Wed. May 29th, 2024
    लसिथ मलिंगा

    हैदराबाद, 13 मई (आईएएनएस)| आखिरी ओवर में अपनी बेहतरीन गेंदबाजी के कारण मुंबई इंडियंस को चौथा इंडियन प्रीमियर लीग खिताब दिलाने वाले तेज गेंदबाज लसिथ मलिंगा ने कहा है कि आखिरी गेंद उन्होंने अपनी वो गेंद फेंकी जो उन्हें अक्सर विकेट दिलाती है।

    मुंबई ने रविवार को खेले गए फाइनल में चेन्नई के सामने 150 रनों का लक्ष्य रखा था। चेन्नई के लिए सब कुछ सही जा रहा था। आखिरी ओवर में उसे जीत के लिए नौ रन चाहिए थे। इसी ओवर में हालांकि उसके सैट बल्लेबाज शेन वाटसन (80) रन आउट हो गए। आखिरी गेंद पर चेन्नई को दो रन चाहिए थे, लेकिन मलिंगा ने यॉर्कर पर शार्दूल ठाकुर को पगबाधा आउट करा मौजूदा विजेता को हार सौंपी।

    मैच के बाद मलिंगा ने कहा, “आखिरी गेंद पर मैंने सोचा था कि अगर उन्हें एक रन मिल गया तो यह सुपर ओवर होगा, लेकिन मैं अपनी टीम को जिताना चाहता था और इसलिए मैंने अपनी वो गेंद फेंकी जिस पर मुझे विकेट मिलता है।”

    चार ओवरों में सिर्फ 14 रन देकर दो विकेट लेने वाले जसप्रीत बुमराह ने कहा, “हम आखिरी में शांत रहना चाहते थे क्योंकि इस तरह की स्थिति पुणे में 2017 में भी आई थी। इस सीजन हमें हमेशा अपनी टीम पर भरोसा था। हमें हर खिलाड़ी पर भरोसा था। हमारी टीम में अपने दिन हर खिलाड़ी मैच विजेता बन सकता है।”

    केरन पोलार्ड ने कहा, “इस तरह के मैचों में आप अच्छा करना चाहते हो। दुनिया ऐसे मैचों को याद रखती है। कई फाइनल मैचों में खेलकर मुझे जो अनुभव मिला है उससे मैं कह सकता हूं कि दूसरी पारी खेलने वाली टीम पर दबाव होता है। बुमराह और मलिंगा ने जिस तरह आखिरी के दो ओवर निकाले वो शानदार रहे।”

    By पंकज सिंह चौहान

    पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *