दा इंडियन वायर » खेल » लगातार 6 हार के बाद क्या रॉयल चैलेंजर्स की टीम आईपीएल 2019 प्लेऑफ के लिए कर पाएगी क्वालीफाई?
खेल

लगातार 6 हार के बाद क्या रॉयल चैलेंजर्स की टीम आईपीएल 2019 प्लेऑफ के लिए कर पाएगी क्वालीफाई?

विराट कोहली

रॉयल चैलेंजर्स की टीम को इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 12वें संस्करण में छह मैचो में छह हार का सामना करना पड़ा है। और आईपीएल के इतिहास में यह टीम की अबतक की सबसे बड़ी नाकामी है। हर बार ऑक्शन के बाद आरसीबी की टीम को सबसे मजबूत टीम माना जाता है, लेकिन टूर्नामेंट शुरु होने के बाद टीम खुद अपने लिए हार की वजह ढूंढ लेती है और किसी ना किसी कारण टीम का खिताब जीतने का सपना हमेशा की तरह कामयाब नही हो पाता है।

आईपीएल 2019 के कप्तान के रूप में छठी बार, एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में फ्रैंचाइजी दिल्ली कैपिटल्स से हारने के बाद विराट कोहली को आरसीबी के संक्षिप्त रूप के बारे में बताने के लिए कहा गया। आरसीबी ने सीजन में अपनी लगातार छठी हार के साथ, दिल्ली डेयरडेविल्स के 2013 के आईपीएल सीजन की शुरुआत के बाद लगातार सबसे ज्यादा हार का रिकॉर्ड बनाया।

रॉयल चैलेंजर्स की टीम आंद्रे रसले के तूफान को भूल तक नही पाई थी कि रविवार को उनको अपने ही घर में दिल्ली कैपिटल्स की टीम से भी हार का सामना करना पड़ा। आरसीबी की टीम ने दिल्ली के खिलाफ कल मैच में कई कैच ड्रॉप किए, कई बेकार गेंद फेंकी और दिल्ली को मैच जितवाने में कोई कसर नही छोड़ी। श्रेयस अय्यर की पारी में आरसीबी के फिल्डरो ने दो कैचे छोड़ी जो उन्हे बहुत महंगी पड़ी क्योंकि अय्यर ने 134 की स्ट्राइक रेट से 50 गेंदो में 67 रन की पारी खेली थी। उनकी इस पारी में पृथ्वी शॉ, ऋषभ पंत और कॉलिन इंग्राम ने उनका साथ निभाया और टीम ने 7 गेंद शेष रहते मैच जीत लिया।

आईपीएल में 12 वें सीज़न में उनकी लगातार छठी हार (19 मई, 2018 को राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ हार के साथ शुरू), आरसीबी के लिए अब बड़ा सवाल खड़ा है – क्या वे अभी भी आईपीएल 2019 के प्लेऑफ़ के लिए क्वालीफाई कर सकते हैं?

आमतौर पर, आईपीएल प्लेऑफ परिदृश्य तब सामने आता है जब प्रत्येक फ्रेंचाइजी पांच या छह मैच खेल चूकी होती है। और ऐसे में देखे तो आरसीबी की फ्रेंचाईजी इस समय 6 मैच हारने के बाद बिना किसी अंक के सबसे नीचे बनी हुई है, और अब उनके लिए प्लेऑफ में जगह बनाना मुश्किल हो जाएगा।

आरसीबी की टीम अब केवल 8 मैच और खेलने है। अगर टीम सभी मैच जीतती है तो टीम के पास 16 अंक होंगे क्योकि टीम को हर मैच के लिए 2 अंक मिलेंगे। अगर ऐसा होता है तो टीम प्लेऑफ में जगह बना सकती है। हालांकि, अगर टीम अब बचे मैचो में से एक और मैच हार जाती है तो टीम के लिए प्लेऑफ की लगभग सभी उम्मीद खत्म हो जाएगी।

दिल्ली डेयरडेविल्स की टीम ने यह कारनामा 2013 में कर दिखाया था जब उन्हे लगातार 6 हार का सामना करना पड़ा था और 16 मैच खेलेने के बाद टीम अंक तालिका में सबसे नीचे रही थी। दिल्ली डेयरडेविल्स की टीम उस दौरान अपने बचे 8 मैचो में से केवल 3 में जीत दर्ज कर पाई थी।

आरसीबी मोहाली में किंग्स इलेवन पंजाब से अब छह दिनो के बाद भिड़ेगी। अगर कोहली अपनी टीम को इस अपमानजनक हार से प्लेऑफ बर्थ पर वापस उछालने के लिए प्रेरित कर सकते हैं, तो यह निश्चित रूप से सबसे प्रेरणादायक खेल कहानियों में से एक होगी।

About the author

अंकुर पटवाल

अंकुर पटवाल ने पत्राकारिता की पढ़ाई की है और मीडिया में डिग्री ली है। अंकुर इससे पहले इंडिया वॉइस के लिए लेखक के तौर पर काम करते थे, और अब इंडियन वॉयर के लिए खेल के संबंध में लिखते है

Add Comment

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!

Advertisement