Mon. Nov 28th, 2022

    उत्तर प्रदेश की राजधानी में 12 जनवरी से युवा महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है। इस बाबत समाज के लिए प्रेरणादायी कार्य करने वाले युवाओं की तलाश की जा रही है। युवा कल्याण विभाग के प्रमुख सचिव की ओर से सभी जिलाधिकारियों को जारी पत्र में लिखा गया है कि इस महोत्सव से ऐसे युवाओं को जोड़ा जाए जो सामाजिक कार्य, जनसेवा व आपदा राहत, विश्वविद्यालयों व महाविद्यालयों से जुड़े गौरवशाली युवा, संगीत, ललित कला, हस्तशिल्प, साहित्य आदि में उल्लेखनीय कार्य कर रहे हैं।

    लखनऊ के एडीएम (प्रशासन) श्रीप्रकाश गुप्ता ने बताया कि हर जिले से 25 ऐसे युवकों को चिन्हित किया जा रहा है, जिनके कार्यो से समाज को प्रेरणा मिल रही है। जिलाधिकारी की अध्यक्षता में बनी कमेटी युवाओं के बायोडाटा पर विचार करने के बाद यूथ आइकन के लिए इन्हें चयनित करेगी। इन युवकों की उम्र 15 से 35 वर्ष होनी चाहिए।

    गौरतलब है कि राजधानी में 12 से 16 जनवरी तक होने वाले 23वें राष्ट्रीय युवा महोत्सव का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कर सकते हैं। प्रधानमंत्री के आने की संभावना के मद्देनजर महोत्सव की तैयारियां तेज कर दी गई हैं। महोत्सव का आयोजन केंद्रीय युवा कार्य एवं खेल विभाग, उप्र युवा कल्याण विभाग, नेहरू युवा केंद्र संगठन और राष्ट्रीय सेवा योजना द्वारा संयुक्त रूप से किया जा रहा है।

    युवा महोत्सव में देशभर से करीब पांच हजार युवा भाग लेने के लिए आ रहे हैं। इसकी निगरानी स्वयं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कर रहे हैं। उन्होंने महोत्सव में भाग लेने वाले युवकों को स्वामी विवेकानंद की जीवनी पर आधारित पुस्तकें बांटने और प्रतिभागियों को पुरस्कार स्वरूप ओडीओपी के उत्पाद दिए

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *