Sun. Jul 21st, 2024
    लालू प्रसाद यादव

    बिहार में मचे राजनीतिक भूचाल ने और वृहद् रूप अख्तियार कर लिया है। राजनीतिक वनवास काट रहे आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने नीतीश कुमार के भाजपा के साथ जाने के फैसले पर उन्हें आड़े हाथों लिया है। ताजा जारी बयान में आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने कहा कि वह नीतीश कुमार के कई सारे निजी राज जानते हैं। नीतीश कुमार के कई व्यक्तिगत विवादों से मैं वाक़िफ़ हूँ लेकिन उन सबका जिक्र करना अच्छा नहीं लगता। उन्होंने कहा कि राज्य में सरकार बनाने के लिए भाजपा और जेडीयू का साथ आने के खिलाफ वो अपील करेंगे। उन्होंने स्पष्ट कहा कि राज्यपाल द्वारा नई सरकार के गठन को इजाजत देना गलत है। इस फैसले के खिलाफ वो सुप्रीम कोर्ट में जाएंगे।

    नीतीश कुमार, लालू यादव और तेजस्वी यादव

     

    वहीं लालू प्रसाद यादव के पुत्र और पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने भी नीतीश कुमार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। कल रात नीतीश के भाजपा से हाथ मिलाने के बाद उन्होंने विरोध में आरजेडी विधायकों के साथ राजभवन तक मार्च निकाला। तेजस्वी यादव ने कहा है कि बिहार कि 12करोड़ जनता उनके साथ है। जनता सच जानती है और सच यह है कि नीतीश कुमार ने उनके साथ धोखा किया है। आज नीतीश कुमार के इस फैसले के विरोध में आरजेडी ने बिहार बंद का आह्वान किया है।

    भस्मासुर निकले नीतीश – लालू

    आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जमकर बरसे। उन्होंने कहा कि हमने शंकर भगवान की तरह नीतीश को राज सौंपा और वो भस्मासुर निकल गए। उन्होंने कहा कि नीतीश बस सत्ता के भूखे हैं। उन्हें जिस तरफ से भी सत्ता की कुर्सी दिखती है, वो उधर ही हो लेते हैं। उन्होंने नीतीश पर आरोप लगते हुए कहा कि बिहार में शराबबंदी एक बहाना थी। दूसरे राज्यों से बराबर शराब की तस्करी होती रहती थी।

    लालू-नीतीश में अलगाव

     

    मीडिया पर निशाना साधते हुए लालू यादव ने कहा कि कुछ मीडिया संस्थान पूरी तरह से भाजपा की जी-हुज़ूरी में लगे हुए है। अमित शाह उनके सुपर एडिटर बन बैठे हैं और हर खबर छपने से पहले उनके सामने से गुजरती है। देश में किसी को सच बोलने की भी आजादी नहीं मिल रही है। क्या लिखना है ये वही तय करते हैं और संस्थान के मालिक उसी का पालन करते हैं। इसमें रिपोर्टर्स और एडिटर्स की भी गलती नहीं है। सरकार पूरी तरह तानाशाहीपूर्ण रवैया अपना रही है।

    By हिमांशु पांडेय

    हिमांशु पाण्डेय दा इंडियन वायर के हिंदी संस्करण पर राजनीति संपादक की भूमिका में कार्यरत है। भारत की राजनीति के केंद्र बिंदु माने जाने वाले उत्तर प्रदेश से ताल्लुक रखने वाले हिमांशु भारत की राजनीतिक उठापटक से पूर्णतया वाकिफ है।मैकेनिकल इंजीनियरिंग में स्नातक करने के बाद, राजनीति और लेखन में उनके रुझान ने उन्हें पत्रकारिता की तरफ आकर्षित किया। हिमांशु दा इंडियन वायर के माध्यम से ताजातरीन राजनीतिक और सामाजिक मुद्दों पर अपने विचारों को आम जन तक पहुंचाते हैं।