दा इंडियन वायर » खानपान » रोजाना कितना पानी पीना आवश्यक है?
खानपान

रोजाना कितना पानी पीना आवश्यक है?

रोजाना पानी पीना how much water to drink in a day in hindi

पानी हमारे शरीर के लिए अत्यंत लाभकारी होता है और इसकी कमी शरीर पर कई प्रकार के दुष्प्रभाव डाल सकती है। अलग अलग शोधकर्ता अलग अलग मात्रा आवश्यक बताते है और ये लोगों के शरीर पर भी निर्भर करता है कि उनके लिए कितना पानी प्रतिदिन आवश्यक है।

शोधकर्ताओं का कहना है कि हमें दिन में बार बार पानी पीना चाहिए चाहे प्यास हो या न हो। रोजाना 7-8 गिलास पानी पीना शरीर के लिए उपर्युक्त माना गया है।

इस लेख के जरिये हम रोजाना पानी पीने से सम्बंधित कुछ विषयों और तथ्यों पर चर्चा करेंगे।

1. क्या पानी से शरीर की उर्जा और मस्तिष्क की कार्य क्षमता में परिवर्तन आता है?

अध्ययनों में यह पाया गया है कि यदि हम पानी नहीं पीयेंगे तो उससे हमारे मस्तिष्क पर नकारात्मक असर पडेगा और हमारा उर्जा स्तर गिर जायेगा। इस बात को साबित करने के लिए बहुत सारे शोध किये गए हैं।

औरतों पर हुए एक शोध में यह पाया गया कि शरीर में सिर्फ 1.36% की पानी की कमी से लोगों का मूड तो खराब हुआ ही, साथ ही साथ उनमें सरदर्द की शिकायत बढ़ गयी। पानी की कमी हमारे मस्तिष्क पर विपरीत प्रभाव डालते हुए हमारे सहने की क्षमता को घटा देती है।

2. प्यास लगने पर पानी अवश्य पीयें

प्यास लगने पर पानी पीना अतिआवश्यक होता है क्योंकि वो एक इशारा होता है कि हमारा शरीर पानी मांग रहा है और उसमें पानी का स्तर नीचे जा चुका है

हमारे प्यास लगने की क्षमता काफी प्रबल होती है और हम अपने पानी पीने के नियम के लिए इस पर निर्भर कर सकते हैं। हालांकि, कुछ स्थितियां ऐसी होती है जब शरीर को पानी की ज्यादा ज़रूरत होती है जैसे कि कॉलरा और डायरिया जैसी बिमारियों के समय। तब हमें प्यास पर ध्यान न देते हुए बिना प्यास के पानी पीते रहना चाहिए।

इसके अलावा वयस्कों में प्यास लगनी कम हो जाती है तो उनके पानी पीने के समय का अधिक ध्यान रखना चाहिए

3. क्या दूसरे पेय से पानी की मात्रा बढती है?

सादा पानी ही केवल हमारे शरीर में जल की मात्रा को नहीं बढाता बल्कि हम जो भी पेय का सेवन करते हैं वो हमारे लिए फायदेमंद होता है और शरीर में जल की मात्रा को नियंत्रित करता है

कुछ शोधकर्ताओं का कहना होता है कि चाय, कॉफ़ी आदि चीजें पानी का संतुलन नहीं रखती लेकिन शोधों में पाया गया कि ऐसा कुछ नहीं है। यदि आप चाय, कॉफ़ी या कोई अन्य पेय पदार्थ का सेवन करते हैं तो वो अकेले ही आपके शरीर में जल का संतुलन बनाये रखती हैं जब तक आपको अत्यधिक पसीना न आये।

4. क्या पानी से स्वास्थ्य सुधरता है?

कई ऐसी स्वास्थ्य की समस्याएं हैं जिनका निवारण केवल पानी पीने से ही संभव है। इनमें से मुख्य समस्याएं हैं:

  • कब्ज़
  • कैंसर
  • किडनी में पथरी
  • चेहरे पर कील मुहांसे

5. क्या ज्यादा पानी से वज़न कम होता है?

कई शोधकर्ताओ ने यह पाया है कि अत्यधिक पानी पीने से मेटाबोलिज्म की दर बढ़ जाती है। इससे भूख कम लगती है और इंसान कम कैलोरीज लेता है जिससे वज़न नियंत्रित रहता है और कम हो जाता है

अध्ययनों के अनुसार, 500 मिलिलीटर पानी पीने से 24-30% तक मेटाबोलिज्म बढ़ जाता है। प्रतिदिन 2 लीटर पानी पीने से करीब 96 कैलोरीज तक खर्च हो जाती हैं।

कितना पानी पीना आवश्यक होता है? (how much water is needed in hindi)

कोई भी यह नहीं बता सकता कि हमें प्रतिदिन कितना पानी पीना चाहिए क्योंकि ये हर इंसान के साथ बदलता है और उसी पर निर्भर करता है। अपने शरीर की पानी की ज़रूरतों की पहचान करके ही हम जान सकते हैं कि हमें कुल कितना पानी पीना चाहिए।

यदि आप अपने शरीर को स्वस्थ रखना चाहते हैं, तो इन निर्देशों का पालन करें:

  • जब प्यास लगे, तब पानी अवश्य पीयें
  • जब प्यास न लगे, तब ज़बरदस्ती न पीये और रुक जाएँ
  • एक्सरसाइज करते समय या अत्यधिक गर्मी होने पर पानी पीकर अपने शरीर में पानी की कमी को पूरा करें

इन निर्देशों का पालन करने से आपके शरीर में पानी की कमी कभी नहीं होगी

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!