दा इंडियन वायर » खेल » राहुल द्रविड़ ने केएल राहुल की खराब फॉर्म पर चुप्पी तोड़ते हुए कहा, ‘मैं बहुत चिंतित नहीं हूं’
खेल

राहुल द्रविड़ ने केएल राहुल की खराब फॉर्म पर चुप्पी तोड़ते हुए कहा, ‘मैं बहुत चिंतित नहीं हूं’

केएल राहुल

इंडिया-ए टीम के मुख्य कोच राहुल द्रविड़ ने कहा कि वह केएल राहुल की फार्म को लेकर बिलकुल भी चिंतित नही है, जहां तेजतर्रार बल्लेबाज इस समय एक बेकार फार्म से गुजर रहे है और इंग्लैंड लायंस के खिलाफ पांचवे वनडे मैच में वह शून्य पर आउट हुए। जहां आगंतुको ने एक विकेट से मैच जीता। पांच वनडे मैचो की अनौपचारिक सीरीज को इंडिया-ए की टीम ने 4-1 से अपने नाम किया, जहां द्रविड़ द्ववारा बनाई गई टीम ने आगंतुको को हर विभाग में मात दी।

राहुल को पांचवे अनौपचारिक वनडे मैच में लुईस ग्रेगोरी ने पहली गेंद पर शून्य पर पवेलियन का रास्ता दिखाया, जहां पिच पर गेंद स्विंग होती दिखी और सीधा जाकर राहुल के स्टंप पर जी घुसी, जहां फिर से गुणवत्ता बल्लेबाज पिच में समय बिताने में नाकाम रहे। द्रविड़, ने कर्नाटक में जन्में बल्लेबाज का समर्थन किया और कहा बहुत ही कम ऐसे बल्लेबाज है जिनके पास तीनो प्रारूपो में शतक है ( टी-20, वनडे और टेस्ट) और उन्होने राहुल को एक सिद्ध कलाकार के रूप में सराहा।

द्रविड़ ने संवाददाताओं से बात की जब इंडिया-ए की टीम ने इंग्लैंड लायंस के खिलाफ 4-1 से सीरीज जीती और कहा, ” केएल राहुल को आज पहले गेंद अच्छी मिली जो सीम खा रही थी। इसमें में कोई संदेह नही करती की वह गुणवत्ता वाले और क्षमता वाले खिलाड़ी है। वह अभी चार-दिन के मैच में भी हिस्सा लेंगे जहां वह दिखाएंगे की वह अंतरारष्ट्रीय स्तर पर तीनो प्रारूपो में इतने सफल कैसे है।”

इंडिया-ए के कोच ने आगे कहा, ” उनके पास टी-20, वनडे और टेस्ट तीनो प्रारूपो में शतक है, कई अन्य बल्लेबाज ऐसे है जिनके पास यह रिकॉर्ड नही है। वह एक सिद्ध कलाकार है और मैं उनके फार्म से बिलकुल भी चिंतित नही हूं।”

द्रविड़ से आगे पूछा गया कि क्या अजिंक्य रहाणे, ऋषभ पंत, हनुमा विहारी या राहुल की पसंद का खेल उनके फॉर्म को बेहतर बनाने में लाभांश का भुगतान करता है, जिसके लिए पूर्व भारतीय कप्तान ने सुझाव दिया, भारत ए एक संतुलित टीम है और इसमें ऐसे खिलाड़ी शामिल हैं जिन्हें चयनकर्ता दोनों दीर्घकालिक और अल्पकालिक भूमिका में देखना चाहते है।

द्रविड़ ने विस्तार में बताया, ” इंडिया-ए की टीम में दो चीजो का मिश्रण है। जहां कुछ खिलाड़ी भारतीय राष्ट्रीय टीम से खेल रहे है और कुछ ऐसे खिलाड़ी है जिन्हे चयनकर्ता देखना चाहते है। वे कुछ अल्पकालिक परिप्रेक्ष्य से खिलाड़ियों को देख रहे हैं और अन्य लड़के हैं जो वे मध्यम और दीर्घकालिक परिप्रेक्ष्य में देख रहे हैं।”

About the author

अंकुर पटवाल

अंकुर पटवाल ने पत्राकारिता की पढ़ाई की है और मीडिया में डिग्री ली है। अंकुर इससे पहले इंडिया वॉइस के लिए लेखक के तौर पर काम करते थे, और अब इंडियन वॉयर के लिए खेल के संबंध में लिखते है

Add Comment

Click here to post a comment

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!