Sun. May 19th, 2024
    लिंग

    विषय-सूचि

    लिंग की परिभाषा

    संज्ञा का वह रूप जिससे हमें किसी भी व्यक्ति, जीव, या वास्तु आदि की जाती पता चले, वे शब्द लिंग कहलाते हैं। इन शब्दों से यह पता चलता है कि वह पुरुष जाति का है या स्त्री जाती का।

    लिंग के उदाहरण

    पुरुष जाति : मोहन, सोहन, मानव, बकरा, मोर, मोहन, लड़का, हाथी, शेर, घोडा, कुत्ता, पांडा, चूहा आदि।

    स्त्री जाती: राधा, मीना, महिला, बकरी, मोरनी, लड़की, हथिनी, शेरनी, घोड़ी, चुहिया, भैंस, गाय, कबूतरी आदि।

    लिंग के भेद

    लिंग के मुख्यतः तीन भेद होते हैं :

    1. पुल्लिंग (पुरुष जाति)
    2. स्त्रीलिंग (स्त्री जाति)
    3. नपुंसकलिंग (जड़)

    1. पुल्लिंग

    वे संज्ञा शब्द जो हमें पुरुष जाति का बोध कराते हैं, वे शब्द पुल्लिंग शब्द कहलाते हैं। जैसे :

    • सजीव : घोडा, कुत्ता, गधा, आदमी, लड़का,  आदि।
    • निर्जीव : गमला, दुःख, मकान, नाटक, लोहा, फूल आदि।

    कुछ पुल्लिंग शब्द एवं उनका वाक्य में प्रयोग :

    1. आँसू : मेरी आँखों से आंसू आ रहे हैं।
    2. घाव : तीर लगने से घाव हो गया है।
    3. आइना : आइना आज साफ़ नज़र आ रहा है।
    4. अकाल : हमारे यहाँ हर साल अकाल पड़ता है।
    5. इंधन : इंधन जलाने से प्रदुषण होता है।
    6. रुमाल : मेरा रुमाल मैंने तुम्हे दे दिया था।
    7. घी : हमें चावल के साथ घी खाना चाहिए।
    8. तीर : मुझे हवा में तीर चलाना आता है।
    9. क्रोध : क्रोध करना हमारे स्वास्थ के लिए हानिकारक है।
    10. होश : उस लड़की को देखते ही मेरे ओश उड़ गए।
    11. स्वास्थ : तुम्हारा स्वास्थ ठीक रहना चाहिए।
    12. दाग : स्याही लगने से मेरी सफ़ेद कमीज़ पर नीला दाग हो गया।

    2. स्त्रीलिंग

    ऐसे संज्ञा शब्द जो हमें स्त्री जाति का बोध कराते हैं, वे शब्द स्त्रीलिंग शब्द कहलाते हैं। जैसे: 

    • सजीव : लड़की, बकरी, माता, बंदरिया, गाय, मुर्गी, लोमड़ी, बहन, लक्ष्मी, नारी, शेरनी, घोड़ी आदि।
    • निर्जीव : सूई, कुर्सी, मेज, शाखा, यमुना, झोंपड़ी, तलवार, ढाल, रोटी, टोपी, दारु, बालू, रात, आदि।

    कुछ स्त्रीलिंग शब्द एवं उनका वाक्य में प्रयोग :

    1. कसम : मैं तुम्हारी कसम खाता हूँ।
    2. कमर : उस दिन से मेरी कमर दुःख रही है।
    3. खबर : मुझे यह खबर बहुत देरी से मिली।
    4. खोज : कोलंबस ने अमेरिका की खोज  की थी।
    5. घूस : हमें किसी भी अधिकारी को घूस नहीं देनी चाहिए।
    6. चील : मुझे आकाश में चील उडती हुई दिखाई दे रही है।
    7. जांच : अभी उसकी जांच होनी बाकी है।
    8. उम्र : मेरी उम्र बढती जा रही है।
    9. ईंट : दीवार में ईंट सबसे महत्वपूर्ण होती है।
    10. धूप : आज सुनहरी धुप खिल रही है।
    11. चमक : तुम्हारी वह चमक अब नहीं रही।
    12. गर्दन : मैं तुम्हारी गर्दन मरोड़ दूंगा।
    13. किताब : किताब हमारी सबसे अच्छी दोस्त होती हैं।
    14. तबियत : तुम्हारी तबियत कुछ ठीक नहीं लग रही है।

    लिंग परिवर्तन :

    जब स्त्रीलिंग को पुल्लिंग में या पुल्लिंग को स्त्रीलिंग में बदला जाता है, तो हम इसे लिंग परिवर्तन कहते हैं।

    लिंग परिवर्तन के कुछ उदाहरण :

    • लेखक : लेखिका
    • विद्वान् : विदुषी
    • महान : महती
    • साधु : साध्वी
    • पंडित : पण्डिताइन
    • हाथी : हथिनी
    • सेठ : सेठानी
    • स्वामी : स्वामिनी
    • दास : दासी
    • माली : मालिन
    • लुहार : लुहारिन
    • सूत : सुता
    • तपस्वी : तपस्विनी

    इस लेख से सम्बंधित यदि आपका कोई भी सवाल या सुझाव है, तो आप उसे नीचे कमेंट में लिख सकते हैं।

    By विकास सिंह

    विकास नें वाणिज्य में स्नातक किया है और उन्हें भाषा और खेल-कूद में काफी शौक है. दा इंडियन वायर के लिए विकास हिंदी व्याकरण एवं अन्य भाषाओं के बारे में लिख रहे हैं.

    6 thoughts on “लिंग : परिभाषा, प्रकार एवं उदाहरण”
    1. मुझे जानना हैं। कि कैसे किसी सजीव या निर्जिव को पहचाने कि वो स्त्रीलिंग है या पुलिंग

    2. mara huaa ghora ,sukha huaatree ,or,chalta huaa aadmi,sajiv and nirjiv ka pahachan batati hai

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *