Fri. Mar 1st, 2024
    राहुल द्रविड़

    क्या पंजाब के कप्तान आर.अश्विन ने जिस प्रकार जोस बटलर को आउट किया क्या वह सही था? इस पर अब तक कई अलग-अलग राय आई है। लेकिन इसमें पूर्व भारतीय बल्लेबाज राहुल द्रविड़ ने बताया है कि नियमों में मानकाड़ रन आउट की बर्खास्तगी है।

    लेकिन पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ का मानना है अगर वह उस जगह पर होते तो वह इसे कुछ अलग प्रकार से करते। उन्होने टाइम्स ऑफ़ इंडिया के साथ मंगलवार को बातचीत में कहा, ” व्यक्तिगत रूप से मैं बल्लेबाज को पहले चेतावनी देता।”

    अश्विन के बटलर को आउट करने को आप किस प्रकार देखते है?  

    यह खेल के नियमो के भीतर है और यह बहुत स्पष्ट है। इसलिए मुझे किसी के साथ ऐसा करने का निर्णय लेने में कोई समस्या नहीं है। अश्विन ने अपने अधिकारो के साथ रहकर जो भी किया ठीक किया। हालांकि, मैं व्यक्तिगत रूप से बल्लेबाजी को पहले चेतावनी देता। यह मेरी व्यक्तिगत पसंद है और किसी और की कुछ और हो सकती है और मैं उसका सम्मान करता हूं। मैं आवश्यक रूप से इससे सहमत नहीं हो सकता, लेकिन मुझे सिर्फ इस बात से असहमत होना पड़ेगा कि कोई व्यक्ति किसी को चेतावनी दिए बिना उसे चलाए।

    क्या आपको लगता है कि अश्विन ने अपनी कुछ सज्जन छवि खो दी है?

    मुझे लगता है कि कुछ प्रतिक्रियाएं बहुत अधिक थी। अश्विन के चरित्र पर सवाल उठाना क्योंकि उन्होंने ऐसा किया जो पूरी तरह से गलत है। उसे अपने दृष्टिकोण का पूरा अधिकार है। आप इससे सहमत नही होंगे लेकिन उन्होने जो भी किया अपने अधिकारो को देखते हुए किया और यह चीज उन्हे एक बुरा इंसान नही बनाती है। जैसे की मैंने कहा अगर मैं होता तो पहले चेतावनी देता लेकिन उन्होने अपना मत रखते हुए ऐसा किया। तो इससे एक सज्जन और गैर-सज्जन व्यक्ति के बारे में कुछ नही पता चलता। यह उनके चरित्र पर निर्णय नहीं है, लेकिन अधिकार के बारे में उनका पढ़ना है। उन्होने किसी को धोखा नही दिया और ना ही वह एक बुरे इंसान है।

    क्या आप विवादास्पद ‘मानकड’ कानून से सहमत हैं? 

    मुझे इसके अलावा कोई और रास्ता नही दिखता है। कल अगर कोई कानून नही होता है तो आप पांच फिट दूर खड़े इंसान को ऐसे ही आउट कर देंगे। तो आप यह कैसे सोच सकते है कि कोई इसका फायदा ना ले। यह कानून किसी कारण के लिए रखा गया है, इसलिए इसका फायदा उठाना जरूरी है।

    बटलर इससे पहली भी एक बार मानकड के तहत आउट हुए है क्या उन्हे इस बार ज्यादा सावधान रहने की जरुरत थी?

    देखो मैंने मैच नही देखा तो मैं इस पर टिप्पणी नही कर सकता। औऱ ना ही मैं इस चीज में पड़ना चाहता हूं।

    By अंकुर पटवाल

    अंकुर पटवाल ने पत्राकारिता की पढ़ाई की है और मीडिया में डिग्री ली है। अंकुर इससे पहले इंडिया वॉइस के लिए लेखक के तौर पर काम करते थे, और अब इंडियन वॉयर के लिए खेल के संबंध में लिखते है

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *