अब वरिष्ठ एसबीआई खाताधारकों को घर बैठे मिलेगी सभी सुविधाएँ; बैंक नें निकाली नयी सुविधा

Must Read

भारत में कोरोनावायरस के मामले 1.5 लाख के करीब, पढ़ें पूरी जानकारी

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने आज कहा है कि 6,535 नए संक्रमणों के बाद भारत में कोरोनोवायरस बीमारी (COVID-19) के...

कबीर सिंह के लिए पुरुष्कार ना मिलने पर शाहिद कपूर ने दिया यह जवाब

कल मंगलवार शाम को शाहिद कपूर (Shahid Kapoor) ने ट्विटर पर अपने प्रशंसकों से बात करने की योजना बनायी...

सिक्किम के बाद लद्दाख में भारत और चीन की सेना में टकराव

सिक्किम में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच झड़प की खबरों के बाद उत्तरी सीमा पर दोनों देशों के...
विकास सिंह
विकास नें वाणिज्य में स्नातक किया है और उन्हें भाषा और खेल-कूद में काफी शौक है. दा इंडियन वायर के लिए विकास हिंदी व्याकरण एवं अन्य भाषाओं के बारे में लिख रहे हैं.

भारतीय रिज़र्व बैंक ने हाल ही में अपने वरिष्ठ नागरिक ग्राहकों के लिए बैंकिंग सुविधाएं घर बैठे आसानी से पाने के लिए डोरस्टेप बैंकिंग सेवा की शुरुआत की है। इसके अंतर्गत बुजुर्गों को ही नहीं बल्कि विकलांगों और निशक्तजनों को भी इस सुविधा से लाभान्वित होने का लक्ष्य है।

डोरस्टेप बैंकिंग की पूरी जानकारी :

यदि आप एसबीआई बैंक के खाताधारक है और आपकी उम्र 70 वर्षों से अधिक है, या फिर आप कोई विकलांग या निशक्तजन हैं तो आप इस सुविधा को पाने के लिए योग्य हैं। हालांकि यह सुविधा उन्ही व्यक्तियों को मिलेंगी जोकि बैंक ब्रांच के 5 किलोमीटर तक के दायरे में रहते हैं।

इस सुविधा को एक महीने के लिए प्रदान करने के लिए बैंक जहां वित्तीय लेनदेन के लिए 100 रुपये का शुल्क लेगा वहीँ गैर-वित्तीय लेंफें के लिए ग्राहकों को 60 रुपये का शुल्क देना होगा। इस सुविधा को पाने के लिए ग्राहकों को होम ब्रांच पर रजिस्टर करना होगा। यदि व्यक्ति विकलांग या निशक्तजन है तो रजिस्ट्रेशन के समय अपना मेडिकल सर्टिफिकेट भी जमा कराना होगा।

दुसरे बैंकों में भी जल्द होगी उपलब्ध :

RBI ने बैंकों को निर्देश दिया है कि वे उन लोगों को घर बैठे बैंकिंग सुविधाएं उपलब्ध कराएं जो इसे बैंक शाखाओं में नहीं आ सकते हैं। 2017 में जारी एक सर्कुलर में कहा गया है, “70 साल से अधिक उम्र के वरिष्ठ नागरिकों और अलग-अलग तरह के लोगों की दुर्बलता या दुर्बलता (मानसिक रूप से प्रमाणित पुरानी बीमारी या विकलांगता) के कारण होने वाली कठिनाइयों को देखते हुए बैंकों को सलाह दी जाती है कि वे ऐसे लोगों को घर बैठे बुनियादी बैंकिंग सुविधा प्रदान करने के आदेश पर विचार करें।

हालांकि आरबीआई द्वारा ये आदेश सभी बैंकों को दिया गया था, लेकिन एसबीआई द्वारा ही सबसे पहले इस पर कोई कदम उठाया गया है। संभवतः दुसरे बैंक भी ऐसी सुविधा लांच करने के लिए योजना बना रहे हैं और जल्द ही वरिष्ठ जनों के लिए दुसरे बैंकों द्वारा सुविधाएं जारी की जायेंगी।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

भारत में कोरोनावायरस के मामले 1.5 लाख के करीब, पढ़ें पूरी जानकारी

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने आज कहा है कि 6,535 नए संक्रमणों के बाद भारत में कोरोनोवायरस बीमारी (COVID-19) के...

कबीर सिंह के लिए पुरुष्कार ना मिलने पर शाहिद कपूर ने दिया यह जवाब

कल मंगलवार शाम को शाहिद कपूर (Shahid Kapoor) ने ट्विटर पर अपने प्रशंसकों से बात करने की योजना बनायी और लोगों से सवाल पूछने...

सिक्किम के बाद लद्दाख में भारत और चीन की सेना में टकराव

सिक्किम में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच झड़प की खबरों के बाद उत्तरी सीमा पर दोनों देशों के सैनिकों के बीच टकराव की...

औरंगाबाद में रेल के नीचे आने से 16 मजदूरों की मौत, 45 किमी की दूरी तय करने के बाद हुई घटना

महाराष्ट्र (Maharashtra) के औरंगाबाद (Aurangabad) शहर में शुक्रवार सुबह कम से कम 16 प्रवासी श्रमिक ट्रेन के नीचे कुचले गए, जब वे मध्य प्रदेश...

भारत में कोरोनावायरस के आंकड़े 50,000 के पार, महाराष्ट्र में सबसे भयानक स्थिति

भारत (India) में कोरोनावायरस (Coronavirus) से संक्रमित लोगों की संख्या में पिछले दो दिनों में 14 फीसदी की वृद्धि देखि गयी है। यह आंकड़ा...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -