बुधवार, जनवरी 22, 2020

रूस: मोदी ने सोफे पर बैठने से किया इनकार, कुर्सी पर बैठकर खिंचवाई तस्वीर

Must Read

स्टीव स्मिथ का मानना है ऑस्ट्रेलिया के लिए तीनों प्रारूपों में खेल सकते हैं जोश फिलिप

स्टीव स्मिथ को लगता है कि विकेटकीपर-बल्लेबाज जोश फिलिप में आस्ट्रेलिया के लिए तीनों प्रारूपों में खेलने की काबिलियत...

सीएए पर बहस करने को तैयार अखिलेश यादव, गृहमंत्री के ‘डंके की चोट’ शब्द को लेकर कहा, यह राजनेता की भाषा नहीं हो सकती

समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बुधवार को कहा कि वह नागरिकता कानून (सीएए) और विकास...

महिला निशानेबाज मनु भाकर को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार नहीं मिलने पर पिता ने उठाए सरकार पर सवाल

भारत के लिए ओलम्पिक कोटा हासिल कर चुकी युवा महिला निशानेबाज मनु भाकेर को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार न...
कविता
कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को उनके लिए विशेष तौर पर लगाये गए सोफे पर बैठने से इनकार कर दिया और इसकी बजाये सबके साथ कुर्सी पर बैठकर तस्वीरे खिंचवाई थी। रेलवे मंत्री पीयूष गोयल ने एक विडियो को भी ट्वीटर पर साझा किया है।

पीएम मोदी का सभी अधिकारी तस्वीर सत्र के लिए स्वगत कर रहे थे। प्रधानमन्त्री ने सोफे की बजाये कुर्सी पर बैठने के विकल्प का चयन किया था। इसके बाद अधिकारियो ने सोफे को हटाकर एक कुर्सी लगा दी थी और पीएम मोदी तस्वीर के लिए कुर्सी पर बैठे।

पीयूष गोयल ने ट्वीट कर कहा कि “प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी जी की सरलता का उदहारण आज दोबारा देखने का अवसर प्राप्त हुआ। उन्होंने रूस में उनके लिए की गयी विशेष व्यवस्था को हटवा कर सभी एक साथ समान्य कुर्सी पर बैठने की इच्छा को जाहिर किया था।”

पीएम मोदी की सरलता

इस विडियो को सोशल मीडिया पर काफी साझा किया जा रहा है और यूजर्स पीएम मोदी की तारीफों के पुल बांध रहे हैं। एक ट्वीटर उपभोक्ता ने लिखा कि “क्या भेतारिन हाव भाव है। इसके लिए मैं निशब्द हूँ। इस सरलता को देखे।” एक अन्य उपभोक्ता ने कहा कि “हमारे पास एक नम्र और शांत प्रधानमन्त्री है जो जमीन से जुड़े हुए हैं।”

एक अन्य ट्वीटर यूज़र्स ने कहा कि “मोदी जी की सरलता उन्हें दुनिया में सबसे सम्मानजनक और ताकतवर नेता बनाती है। उनके बातचीत के तरीके और सन्देश को भेजने में बेहद स्पष्टता है। वह जानते हैं कि देश के लिए क्या बेहतर है। वह अच्छे लोगो के लिए बेहद नरम है लेकिन देश को हनी पंहुचाने वालो के लिए बेहद सख्त है।”

पीएम मोदी ने रूस की यात्रा पर पांचवे पूर्वी आर्थिक मंच को संबोधित किया था। इस समरोह में जापान के पीएम शिंजो आबे और मंगोलियन राष्ट्रपति खल्त्मगीं बत्तुल्गा भी शामिल हुए थे।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

स्टीव स्मिथ का मानना है ऑस्ट्रेलिया के लिए तीनों प्रारूपों में खेल सकते हैं जोश फिलिप

स्टीव स्मिथ को लगता है कि विकेटकीपर-बल्लेबाज जोश फिलिप में आस्ट्रेलिया के लिए तीनों प्रारूपों में खेलने की काबिलियत...

सीएए पर बहस करने को तैयार अखिलेश यादव, गृहमंत्री के ‘डंके की चोट’ शब्द को लेकर कहा, यह राजनेता की भाषा नहीं हो सकती

समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बुधवार को कहा कि वह नागरिकता कानून (सीएए) और विकास को लेकर भाजपा के लोगों...

महिला निशानेबाज मनु भाकर को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार नहीं मिलने पर पिता ने उठाए सरकार पर सवाल

भारत के लिए ओलम्पिक कोटा हासिल कर चुकी युवा महिला निशानेबाज मनु भाकेर को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार न मिलने पर उनके पिता रामकिशन...

पाकिस्तान : पीपीपी अध्यक्ष बिलावल भुट्टो ने कहा, कार्यकाल पूरा नहीं कर पाएगी इमरान सरकार

पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के अध्यक्ष बिलावल भुट्टो जरदारी ने प्रधानमंत्री इमरान खान के नेतृत्व वाली पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) सरकार की आलोचना करते हुए...

चीन : कोरोना वायरस से हुए निमोनिया के 440 नए मामलों की पुष्टि

चीनी स्वास्थ्य अधिकारियों ने कोरोना वायरस से होने वाले निमोनिया के 440 नए मामलों की पुष्टि होने की बुधवार को घोषणा की। देश में...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -