया। उन्होंने लिखा- “मैंने 7 सालों तक टीम को कड़ी मेहनत और दृढ़ता से हर दिन टीम को सही दिशा में ले जाने की कोशिश की। मैंने अपना काम सम्पूर्ण ईमानदारी से किया और कुछ भी शेष नहीं छोड़ा। हर सफर को कहीं ना कही रुकना होता है और मेरे लिये, टेस्ट कप्तान के रूप में ये वक़्त अभी आ गया है।”
विराट ने आगे लिखा, ” मैं हर काम जो भी करता हूँ, उसमें अपना 120% देने की कोशिश करता हूँ। मैं अपने फैसले को लेकर पूरी तरह से साफ हूँ।”
उन्होंने BCCI को शुक्रिया अदा किया। साथ भी पूर्व कोच रवि शास्त्री और पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को भी धन्यवाद किया।

कैसा रहा कप्तानी का सफ़र?

कोहली को साल 2014 में उस वक़्त कप्तान बनाया गया जब बीच दौरे में महेन्द्र सिंह धोनी ने कप्तानी छोड़ने के साथ ही टेस्ट क्रिकेट को अलविदा कह दिया था। ऐसे में टीम को संभालना और एकजुट रखना बहुत ही मुश्किल काम था। परंतु टेस्ट कप्तान के तौर पर कोहली निःसंदेह पूर्ण-रूपेण खरे उतरे।

कोहली का कप्तान के तौर पर रिकॉर्ड (Virat’s records as Test Captain) काबिल-ए-तारीफ है। उन्होंने 68 मैचों में भारत की कप्तानी की जिसमें से 40 जीत, 17 हार और 11 मैच ड्रॉ रहे। उनका यह रिकॉर्ड उन्हें न सिर्फ भारत के सफलतम कप्तान बनाता है बल्कि दुनिया के चुनिंदा कप्तानों में गिनती की जाती है।

विराट की कप्तानी में भारत ने पहली बार ऑस्ट्रेलिया को ऑस्ट्रेलिया में जाकर किसी टेस्ट सीरीज में मात दी। टीम ने विराट के कप्तानी में ही ICC टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल तक का सफ़र तय किया परंतु न्यूज़ीलैंड के हाथों भारत को करारी हार का सामना करना पड़ा।

विराट कोहली की कप्तानी में भारत ने अपनी धरती पर एक भी टेस्ट सीरीज नही गवाई है और यह रिकॉर्ड अपने आप मे उनके कप्तानी की कहानी को बयाँ करती है।

क्या वजह हैं जिसके कारण कोहली ने कप्तानी छोड़ी…

पहली नज़र में तो जो वजह बताई जा सकती है वह है दक्षिण-अफ्रीका के हाथों हुई शर्मनाक हार। पर क्या बात सिर्फ यहीं तक सीमित है; जानकर बताते हैं कि ऐसा नहीं है।

दरअसल पिछले दिनों जब विराट को BCCI ने एकदिवसीय टीम की कप्तानी से हटाया था तो काफी बवाल हुआ। उसके बाद से ही कोहली और बोर्ड कब बीच के रिश्ते थोड़े तल्ख़ बताया जा रहा है। ऐसे में विराट द्वारा अचानक  लिये गए फैसले के पीछे की वजहों को लेकर तमाम अटकलें लगाई जा रही है।

एक थ्योरी ये भी चल रही है कि क्या राहुल द्रविड़ के हेड-कोच बनाये जाने के कारण विराट असहज हैं?? बता दें कि विराट कोहली कोच के साथ रिश्तों को लेकर पहले भी विवादों में रहे हैं जब अनिल कुंबले जैसे दिग्गज को हेड कोच के पद से इस्तीफ़ा देना पड़ा था।

ख़ैर, विराट के इस फैसले ने तहलका तो मचा दिया है। अब इसके पीछे क्या वजह रही है, आने वाले वक्त में यह देखना बेहद दिलचस्प होगा।

कौन बन सकते हैं अगले कप्तान?

कोहली के कप्तानी छोड़ने के बाद फ़िलहाल जिस नाम पर सबसे ज्यादा आसार जताए जा रहे हैं, वह है रोहित शर्मा। रोहित अब टीम इंडिया में हर फॉर्मेट में निरंतर सदस्य भी हैं और अभी हाल ही में उनको टेस्ट टीम की उपकप्तानी भी दी गयी थी। ऐसे में रोहित  सबसे अव्वल दावेदार माने जा रहे हैं।

वैसे रोहित के अलावे विकेटकीपर बल्लेबाज रिषभ पंत और दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर रोहित की अनुपस्थिति में टीम की उपकप्तानी करने वाले केएल राहुल का नाम भी चर्चा में है। हालाँकि इन दोनों नाम पर BCCI अभी कप्तानी का भरोसा कर सकती है, इसकी संभावना कम नजर आती है।

About the author

Saurav Sangam

Add Comment

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!

Want to work with us? Looking to share some feedback or suggestion? Have a business opportunity to discuss?

You can reach out to us at [email protected]