Tue. Apr 16th, 2024
    विक्की कौशल ने शुरू की 'द इमोर्टल अश्वत्थामा' की तैयारी, अगले साल शुरू होगी शूटिंग

    साल की शुरुआत में, ‘उरी’ जैसी ब्लॉकबस्टर देने के बाद, निर्देशक आदित्य धर और अभिनेता विक्की कौशल की जोड़ी बहुत जल्द एक दिलचस्प कहानी से हम सब को रूबरू कराने वाली है। निर्देशक-अभिनेता की जोड़ी जल्द ही ‘द इमोर्टल अश्वत्थामा‘ के लिए टीम बना रही है, एक ऐसी कहानी जो महाभारत के अश्वत्थामा नामक पौराणिक चरित्र के इर्द-गिर्द घूमती है, जिसमे विक्की शीर्षक भूमिका निभाएंगे।

    फिल्म की शूटिंग ग्रीनलैंड, टोक्यो, न्यूजीलैंड और नामीबिया में की जानी है, जबकि फिल्म का पोस्ट-प्रोडक्शन अमेरिका में किया जाना है और निर्देशक आदित्य पिछले 5 महीनों से इसकी स्क्रिप्ट पर काम कर रहे हैं। मुंबई मिरर की एक रिपोर्ट के अनुसार, सुपर हीरो फिल्म की शूटिंग 2020 के मध्य तक शुरू करने की उम्मीद की जा रही है। किरदार और कहानी के बारे में बोलते हुए, आदित्य धर ने खुलासा किया कि द्रोण के पुत्र होने के नाते, अश्वत्थामा एक शानदार योद्धा हैं, लेकिन अहंकारी भी हैं क्योंकि वे अमर हैं। उस समय के अन्य योद्धाओं जैसे कि अर्जुन और कर्ण की तुलना में, अश्वत्थामा के बारे में ज्यादा बात नहीं की गई है। उनकी अपूर्णता उनकी यूएसपी है और यही उनके बारे में वह पसंद करते हैं।

    https://www.instagram.com/p/B4hiBlHpoKb/?utm_source=ig_web_copy_link

    निर्देशक ने फिल्म के लिए विक्की के परिवर्तन के बारे में भी बताया और कहा कि अभिनेता को अश्वत्थामा के किरदार को निभाने के लिए वजन बढ़ाना होगा, लेकिन फिल्मांकन के दौरान उन्हें ये घटाना भी होगा। उन्होंने यह कहते हुए हमें उत्साहित कर दिया कि उनका लुक हमे पूरी तरह से आश्चर्यचकित कर देगा।

    प्रोजेक्ट से जुड़े एक सूत्र ने बताया-“उरी के बाद, मेकर्स कुछ बड़े और रोमांचित से वापसी करना चाहते थे। आदित्य इस स्क्रिप्ट पर काफी लम्बे समय से काम कर रहे हैं, उरी रिलीज़ से पहले ही और जब उन्होंने रोनी और विक्की को सुनाया, वह तुरंत फिल्म का हिस्सा बन गए। बड़े पैमाने पर बनने वाली इस फिल्म की शूटिंग साल के अंत में शुरू होगी।”

    https://www.instagram.com/p/B4AHC9Np9kS/?utm_source=ig_web_copy_link

    आपकी जानकारी के लिए बता दें, महाभारत के कुरुक्षेत्र में हुए युद्ध में, गुरु द्रोणाचार्य और कृपी के बेटे अश्वत्थामा ने पांडवो के खिलाफ कौरवों के साथ मिलकर युद्ध किया था। चिरंजीवी अश्वत्थामा अपने माथे पर एक मणि के साथ पैदा हुए थे जिसने उन्हें मनुष्य के नीचे हर जीवित प्राणी पर अधिकार दिया था और उन्हें भूख, प्यास और थकान से बचाता था।

    By साक्षी बंसल

    पत्रकारिता की छात्रा जिसे ख़बरों की दुनिया में रूचि है।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *