Wed. Apr 24th, 2024
    टाटा लखनऊ

    भारत में कुछ समय से विद्युतीकरण के प्रयास किये जा रहे हैं। सरकार पेट्रोल डीजल इंधन की जगह बिजली को प्रयोग करने वाले वाहनों पर केन्द्रित है। इसी के चलते हाल ही में टाटा मोटर्स ने यूपी सरकार से मिलकर लखनऊ सिटी ट्रांसपोर्ट सर्विस में बिजली से चालित बसें देना शुरू कर दी हैं।

    टाटा मोटर्स की पहल की पूरी जानकारी :

    सरकार द्वारा विद्युत् इंधन पर जोर देने की पहल के अंतर्गत टाटा मोटर्स ने अपना योगदान देते हुए लखनऊ शहर में अगले कुछ महीनों के समय में 40 विद्युत् बसे दने का वायदा किया है। इन 40 बसों में से पहली बस को आज लखनऊ सिटी ट्रांसपोर्ट सर्विस को सौंप दिया गया है और आने वाले कुछ महीनों में बाकी बची इकाइयां भी दे दी जायेंगी। यह नयी बस अपनी यात्रा आलमबाघ डिपो से शुरू करेगी।

    कुल मिलाकर, ये 40 बसें 255 इलेक्ट्रिक बसों के कुल ऑर्डर का हिस्सा हैं, जिन्हें पश्चिम बंगाल, लखनऊ, इंदौर, गुवाहाटी, जम्मू  और जयपुर सहित छह सार्वजनिक परिवहन उपक्रमों को आपूर्ति की जाएगी। इसके अतिरिक्त, कंपनी निकट भविष्य में अपने इलेक्ट्रिक मिनी-बस सेगमेंट को विकसित करने पर भी काम कर रही है।

    सभी बसें होंगी मेड इन इंडिया :

    इन बसों की ख़ास बात यह है की इनमे तमाम नवीन तकनीक होंगी और इनके साथ इन्हें भारत मिएँ ही बनाया जाएगा।बस को टाटा मोटर्स और टाटा मार्कोपोलो धारवाड़ संयंत्र द्वारा मेड-इन-इंडिया बनाया गया है। ये बस कोई प्रदुषण नहीं करेंगी क्योंकि इनमे डीजल या पेट्रोल जैसे परंपरागत इंधन का इस्तेमान नहीं होगा।

    बस में होंगी ये सुविधाएं :

    अल्ट्रा इलेक्ट्रिक बसों में एक बार चार्ज करने पर 150 किमी तक की यात्रा की सीमा होती है। बसों की फास्ट चार्जिंग के लिए लखनऊ के आलमबाग डिपो में फास्ट चार्जिंग स्टेशन स्थापित किए गए हैं। स्वदेशी रूप से विकसित बस, जिसमें एक तरह की छत पर लगी हुई बैटरियां भी शामिल हैं, यदि ये बस पानी भरी सडकों से भी गुजरेंगी तो भी इनकी बैटरी पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा। इसके अलावा बैटरी को लगातार ठंडा रखने के लिए लिक्विड के ज़रिये ठंडा किया जाता है ताकि जल्दी गरम आ हो। इस तकनीक के कारण बैटरी अधिक चलेंगी और उत्तम प्रदर्शन देंगी।

    टाटा के अधिकारी कार्यकारी का बयाना :

    इस उपलक्ष में टाटा मोटर्स के प्रोडक्ट लाइन हेड रोहित श्रीवास्तव ने बयान बताया “टाटा मोटर्स हमेशा ई-मोबिलिटी के विकास में सबसे आगे रहा है और यह ऑर्डर भारत में बस सेगमेंट के लिए तैयार किए गए हमारे सर्वश्रेष्ठ-इन-क्लास समाधान का एक वसीयतनामा है।”

    उन्होंने यह भी बताया “यह पूरे देश में छह एसटीयू को आपूर्ति की जाने वाली 255 ई-बसों का हिस्सा है, जिनमें से लखनऊ एक है। विभिन्न बाजारों और ग्राहकों के लिए स्थायी सार्वजनिक परिवहन के बारे में हमारी गहरी समझ है जो हमें अपने प्रतिद्वंद्वियों से अलग करती है। हम वैकल्पिक ईंधन प्रौद्योगिकियों को विकसित करने और देश में इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देने के लिए सरकार के प्रयासों का समर्थन करने वाले अधिक ऊर्जा कुशल वाहन बनाने के लिए दृढ़ हैं।”

    By विकास सिंह

    विकास नें वाणिज्य में स्नातक किया है और उन्हें भाषा और खेल-कूद में काफी शौक है. दा इंडियन वायर के लिए विकास हिंदी व्याकरण एवं अन्य भाषाओं के बारे में लिख रहे हैं.

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *