सोमवार, अक्टूबर 14, 2019

बार्सिलोना के पूर्व खिलाड़ी रिवाल्डो ने कहा, पुर्तगाल के रोनाल्डो को बैलोन डी ओर मिलना चाहिए था

Must Read

त्रिपुरा : महिला सांसद के खिलाफ आक्रामक टिप्पणी करने वाला गिरफ्तार

अगरतला, 13 अक्टूबर (आईएएनएस)। त्रिपुरा के एक व्यक्ति को राज्य की पुलिस ने लोकसभा सदस्य प्रतिमा भौमिक के खिलाफ...

7 साल बाद फिर क्यों सुर्खियों में आया निर्भया गैंगरेप का केस

नई दिल्ली, 13 अक्टूबर(आईएएनएस)। साल 2012 के दिसंबर में हुई निर्भया गैंगरेप की घटना ने देश को हिला कर...

शरद रंगोत्सव में कवियों ने बांधा समां

नई दिल्ली, 13 अक्टूबर (आईएएनएस)। देश भर से यहां आए एक दर्जन से अधिक कवियों-कवित्रियों की उपस्थिति में यहां...
अंकुर पटवाल
अंकुर पटवाल ने पत्राकारिता की पढ़ाई की है और मीडिया में डिग्री ली है। अंकुर इससे पहले इंडिया वॉइस के लिए लेखक के तौर पर काम करते थे, और अब इंडियन वॉयर के लिए खेल के संबंध में लिखते है

रियल मैड्रिड और क्रोएशिया मीडफील्डर ने 3 दिसंबर को पहली बार बैलोन डी ओर पुरस्कार जीता था, जिसके बाद रोनाल्डो और मेस्सी के प्रशंसक नाराज दिखे औऱ उन्होने कहा की यह फैसला पक्ष मे लेकर किया गया है। 10 साल से इस अवार्ड पर रोनाल्डो और मेस्सी के अलावा किसी ने कब्जा नही कर रखा था। बार्सिलोना के पूर्व खिलाड़ी रिवाल्डो ने कहा कि यह पुरस्कार इस बार रोनाल्डो को दिया जाना चाहिए था, उनके नजरिये में रोनाल्डो विश्व के सबसे बढ़िया खिलाड़ी है।

पिछले सीजन में यूईएफए चैंपियंस लीग में रोनाल्डो शीर्ष स्कोरिंग खिलाड़ी थे, और रियल मैड्रिड ने उनके चलते लगातार तीसरी बार यूरोपीयन खिताब पर कब्जा किया था। 33 साल के रोनाल्डो ने एक व्यकतिगत के रुप से इस साल वो सब कुछ किया जिसके लिए वह इस अवार्ड के लिए हकदार थे। उनके इस साल का खेल देखकर रिवाल्डो ने कहा कि वह बैलोन डी ओर अवार्ड के लिए एक स्पष्ट विजेता थे।

बेटफेयर के लिए एक कॉलम मे रिवाल्डो ने लिखा कि इस विषय मे अपनी राय देना बहुत कठिन है, लुका मॉड्रिक का 2018 का यह सीजन बहुत अच्छा गया है, औऱ उन्होने चैंपियन्स लीग जीती और क्रोएशिया को फीफा के फाइनल तक भी लेकर गए, अगर मुझे इन दोनो मे से किसी एक को चुनना होता तो मैं रोनाल्डो के लिए वोट करता।”

इसके बाद उन्होने अपने कॉलम मे यह भी लिखा कि, ” पुर्तगालियों ने पिछले सीजन बहुत सारे गोल किये, चैंपिंयंस लीग जीता, जुवेंटस के खिलाफ घर से दूर जाकर गोल किये, और स्पेन के खिलाफ हैट-ट्रिक सहित चार बार विश्वकप मे अपना मूल्य साबित किया, इसलिए मुझे लगता है उनके अलावा किसी औऱ को अवार्ड नही मिलना चाहिए था।

मेस्सी के केस मे रिवाल्डो ने कहा कि अर्जेंटीना के मेस्सी को कम से कम टॉप-3 मे रखा जाना चाहिए था, माना की रोनाल्डो और मेस्सी मॉड्रिक से गोल्डन बॉल मे हार गए थे, लेकिन यहा पर मॉड्रिका खिताब के हकदार नही थे।

46 साल के रिवाल्डो ने यह भी कहा कि ” मेस्सी को टॉप-3 मे रखा जाना चाहिए था, और मैं ईमानदारी से कहूंगा कि मुझे नही पता कि इस बार यह सब क्यो हुआ, और रोनाल्डो और मेस्सी मे से किसी को क्यो नही चुना गया।”

कुछ लोग कह रहे है कि रोनाल्डो को जुवेंटस के क्लब के साथ हस्ताक्षर की वजह से अवार्ड नही दिया गया, लेकिन मैं इस बात से सहमत नही हूं क्योंकि इस क्षण के लिए फैसले पहले ही हो गए थे।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

त्रिपुरा : महिला सांसद के खिलाफ आक्रामक टिप्पणी करने वाला गिरफ्तार

अगरतला, 13 अक्टूबर (आईएएनएस)। त्रिपुरा के एक व्यक्ति को राज्य की पुलिस ने लोकसभा सदस्य प्रतिमा भौमिक के खिलाफ...

7 साल बाद फिर क्यों सुर्खियों में आया निर्भया गैंगरेप का केस

नई दिल्ली, 13 अक्टूबर(आईएएनएस)। साल 2012 के दिसंबर में हुई निर्भया गैंगरेप की घटना ने देश को हिला कर रख दिया था। अब सात...

शरद रंगोत्सव में कवियों ने बांधा समां

नई दिल्ली, 13 अक्टूबर (आईएएनएस)। देश भर से यहां आए एक दर्जन से अधिक कवियों-कवित्रियों की उपस्थिति में यहां रविवार को नटरंग शरद रंगोत्सव...

विजय हजारे ट्रॉफी : महाराष्ट्र 3 विकेट से जीता

वडोदरा, 13 अक्टूबर (आईएएनएस)। अजीम काजी के शानदार 84 रनों की मदद से महाराष्ट्र ने यहां खेले गए विजय हजारे ट्रॉफी के मैच में...

चीन-नेपाल मैत्री की जड़ मजबूत

बीजिंग, 13 अक्टूबर (आईएएनएस)। चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने शनिवार को काठमांडू में नेपाली राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी के साथ मुलाकात की। दोनों ने...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -