Wed. Jun 12th, 2024

    बिहार में इस कोरोना काल में मुख्य विपक्षी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) नीतीश सरकार पर निशाना साधने का कोई मौका नहीं छोड़ रही है। इसी  बीच आरजेडी के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने बिहार सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि राज्य में स्वास्थ्य केंद्र एक दम बदहाल हैं। साथ ही  बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर भी कटाक्ष करते हुए उन्होंने नीतीश कुमार को नोबेल पुरस्कार के लिए नामांकित करने की बात कही है। इधर जनता दल (जेडीयू) ने भी लालू यादव पर  अपना शिकंजा कसते हुए उन्हें घोटाला शिरोमणि तक बता दिया गया है। कोरोना वायरस की महामारी के दौर में लालू प्रसाद लगातार बिहार की स्वास्थ्य व्यवस्था को लेकर सरकार पर सवाल उठाते आ रहे हैं

    नीतीश कुमार की नाकामी, स्वास्थ्य केंद्र ठप – लालू

    लालू प्रसाद ने गुरुवार को अपने अधिकारिक ट्विटर हैंडल से राष्ट्रीय जनता दल के प्राथमिक स्वास्थ्य उपकेंद्र मुखिया प्रखंड दुर्गावती की तस्वीर को रीट्वीट करते हुए लिखा “बिहार में बंद पड़े है स्वास्थ्य केंद्र लेकिन गुलाबी और बसंती फाइलों में संचालित ऐसे हजारों स्वास्थ्य केंद्र नीतीश कुमार की ‘विफलता’ के विराट स्मारक हैं”।

    आरजेडी अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव ने मधुबनी जिले के हरलाखी प्रखंड के एक उप स्वास्थ्य केंद्र के संदर्भ में मधुबनी राष्ट्रीय जनता दल के ट्वीट को रीट्वीट करते हुए लिखा “ऐसे सैकड़ों स्वास्थ्य केंद्र बंद करवाने के लिए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को नोबेल पुरस्कार के लिए नामांकित किया जाना चाहिए”। ट्वीट में नीतीश कुमार के साथ स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय को भी नोबेल पुरस्कार देने की मांग की गई है।

    लालू प्रसाद के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर पर कटाक्ष किए जाने के बाद जेडीयू के नेता और पूर्व मंत्री नीरज कुमार ने पलटवार किया है। पूर्व मंत्री ने लालू प्रसाद को ‘पुरस्कृत घोटाला शिरोमणि’ तक बता दिया है। पूर्व मंत्री नीरज कुमार ने अपने अधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर लिखा “अब न्यायालय से पुरस्कृत घोटाला शिरोमणि भी लाठी के बजाय कलम और डॉक्टरों को बिहार से भगाने के बदले स्वास्थ्य सेवा की बात करने लगे हैं”।

    By दीक्षा शर्मा

    गुरु गोविंद सिंह इंद्रप्रस्थ विश्वविद्यालय, दिल्ली से LLB छात्र

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *