बुधवार, अक्टूबर 16, 2019

अब वरिष्ठ एसबीआई खाताधारकों को घर बैठे मिलेगी सभी सुविधाएँ; बैंक नें निकाली नयी सुविधा

Must Read

महिला फुटबाल : भारत ने जीता सैफ अंडर-15 महिला चैंपियनशिप खिताब

थिम्पू (भूटान), 16 अक्टूबर (आईएएनएस)। भारतीय महिला फुटबाल टीम ने यहां बांग्लादेश को पेनल्टी शूटआउट में 5-3 से हराकर...

भाजपा नेता निरहुआ ने पुष्पेंद्र एनकांउटर की सीबीआई जांच कराने की मांग

लखनऊ, 16 अक्टूबर (आईएएनएस)। भाजपा नेता व भोजपुरी फिल्म अभिनेता दिनेश लाल यादव निरहुआ ने पुष्पेंद्र यादव एनकाउंटर मामले...

मप्र में हवाएं सिहरन पैदा कर रहीं

भोपाल, 16 अक्टूबर (आईएएनएस)। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल सहित राज्य के कई हिस्सों में बुधवार की सुबह से...
विकास सिंह
विकास नें वाणिज्य में स्नातक किया है और उन्हें भाषा और खेल-कूद में काफी शौक है. दा इंडियन वायर के लिए विकास हिंदी व्याकरण एवं अन्य भाषाओं के बारे में लिख रहे हैं.

भारतीय रिज़र्व बैंक ने हाल ही में अपने वरिष्ठ नागरिक ग्राहकों के लिए बैंकिंग सुविधाएं घर बैठे आसानी से पाने के लिए डोरस्टेप बैंकिंग सेवा की शुरुआत की है। इसके अंतर्गत बुजुर्गों को ही नहीं बल्कि विकलांगों और निशक्तजनों को भी इस सुविधा से लाभान्वित होने का लक्ष्य है।

डोरस्टेप बैंकिंग की पूरी जानकारी :

यदि आप एसबीआई बैंक के खाताधारक है और आपकी उम्र 70 वर्षों से अधिक है, या फिर आप कोई विकलांग या निशक्तजन हैं तो आप इस सुविधा को पाने के लिए योग्य हैं। हालांकि यह सुविधा उन्ही व्यक्तियों को मिलेंगी जोकि बैंक ब्रांच के 5 किलोमीटर तक के दायरे में रहते हैं।

इस सुविधा को एक महीने के लिए प्रदान करने के लिए बैंक जहां वित्तीय लेनदेन के लिए 100 रुपये का शुल्क लेगा वहीँ गैर-वित्तीय लेंफें के लिए ग्राहकों को 60 रुपये का शुल्क देना होगा। इस सुविधा को पाने के लिए ग्राहकों को होम ब्रांच पर रजिस्टर करना होगा। यदि व्यक्ति विकलांग या निशक्तजन है तो रजिस्ट्रेशन के समय अपना मेडिकल सर्टिफिकेट भी जमा कराना होगा।

दुसरे बैंकों में भी जल्द होगी उपलब्ध :

RBI ने बैंकों को निर्देश दिया है कि वे उन लोगों को घर बैठे बैंकिंग सुविधाएं उपलब्ध कराएं जो इसे बैंक शाखाओं में नहीं आ सकते हैं। 2017 में जारी एक सर्कुलर में कहा गया है, “70 साल से अधिक उम्र के वरिष्ठ नागरिकों और अलग-अलग तरह के लोगों की दुर्बलता या दुर्बलता (मानसिक रूप से प्रमाणित पुरानी बीमारी या विकलांगता) के कारण होने वाली कठिनाइयों को देखते हुए बैंकों को सलाह दी जाती है कि वे ऐसे लोगों को घर बैठे बुनियादी बैंकिंग सुविधा प्रदान करने के आदेश पर विचार करें।

हालांकि आरबीआई द्वारा ये आदेश सभी बैंकों को दिया गया था, लेकिन एसबीआई द्वारा ही सबसे पहले इस पर कोई कदम उठाया गया है। संभवतः दुसरे बैंक भी ऐसी सुविधा लांच करने के लिए योजना बना रहे हैं और जल्द ही वरिष्ठ जनों के लिए दुसरे बैंकों द्वारा सुविधाएं जारी की जायेंगी।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

महिला फुटबाल : भारत ने जीता सैफ अंडर-15 महिला चैंपियनशिप खिताब

थिम्पू (भूटान), 16 अक्टूबर (आईएएनएस)। भारतीय महिला फुटबाल टीम ने यहां बांग्लादेश को पेनल्टी शूटआउट में 5-3 से हराकर...

भाजपा नेता निरहुआ ने पुष्पेंद्र एनकांउटर की सीबीआई जांच कराने की मांग

लखनऊ, 16 अक्टूबर (आईएएनएस)। भाजपा नेता व भोजपुरी फिल्म अभिनेता दिनेश लाल यादव निरहुआ ने पुष्पेंद्र यादव एनकाउंटर मामले की जांच सीबीआई से कराने...

मप्र में हवाएं सिहरन पैदा कर रहीं

भोपाल, 16 अक्टूबर (आईएएनएस)। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल सहित राज्य के कई हिस्सों में बुधवार की सुबह से आंशिक बादल छाए हुए हैं...

उप्र में धूप खिली, मौसम शुष्क रहने के असार

लखनऊ , 16 अक्टूबर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश की राजधानी व आस-पास के क्षेत्रों में चटक धूप खिली हुई है। मौसम विभाग के अनुसार, राज्य...

देश में 18 फीसदी बढ़ी गायों की आबादी : 20वीं पशुणना

नई दिल्ली, 16 अक्टूबर (आईएएनएस)। देशभर में गायों की आबादी में 2012 के बाद तकरीबन 18 फीसदी की वृद्धि हुई है। पशुगणना की हालिया...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -