Sat. Feb 24th, 2024
    रिलायंस जियो

    टेलिकॉम अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया द्वारा हाल ही में पेश की गयी रिपोर्ट के अनुसार दिसम्बर 2018 में रिलायंस जिओ ने कुल 8.56 मिलियन नए यूजर जोड़े और बीएसएनएल ने भी 5.56 लाख नए यूजर्स जोड़े लेकिन वोडाफोन और और एयरटेल ने बड़ी संख्या में ग्राहक खोये।

    जिओ के हुए 28 करोड़ यूजर्स :

    रिपोर्ट में पेश किये गए आंकड़ों के अनुसार दिसम्बर में जिओ में कुल 8.56 मिलियन नए यूजर्स जुड़े जिससे इसके कुल उपभोक्ताओं की संख्या 28 करोड़ पर पहुँच गयी। इसके साथ ही जिओ का मार्किट शेयर नवम्बर के 23.17 से बढ़कर दिसम्बर के अंत में 23.82 प्रतिशत के स्तर पर पहुँच गया। बतादें की यदि इसी दर से जिओ बढ़ता रहा तो अगले माह में यह एयरटेल को पीछे छोड़ देगा जोकि वर्तमान में उपभोक्ताओं के मामले में दूसरा सबसे बड़ा टेलिकॉम सर्विस प्रदाता है।

    बीएसएनएल के यूजर्स के आंकड़े :

    जिओ के अलावा बीएसएनएल का भी अच्छा प्रदर्शन रहा और दिसम्बर माह में इसने कुल 5.56 लाख नए यूजर्स जोड़े और इस जोड़ से इसके दिसम्बर माह के अंत में कुल 11.4 करोड़ यूजर्स हो गए। बतादें की रिलायंस जिओ के अलावा यही एक ऐसा ऑपरेटर है जिसने अपने कुल ग्राहकों की संख्या में वृद्धि दर्ज की है।

    हालांकि इसको अभी तक 4G स्पेक्ट्रम आवंटित नहीं किया गया है लेकिन फिर भी यह अच्छा प्रदर्शन कर रहा है। इसी की बदौलत इसके यूजर्स की संख्या में वृद्धि हो रही है।

    वोडाफोन एयरटेल ने खोये करोड़ों यूजर्स :

    एक तरफ जहां जिओ और बीएसएनएल जैसे प्रदाता लाखों यूजर्स जोड़ रहे हैं वहीं एयरटेल और वोडाफोन लगातार अपने यूजर्स की संख्या में कमी दर्ज कर रहे हैं। यदि TRAI की रिपोर्ट में दिए गए आंकड़े देखें तो इसमें बताया गया है की वोडाफोन ने अकेले 23 लाख से ज्यादा यूजर्स गँवा दिए बहिन एयरटेल को भी 15 लाख यूजर्स खोने पड़े।

    इसका मुख्य कारण इन दोनों प्रदाताओं द्वारा लांच की गयी न्यूनतम रिचार्ज स्कीम को माना जा रहा है। ये स्कीम दिसम्बर में लांच की गयी थी और इसके अंतर्गत यदि एक यूजर को इन प्रदाताओं की सुविधा अक प्रयोग करना है तो उसे एक न्यूनतम मूल्य का हर महीने रिचार्ज कराना पड़ेगा और वह ऐसा नहीं करता है तो वह सुविधाओं का प्रयोग नहीं कर पायेगा। ऐसा होने पर हालाँकि एयरटेल और वोडाफोन को बड़ी मात्र में ग्राहक खोने पड़े लेकिन बचे ग्राहक ऐसे हैं जोकि आय दे रहे हैं।

    एयरटेल के कार्यकारी का बयान :

    जब एयरटेल द्वारा न्यूनतम रिचार्ज स्कीम लांच की गयी थी तब एयरटेल के मुख्या कार्यकारी ने इस बारे में कहा, “मुझे लगता है कि हम कुछ 50 मिलियन से 70 मिलियन ऐसे ग्राहकों को त्याग सकते हैं जोकि हमारे लिए कोई आय नहीं बना रहे हैं – क्योंकि उनमें से कुछ सिम प्रयोग नहीं कर रहे हैं। हम उनकी सुविधा बंद करके नए ग्राहकों को सुविधा दे सकते हैं। हम व्यर्थ में उनका बोझ क्यों उठायें ?”

    अतः अब एयरटेल ऐसे ही ग्राहकों को सुविधा देगा जोकि एयरटेल को आय बढाने में सहायता करेंगे। जिओ से बढती प्रतिस्पर्धा के कारण एयरटेल और वोडाफोन को घाटा हो रहा था और इसके चलते एयरटेल जिओ से प्लान के मूल्यों को कम करके प्रतिस्पर्धा नहीं कर सकता है अतः उसने यह तरीका अपनाया।

    By विकास सिंह

    विकास नें वाणिज्य में स्नातक किया है और उन्हें भाषा और खेल-कूद में काफी शौक है. दा इंडियन वायर के लिए विकास हिंदी व्याकरण एवं अन्य भाषाओं के बारे में लिख रहे हैं.

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *