Thu. Jun 13th, 2024
    रिकी पोंटिंग

    पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान रिकी पोंटिंग का मानना है कि भारतीय टीम को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हाल में खत्म हुई एकदिवसीय सीरीज में धोनी की कमी खली और यही एक बड़ा कारण था जिसकी वजह से टीम को सीरीज में हार का सामना करना पड़ा।

    भारत ने पांच वनडे मैचो की सीरीज में शुरुआती दो वनडे मैच जीतकर 2-0 से बढ़त बना रखी थी लेकिन ऑस्ट्रेलिया ने सीरीज में एक अच्छी लड़ाई लड़ते हुए आखिरी के तीन वनडे मैच अपने नाम किए। जिसके बाद वह 2015 के बाद अपने घर से दूर जाकर सीरीज जीत पाए।

    पोंटिंग ने एनडीटीवी से कहा, “कप्तानी को देखते हुए मैं विराट के प्रति कभी भी नकारात्मक नही होता, मैंने देखा है कि पिछले कुछ वर्षो में उन्होने टेस्ट टीम के साथ क्या करके दिखाया है औऱ एमएस इसके आसपास भी नही है। हालांकि, मुझे लगता है कि मैदान पर उनकी मौजूदगी और बल्लेबाजी थोड़ी सी शांति के साथ अमूल्य है, खासकर जब टीम दबाव की स्थिति में हो। मैंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आखिरी तीन मैचो में उनकी बल्लेबाजी को याद किया, तो शायद इसलिए भी भारत को जीत नही मिली।”

    उस्मान ख्वाजा ने तीन मैचो में शानदार दो शतक जड़े जिसकी वजह से भारतीय क्रिकेट टीम को दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान में खेले गए आखिरी मैच में 35 रन से हार का सामना करना पड़ा। जिससे मेहमान टीम 3-2 से सीरीज जीतने में कामयाब रही।

    इसी के साथ ओपनर बल्लेबाज ख्वाजा ने विश्वकप की टीम में अपनी जगह को मजबूत किया है। उनके शतक के ही मदद से ऑस्ट्रेलियाई टीम 9 विकेट के नुकसान में 272 रन बना पाई थी, जहा टीम एक वक्च 300 का आकड़ा छूने की सोच रही थी।

    एडम जाम्पा ने मैच में 46 रन देकर 3 विकेट चटकाए थे जिसकी बदौलत भारतीय टीम निर्धारित 50 ओवर में केवल 237 रन ही बना सकी। और ऑस्ट्रेलियाई टीम ने लगातार अपनी तीसरी जीत हासिल की।

    By अंकुर पटवाल

    अंकुर पटवाल ने पत्राकारिता की पढ़ाई की है और मीडिया में डिग्री ली है। अंकुर इससे पहले इंडिया वॉइस के लिए लेखक के तौर पर काम करते थे, और अब इंडियन वॉयर के लिए खेल के संबंध में लिखते है

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *